14 मई 2021 : आज सूर्य करेंगे राशि परिवर्तन, जानिए आपकी राशि पर क्या होगा असर


सूर्यदेव 14 मई 2021 को
वृषभ राशि में गोचर करेंगे..सूर्य लगभग 1 महीने में एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं और इस प्रकार सूर्य का यह गोचर एक महीने में होता है, जिसे संक्रांति कहा जाता है।
सूर्यदेव का ये गोचर शुक्रवार, 14 मई, 2021 की सुबह 11:15 बजे होगा, इस दौरान सूर्य अपनी उच्च राशि मेष से निकलकर वृषभ राशि में प्रवेश करेंगे यहाँ वे 15 जून, 2021 को 05:49 बजे तक स्थित रहेंगे। सूर्य के वृषभ में गोचर होने की इस घटना को वृषभ संक्रांति के नाम से भी जाना जाता है।

15 जून, 2021 को 05:49 बजे के बद सूर्यदेव मिथुन राशि में गोचर कर जाएंगे।

सूर्य के अनुकूल होने से जीवन में सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है और व्यक्ति राजा के समान यश, मान, सम्मान और प्रसिद्धि प्राप्त करता है। सूर्य के गोचर का सीधे प्रभाव सभी राशियों पर होगा।


एक नज़र…

जानें राशियों पर असर :

1. मेष राशि: सूर्य ग्रह आपकी राशि से दूसरे घर में इसका गोचर करेगा। ऐसे में आपको धन लाभ की संभावना के बीच पारिवारिक जीवन में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। पेशेवर जीवन में वरिष्ठों के साथ आपकी कुछ असहमति रहेगी...विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा है। छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्याओं का सामना कर सकते हैं, अपना ख्याल रखें। उपाय: तांबे के बर्तन में पानी भरकर रखें और उसी जल को पिएं।
2. वृषभ राशि:
सूर्य का गोचर आपकी राशि में ही होगा। इस समय आप अपने जीवन की कठिनतम समस्याओं को भी बहुत आसानी से हल कर पाएंगे, बस स्वयं को अहंकार से दूर रखें। नौकरीपेशा भविष्य को लेकर आशान्वित हो सकते हैं। कारोबारी इस गोचर के दौरान लाभ कमा सकते हैं। वहीं इस समय सूर्य की सप्तम भाव पर दृष्टि आपके खर्च में वृद्धि कर सकती है। ध्यान रहे इस समय आपका कठोर व्यवहार आपके जीवनसाथी के साथ आपके रिश्ते में बाधा पैदा कर सकता है। स्वास्थ्य को लेकर इस समय खास सतर्क रहना होगा। उपाय: हर रोज आदित्य ह्रदय स्तोत्र का पाठ करें।
3. मिथुन राशि: सूर्य का गोचर आपकी राशि के द्वादश भाव में रहेगा। खर्चों पर खास नजर रखनी होगी। विदेशों से जुड़े किसी कनेक्शन से लाभ हो सकता है। इस समय आपकी लव लाइफ बेहतर होगी और आप अपने साथी, दोस्तों और परिवार के लोगों पर पैसा खर्च करेंगे। इस दौरान अपनी सेहत का खास ख्याल रखना होगा। उपाय: हर रोज भगवान विष्णु की पूजा करें।

4. कर्क राशि: सूर्य का गोचर आपकी राशि के एकादश भाव में रहेगा, जो आपके लिए लाभकारी रहेगा। आर्थिक रूप से यह अवधि आपके लिए चमत्कारी सिद्ध होगी। इस समय लाभ की संभावना के बीच आपकी वह इच्छाएं पूरी होंगी जिनके बारे में लंबे समय से सोच रहे थे। सरकारी क्षेत्रों में लाभ के अलावा इस समय अपने वरिष्ठ अधिकारियों से भी समर्थन मिलेगा। साथ ही सही निवेश के साथ इस समय आपकी आय बढ़ाने की दिशा में किए गए प्रयास सफल हो सकते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से ये समय अच्छा है।यह अवधि छात्रों के लिए भी बहुत अनुकूल नहीं है। उपाय: भगवान सूर्य को जल चढ़ाने के साथ ही उनकी पूजा करें।

5. सिंह राशि: सूर्य का गोचर आपकी राशि के दशम भाव पर रहेगा। जो आपकी तरक्की की संभावना बनाएगा। अत्यधिक आत्मविश्वास को देखते हुए आपके प्रतिद्वंदी आपसे दूर ही रहेंगे। इस समय आप समाज में सम्मान अर्जित करने के साथ ही व्यक्तिगत जीवन में भी खुशहाल रहेंगे। सेहत की दृष्टि से भी समय आपके अनुकूल रहेगा। वरिष्ठों से संबंध बेहतर के बीच इस समय आप किसी सरकारी संस्था से अच्छी डील कर लाभ कमा सकते हैं। उपाय: सूर्य देव की पूजा के अलावा मौली हाथ की कलाई में छह बार लपेटते हुए बांधें।

6. कन्या राशि: सूर्य का गोचर आपकी राशि के नवम भाव में रहेगा। इस अवधि के दौरान आपको व्यापार में तो कुछ लाभ हो सकता है, लेकिन कोई बड़ा वित्तीय लाभ मिलने की संभावना कम ही है। वहीं नौकरी से जुड़े लोगों को अपनी स्थिति को लेकर ही संतुष्ट रहना होगा। विदेशों से जुड़ा व्यापार आपको लाभ दिला सकता है। लोगों से संपर्क बढ़ाएंगे। पिता का खास ध्यान रखना होगा। इस दौरान आपको अपने प्रियजनों से समर्थन मिलेगा। उपाय: हर रोज गायत्री मंत्र एक माला जाप करें।
7. तुला राशि : सूर्य का गोचर आपकी राशि के अष्टम भाव में रहेगा। गुप्त शत्रु परेशान कर सकते हैं। शारीरिक समस्याएं भी हो सकती हैं। आर्थिक लाभ में कमी आ सकती है। जबकि साझेदारी या शेयर, विरासत और पैतृक संपत्ति जैसे मामलों में आपको फायदा हो सकता है। इस समय वाणी पर संयम रखना होगा वरना आपसी संबंधों में खटास आ सकती है, ध्यान रखें इस समय किसी के मामले में टांग न अड़ाएं। वैवाहिक मामलों में भी ये समय उचित नहीं कहा जा सकता। उपाय: सूर्यदेव को हर रोज अर्घ्य दें।
8. वृश्चिक राशि: सूर्य का गोचर आपकी राशि से सातवें भाव में रहेगा। इस दौरान व्यवसाय में आपको जबरदस्त लाभ होने की संभावना है। आर्थिक रूप से संतुष्ट महसूस करेंगे और आपके खर्चों में भी स्थिरता आएगी। वैवाहिक जीवन शांति बनी रहेगी। यह समय नए समझौतों के लिए अच्छा है, इस दौरान आपमें से कुछ शादी के प्रस्ताव पर सहमति जता सकते हैं। स्वास्थ्य के मामले में थोड़ी कमजोरी के चलते चिड़चिड़ापन भी महसूस कर सकते हैं। अत्यधिक क्रोध से बचें। उपाय: रोज पानी में चंदन पाउडर डालकर स्नान करें।
9. धनु राशि : सूर्य का गोचर आपकी राशि से षष्ठम भाव में रहेगा। शत्रु आपके सामने आने की तक हिम्मत नहीं करेंगे...थोड़ा बीमार महसूस कर सकते हैं। व्यवसायी जातकों को भी मुनाफा कमाने के लिए अधिक प्रयास करना पड़ सकता है। भाग्य इस समय आपका ज्यादा साथ देता नहीं दिख रहा है, जिसके चलते कोई बड़ा वित्तीय लाभ होता नहीं दिख रहा है। इस समय पेट से संबंधित तकलीफों के बीच दांपत्य जीवन में भी परेशानी आ सकती है। लेकिन प्रतियोगी परीक्षा में हिस्सा लेने वाले छात्रों को इस दौरान सफलता मिलने की पूरी संभावना है। उपाय: सूर्य के होरा समय हर रोज सूर्य मंत्र का जाप करें।
10. मकर राशि : सूर्य का गोचर आपकी राशि से पंचम भाव में रहेगा। शिक्षा में अच्छे परिणाम के लिए अधिक मेहनत करनी होगी। व्यवसाय में इस समय धैर्य व आत्म नियंत्रण आपको धन लाभ करवा सकता है। आर्थिक रूप से अधिक सतर्क रहना होगा। पेट से जुड़ी कुछ समस्याएं इस समय आपको हो सकती हैं।
यह समय विवाहित जीवन के लिए अच्छा रहेगा और सामाजिक स्थिति में भी सुधार आएगा। इस समय आप कुछ नया सीख सकते हैं, जो भविष्य में आपके काफी काम आएगा। उपाय: हर दिन सुबह सुबह अपने पिता के चरणस्पर्श करें।
11. कुंभ राशि: सूर्य का गोचर आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर कर रहा है। नौकरी करने वाले इस राशि के जातक इस समय सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर जीवन में ऊंचाई प्राप्त कर सकते हैं। इस समय आपका भाग्य आपका समर्थन करेगा और आपके काम की प्रशंसा होगी। संपत्ति से संबंधित मुद्दे को लेकर इस समय अंतिम निर्णय न लें। स्वास्थ्य की दृष्टि से ये समय औसत रहेगा। घरेलू मामलों के बारे में चौकस रहने की जरूरत के बीच इस समय आपको घर में संतोष की कमी भी महसूस हो सकती है। उपाय: भगवान सूर्य को लाल चंदन मिश्रित जल चढ़ाएं, और उनकी पूजा करें।
12. मीन राशि:
सूर्य का गोचर आपकी राशि से तृतीय भाव में रहेगा। इस दौरान आप असाधारण परिणाम प्राप्त करने के लिए जोखिम उठाने में भी नहीं चूकेंगे। वहीं आपका परिवार और आपके दोस्त आपके बहुत सहायक होंगे। खुद को ऊर्जावान, ताज़ा महसूस करेंगे साथ ही एकाग्रता और समर्पण का भाव भी बढ़ेगा। चुनौतियों का बहादुरी से सामना करने के लिए तैयार रहेंगे। जीवनसाथी के साथ संबंध औसत रहेंगे, वहीं आप कुछ छोटी दूरी की यात्रा भी कर सकते हैं। स्वास्थ्य को लेकर इस समय आपको अपना खास ध्यान रखना होगा। उपाय: हर दिन सूर्योदय से पहले उठें और अपनी दैनिक दिनचर्या को बनाए रखें।



और भी पढ़ें :