आज अंगारकी संकष्टी चतुर्थी, भगवान श्री गणेश के 10 शुभ मंत्र और 5 सरल उपाय

Ganesha Chaturthi
23 नवंबर, दिन मंगलवार को अंगारकी संकष्टी चतुर्थी (Angarki Sankashti Chaturthi) मनाई जा रही है। इस दिन भगवान श्री गणेश के कुछ शुभ मंत्रों का जाप करने से जीवन में शुभता आती है और जीवन के सभी कार्य निर्विघ्न पूर्ण होते हैं। श्री गणेश प्रथमपूज्य देवता है अत: चतुर्थी के दिन इन मंत्रों का जाप अवश्य ही करना चाहिए। साथ ही आजमाएं 5 सरल उपाय भी-


10 खास मंत्र

1. श्री गणेश का पौराणिक मंत्र- Ganesh Mantra


ॐ गं गणपतये नम:

2. मोक्ष प्राप्ति का मंत्र- Moksha Praprti Mantra

परमं धामं, परमं ब्रह्म, परेशं परमेश्वरं
विघ्ननिघ्नं करं शांतं पुष्टं कांतमनंतकम
सुरा सुरेंद्रे सिद्धेन्द्रे स्तुतं स्तो‍मि परात्परम
सुर पद्म दिनेशं च गणेशं मंगलाय नम:
इदं स्तोत्रं महापुण्यं विघ्नशोक हरं परम
यह पठेद् प्रातरुत्थाय सर्व विघ्नात् प्रमुच्यते।

3. गणेश गायत्री मंत्र- Ganesh Gayatri Mantra

एकदंताय विद्महे, वक्रतुंडाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात्।।

4. लक्ष्मी प्राप्ति का मंत्र Money Montra

ॐ नमो विघ्नराजाय, सर्वसौख्य प्रदायिने
दुष्यारिष्ट विनाशाय पराय परमात्मने
लंबोदरं महावीर्यं, नागयज्ञोपज्ञोभितम
अर्धचंद्र धरम देहं विघ्नव्यूह विनाशनम्
ॐ ह्रां, ह्रीं ह्रुं, ह्रें ह्रौं हेरंबाय नमो नम:
सर्व सिद्धिं प्रदोसि त्वं सिद्धि बुद्धि प्रदो भवं
चिंतितार्थं प्रदस्तवं हीं, सततं मोदक प्रियं
सिंदूरारुण वस्त्रैश्च पूजितो वरदायक:
इदं गणपति स्तोत्रं य पठेद् भक्तिमाननर:
तस्य देहं च गेहं च स्वयं लक्ष्मीं निर्मुंजति।

5. कठिन से कठिन समस्या दूर करने वाला मंत्र- Lord Ganesha Mantra

ॐ वक्रतुंडाय हुम्‌

6. विघ्ननाशक मंत्र- Ganesh Sankat Nashan Mantra

गणपतिर्विघ्नराजो लम्बतुण्डो गजाननः।
द्वैमातुरश्च हेरम्ब एकदन्तो गणाधिपः॥
विनायकश्चारुकर्णः पशुपालो भवात्मजः।
द्वादशैतानि नामानि प्रातरुत्थाय यः पठेत्‌॥
विश्वं तस्य भवेद्वश्यं न च विघ्नं भवेत्‌ क्वचित्‌।

7. धन-धान्य, सिद्धि प्राप्ति का मंत्र- Wealth n Sidhhi Prapti Mantra

मंगलम श्री गणेशाय माया पुत्राय मंगलम
वल्लभाश्लिष्ट गात्राय वक्रतुंडाय मंगलम्
रमा रमेश रुपाय, गिरिजा गिरिजात्मने
रति कंदर्प रुपाय भुवराहाय मंगलम्
सृष्टि स्थिति विहाराय विघ्नराजाय मंगलम्
सिद्धि बुद्धि समेताय सुमुखायस्तु मंगलम्
स्थूल सूक्ष्म स्वरूपाय शूर्प कर्णाय मंगलम्
शूंडा मंडित तुंडाय सुंदरायास्तु मंगलम्
गिरिजा प्रिय पुत्राय गजवक्त्राय मंगलम्
वरदाभय हस्ताय प्राणनाथाय मंगलम्
कल्याण गुण पूर्णाय धर्म कामार्थ दायिने
करूणामृत निष्यंद कटाक्षायास्तु मंगलम्
सिंदूरारूण देहाय ज्येष्ठराजाय मंगलम्
विघ्नराति भयघ्नाय विश्वनाथाय मंगलम्
सप्त कोटि महामंत्र विघ्नहायास्तु मंगलम्
विघ्नेशस्य पठेन्नित्यं मंगलाष्टकम् मुत्तमम्
विघ्न सिद्धि धनं धान्यं श्रेय श्रियं वाप्नुयात्।।

8. संकट निवारण मंत्र- Sankat Nivaran Mantra

ॐ नमो हेरम्ब मद मोहित मम् संकटान निवारय-निवारय स्वाहा।'

9. संतान प्राप्ति मंत्र- santan prapti mantra

ॐ नमोस्तु गणनाथाय, सिद्धिबुद्धि युताय च
सर्व प्रदाय देहाय पुत्र वृद्धि प्रदाय च
गुरुदराय गरबे गो पुत्रे गुह्यासिताय ते

गोप्याय गोपिता शेष, भुवनाय चिदात्मने
विश्व मूलाय भव्याय, विश्व सृष्टि कराय ते
नमो नमस्ते सत्याय, सत्यपूर्णाय शुंडिने
एकदं‍ताय शुद्धाय सुमुखाय नमो नम:
प्रपन्न जन पालाय, प्रणतार्ति विनाशिने
शरणंभव देवेश संतति सुदृढ़ां कुरु
भविष्यंति च ये पुत्रा मत्कुले गणनायक:
ते सर्वे तव पूजार्थं नि‍रता: स्युर्वरोमत:
पुत्र प्रदं इदंस्तोत्रं सर्वसिद्धिप्रदायकम।

10. आकर्षण शक्ति, सफलता और प्रतिष्ठा प्राप्ति मंत्र- Success Mantra

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।'

Ganesha jee
Ganesha jee
करें ये उपाय- Powerful Remedies

1. खुद का घर अथवा भवन की तमन्ना है तो श्री गणेश पंचरत्न स्तोत्र एवं भुवनेश्वरी चालीसा या भुवनेश्वरी स्तोत्र का पाठ करने से लाभ होगा।

2. आज के दिन ॐ ग्लौम गणपतयै नमः की 11 माला और गणेश स्तोत्र का पाठ करके श्री गणेश जी को मोदक का भोग लगाएं। शीघ्र विवाह के योग बनेंगे।

3. अपार धन-समृद्धि की चाह रखने वालों को धनदाता गणेश स्तोत्र का पाठ तथा कुबेर यंत्र के पाठ के साथ 'ॐ श्रीं ॐ ह्रीं श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः' मंत्र की 11 माला का जाप करने से निश्चित ही लाभ होगा।

4. संकटनाशन गणेश स्तोत्र और ऋणमोचन मंगल स्तोत्र के 11 पाठ करने से भूमि प्राप्ति के प्रबल योग बनेंगे।

5. उपरोक्त लक्ष्मी प्राप्ति का मंत्र के साथ ही श्री गणेश चालीसा, कनकधारा स्तोत्र तथा लक्ष्मी सूक्त का पाठ करने से संपत्ति प्राप्ति के प्रबल योग बनेंगे।


Ganesha Chaturthi
Sankashti Chaturthi




और भी पढ़ें :