ईशा फाउंडेशन को इंदिरा गाँधी पर्यावरण पुरस्कार

नई दिल्ली| भाषा|
PTI
के क्षेत्र में योगदान के लिए दिए जाने वाले से तमिलनाड़ु के को सम्मानित किया गया है, जिसके नाम एक ही दिन में आठ लाख से अधिक पौधारोपण करने का गिनीज विश्व रिकॉर्ड है।

जाने माने आध्यात्मिक नेता सद्गुरु जे. वासुदेव के नेतृत्व वाले ईशा फाउंडेशन को वर्ष 2008 का इंदिरा गाँधी पर्यावरण पुरस्कार दिया गया। इस संगठन ने 17 अक्तूबर 2006 को तमिलनाड़ु के 27 जिलों में एक साथ 8.52 लाख पौधे रोपकर गिनीज विश्व रिकॉर्ड बनाया था।

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर आज यहाँ हुए राष्ट्रीय प्राकृतिक इतिहास संग्रहालय के आयोजन में पूर्व राष्ट्रपति ए. पी. जे. अब्दुल कलाम मुख्य अतिथि थे और उन्होंने पाँच लाख रुपए का यह पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र वासुदेव को दिया।
कलाम ने वर्ष 2010 के युवा पर्यावरणविद् पुरस्कार से इशिता विश्नोई और वर्ष 2008 के जानकी अम्माल राष्ट्रीय पुरस्कार से डॉ. वी. जयचंद्रन नायर तथा डॉ. रामकृष्णन को सम्मानित किया।

इस मौके पर पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि भारत उन 17 चुनिंदा देशों में शामिल है जहाँ अत्यधिक जैव विविधता है। लिहाजा, हमारे समक्ष जैव विविधता को विस्तार देने और पर्यावरण संरक्षण करने का एक महत्वपूर्ण मिशन है। इसे देखते हुए हमें पर्यावरण हितैषी विकास करने की जरूरत है।
गौरतलब है कि वर्ष 1987 से इंदिरा गाँधी पर्यावरण पुरस्कार देने की शुरुआत हुई। पुरस्कार के लिए किसी एक संगठन या शख्सियत का चयन उप राष्ट्रपति की अध्यक्षता वाली समिति करती है। (भाषा)



और भी पढ़ें :