गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. ज्योतिष 2023
  4. mental health and astrology connection

mental health care in 2023: नए साल में अपनी मानसिक सेहत का कैसे रखें ध्यान

नए साल में mental health कैसी रहेगी, बता रही हैं astrology consultant  शचि कचोले 
नए साल में ऐसे बचें stress, tension और depression से, mental health पर करें फोकस
ज्योतिष शास्त्र में stress, tension और depression  को लेकर बहुत सारे कारण बतलाए गए हैं और यह सब कारण आपकी जन्मपत्रिका या कुंडली या हस्तरेखा देख कर भी पता लगा सकते हैं कि इतना मानसिक तनाव या अवसाद क्यों हो रहा है हमारे जीवन में? 
 
आइए जानते हैं की ज्योतिष शास्त्र में वो कौन से कारक ग्रह हैं जिनके कारण हमें इतना मानसिक तनाव रहता है।
 
सबसे पहले आते है चंद्रमा क्योंकि चंद्रमा हमारे मन के कारक होते हैं और साथ ही साथ ये सौम्य और नाजुक ग्रह भी हैं। सभी ग्रहों में से यह हमारी पृथ्वी के सबसे नजदीक भी हैं। दूसरे स्थान पर आते बुध ग्रह,बुध ग्रह बुद्धि का कारक ग्रह है। नवग्रहों में इसे युवराज की संज्ञा दी गई है। सबसे सुकुमार ग्रह हैं ये। अब जब बुद्धि मन को काबू कर लेती है तो जो स्थिति बनती है वो मानसिक तनाव का कारण कहलाती है। 
 
ज्योतिष शास्त्र में कुछ ग्रह स्थितियां ऐसी होती हैं जो स्ट्रेस,टेंशन और डिप्रेशन का शिकार बनाती है जैसे 
1-कुंडली में जब लग्नेश अशुभ भावों में स्थित हो या नीच राशि में हो।                    
2-कुंडली में जब चंद्र अशुभ भाव में स्थित हो या नीच राशि में हो।                           
3- कुंडली में लग्न, लग्नेश या चंद्र पर राहुकाल शनि का प्रभाव हो।                       
4- कुंडली में चंद्र शनि की युति हो या ये दोनों पाप ग्रह में बैठे हों।                             
5- कुंडली में चंद्र सूर्य के करीबी भाव में बैठे हो।            
6- राहु या शनि की दशा चल रही हो,चंद्र राह केतु के साथ अशुभ भाव में बैठे हो।
 
ये सभी ग्रह स्थितियां व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य को सीधे तौर पर प्रभावित करती हैं। ऐसे लोग जरा सी भी परेशानी नहीं झेल पाते और डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं। 
 
नए साल में आपके लिए सुझाव 
आप नियमित रूप से व्यायाम करें। 
टहलने जाएं, 
अपनी पसंद का कार्य करें,
संगीत सुनें या गाएं-बजाएं ( इस गति‍विधि से ग्रह अनुकूल होते हैं।) 
डांस करें,
मित्रों के साथ घूमने जाएं,
अपने जो भी शौक हैं पूरे करें,
अपने प्रियजन से अपनी मन की बात शेयर करें,
उन्हे अपनी इस स्थिति से अवगत कराएं, 
सुबह जल्दी उठें,
खूब अच्छे से स्नान करें,
अपनी दिनचर्या को बदलें,
धर्म से जुड़कर रहें,
ईश्वर की भक्ति करें। 
आप साहस और आत्मविश्वास के लिए मूंगा धारण कर सकते हैं।  
मानसिक तनाव से बचने के लिए सफेद मोती धारण कर सकते हैं। 
 
ये सभी उपाय नियमित रूप से करें और अगर इनसे फायदा नहीं प्राप्त होता है तो किसी विद्वान और जानकार ज्योतिषी के साथ चिकित्सक से भी सलाह या परामर्श लें।
Jyotish 2023 : नया साल कैसा होगा मेष से लेकर मीन तक 12 राशियों के लिए
Numerology 2023 : कैसा होगा नया साल, मूलांक 1 से लेकर 9 तक जानिए अपने हाल
ये भी पढ़ें
Vivah muhurat 2023 : 2023 में शादी के शुभ मुहूर्त कब कब हैं, जानिए सभी माह की तारीखें