विक्की कौशल के पिता नहीं चाहते थे कि बेटा फिल्मों में आए, इंजीनियर की पढ़ाई के बाद रखा बॉलीवुड में कदम

Last Updated: सोमवार, 16 मई 2022 (13:03 IST)
हमें फॉलो करें
बॉलीवुड एक्टर 16 मई 2022 को 34 वर्ष के हो गए। विक्की बेहद कम समय में फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहे हैं। फिल्म 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' से उन्हें जबरदस्त लोकप्रियता हासिल हुई। 
विक्की के पिता शाम कौशल बॉलीवुड के जाने-माने स्टंटमैन हैं और उन्होंने भोजपुरी फिल्म 'जहां बहे गंगा की धार' का निर्देशन भी किया। एक समय ऐसा था जब विक्की के पिता को बॉलीवुड में काम पाने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। फिल्म इंडस्ट्री में कड़े संघर्ष को देखते हुए विक्की के पिता चाहते थे कि वह पढ़ लिखकर बेहतर जॉब करें, लेकिन विक्की बचपन से ही अभिनेता बनना चाहते थे। 
हमसे न हो पाएगा 
विक्की ने मुंबई के राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की।  पढ़ाई के दौरान विक्की जब एक आईटी कंपनी विजिट करने गए तो उन्हें समझ आया कि ऑफिस का काम उनसे न हो पाएगा। इसके बाद उन्होंने 'किशोर नमित कपूर एक्टिंग एकेडमी' से एक्टिंग की पढ़ाई की। उन्होंने अनुराग कश्यप को ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ फिल्म के दोनों पार्ट में असिस्ट किया था। 
मसान ने बनाई पहचान 
2015 में विक्की ने फिल्म 'मसान' से डेब्यू किया था। फिल्म में वह लीड रोल में थे। इस फिल्म में विक्की की एक्टिंग को काफी सराहा गया था। इसके बाद विक्की साल 2016 में दो फिल्मों में नजर आए। उनकी पहली फिल्म थी 'जुबान'। दूसरी फिल्म थी ‘रमन राघव 2.0’। 
 
2018 में उन्होंने फिल्म ‘लव पर स्क्वायर फूट’ में काम किया। इसके अलावा 'संजू', 'राजी', 'पिंक, 'मनमर्जियां' और 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' में नजर आए। 2021 में ओटीटी पर रिलीज 'सरदार उधमसिंह' में विक्की ने अपने अभिनय का लोहा मनवा लिया। कहा जा सकता है कि यह उनके करियर की बेहतरीन फिल्म है। 
> रफ और टफ लुक
विक्की अपने रफ और टफ लुक के लिए फीमेल फैंस के बीच काफी फेमस हैं। उन्होंने ने धीरे-धीरे अपनी एक खास पहचान फैंस के बीच बना ली है। वे सुपरहीरो फिल्म 'द इम्मोर्टल अश्वत्थामा' और मेघना गुलजार के निर्देशन में बन रही 'सैम मानेकशॉ' की बायोपिक जैसी फिल्में कर रहे हैं। 



और भी पढ़ें :