सिने-मेल (1 अगस्त 2007)

समय ताम्रकर|
मैं अंतिम सुपर स्टार हूँ पढ़ने के बाद ऐसा लगा मानो शाहरुख खान सपना देख रहे हो। मेरी उनको सलाह है कि मियाँ ख्वाब से बाहर आओ, तुम तो एक से दस तक भी नहीं हों।
- नवनीत मेहता ([email protected] )

सलमान बेहद अच्छे इंसान है। उनका नाम जितनी भी लड़कियों से जोड़ा गया है, उन रिश्तों में सलमान की कोई गलती नहीं है। सलमान और कैटरीना की जोड़ी बेहद अच्छी लगती है। मेरी शुभकामनाएँ उनके साथ हैं।
- पंकज पटेल ([email protected])

मैं सुपर स्टार हूँ जैसी बातें कहना शाहरुख को शोभा नहीं देती। उन्हें अपना मुँह बंद रखना चाहिए। वह अमिताभ बच्चन के सामने कुछ भी नहीं है। मेरे हिसाब से कुछ नए हीरो आ रहे हैं, जो शाहरुख का स्थान लेने में सक्षम हैं। - जतिन ओबेरॉय ([email protected])

सलमान और उनकी प्रेमिकाएपढ़ने के बाद मुझे लगता है कि सलमान को अब शादी कर लेना चाहिए। इसी में उनकी भलाई है। यह आलेख हमें बेहद पसंद आया।
- रामकरण यादव ([email protected])
- गोपाल साहू ([email protected])- बनवारी एल. चौधरी ([email protected]echoupal.com)

ऐश्वर्या के लिए नायकों की कमी बहुत अच्छा आलेख हैं। इस तरह के आलेख ज्यादा से ज्यादा देने की कोशिश करें।
- नितिन शर्मा ([email protected])

प्यासा के पचास वर्ष बहुत बढि़या लिखा गया है। इसे पढ़कर मैं बहुत ही भावुक हो गया हूँ। - रामविकास मिश्रा ([email protected])

चक दे इंडिया की कहानी मुझे और मेरी दोस्त को बेहद पसंद आईं। हम शाहरुख को बेहद चाहते हैं और ये फिल्म जरूर देखेंगे।
- अनिरूद्ध ([email protected])

 

सम्बंधित जानकारी


और भी पढ़ें :