गुरुवार, 9 फ़रवरी 2023
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. ज्योतिष आलेख
  4. Shukra asta 2022
Written By
Last Updated: मंगलवार, 4 जनवरी 2022 (13:41 IST)

धनु राशि में शुक्र अस्त, कोई भी मांगलिक कार्य न करें

Shukra asta 2022 : धनु राशि में गोचर कर रहा शुक्र ग्रह 4 जनवरी 2022 को सुबह 7 बजकर 44 मिनट पर अस्त हो जाएगा। ज्योतिष विद्वानों के अनुसार 14 जनवरी 2022 को सुबह 5 बजकर 29 मिनट पर शुक्र पुन: उदय होगा।

पंचांग भेद के कारण कुछ जगहों पर दिनांक 05 जनवरी 2022 बुधवार को रात्रि 08 बजकर 51 मिनट पर शुक्र ग्रह अस्त होगा और 11 जनवरी 2022 मंगलवार को मध्य रात्रि उपरांत 03 बजकर 05 मिनट पर उदय होगा।
 
गुरु और शुक्र के अस्त होने पर कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं। हालांकि वर्तमान में वैसे भी खरमास चल रहा है तो ऐसे में वैसे भी कोई शुभ कार्य नहीं होते हैं। सूर्य के धनु राशि एवं मीन राशि में स्थित होने की अवधि को ही खरमास अथवा मलमास कहा जाता है। मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी 2022 को मनाया जाएगा।
 
जब कोई ग्रह सूर्य के निकट की कुछ डिग्री के भीतर आता है तो उसे अस्त कहा जाता है। अस्त होने की स्थिति में सूर्य ग्रह उस ग्रह की शक्ति और ताकत को क्षीण कर देता है, जिससे की ग्रह का प्रभाव कमजोर हो जाता है। शुक्र ग्रह जब मार्गी गति में होता है और सूर्य के किसी भी तरफ से 10 डिग्री की धुरी में आ जाता है तो यह अस्त हो जाता है। हालांकि अगर शुक्र ग्रह वक्री है तो अस्त होने होने के लिए इसे सूर्य की 8 डिग्री की धुरी में आना अनिवार्य होता है। शुक्र का अस्त होने सभी राशियों को भी प्रभावित करता है।
 
शुक्र अस्त होने की स्थिति में कोई भी शुभ कार्य करना वर्जित हो जाता है, खासकर विवाह, गृह प्रवेश आदि नहीं होते हैं और शुक्र के पुनः उदय होने पर ही इस प्रकार के कार्य पूर्ण किये जाते हैं।