शनिदेव के क्रोध का भागी बनाती हैं, शनिवार को ये 7 गलतियां

के क्रोध से कौन नहीं बचना चाहता। संसार का प्रत्येक प्राणी शनिदेव की कृपा पाने एवं उन्हें प्रसन्न करने का प्रयास करता है। लेकिन अनजाने में कभी-कभी ऐसी गलतियां भी हो जाती हैं, जो आपको शनिदेव की कृपा के बजाए उनके क्रोध का भागी बना देती हैं और आपको शनि की दृष्टि के परिणाम भुगतने पड़ते हैं।

शनिदेव को प्रसन्न करने एवं उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए उनके गुस्से से बचना आवश्यक है, इसलिए हम आपको बता रहे हैं ऐसी 5 बातें जिनका पालन करके आप उनकी वक्रदृष्टि से बच सकते हैं और उनकी कृपा के पात्र बन सकते हैं। इसके लिए आपको को इन 7 चीजों से बचना चाहिए -

1 - शनिवार के दिन घर में मसूर की दाल न बनाएं और ना ही कहीं बाहर इसका सेवन करें। हो सके तो इस दिन मसूर का दान करना चाहिए। इससे शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

2 मांसाहार - शनिवार के दिन अगर आप मांसाहार का सेवन करते हैं, तो इससे आपको शनि के प्रकोप का सामना करना पड़ सकता है।

3 - शनिवार के दिन किसी भी प्रकार का नशा, शराब, सिगरेट आदि सेवन नहीं करना चाहिए। इससे शनिदेव क्रोधित होते हैं ।

4 - काले तिल का सेवन करना या इन्हें खरीदना इस दिन निशेष माना जाता है। अगर आप ऐसा करते हैं तो शनि के क्रोध के भागी हो सकते हैं।

5 - किसी भी प्रकार का तेल इस दिन नहीं खरीदना चाहिए और ना ही तेल का अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। तैलीय चीजों का सेवन भी इस दिन न करें। तेल का दान इस दिन शुभ होता है।

6 लोहा - लोहा या लोहे से बनी चीजों को इस दिन खरीदना शनिदेव का अपमान करना होता है। शनिवाद के दिल लोहे का दान करने से शनि प्रसन्न होते हैं।

7 काली वस्तुएं - शनिवार के दिन काली वस्तुएं, काले वस्त्र आदि को ग्रहण नहीं करना चाहिए। बल्कि इस दिन इन वसतुओं का दान करना श्रेष्ठ होता है।

 

और भी पढ़ें :