1. चुनाव 2022
  2. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022
  3. न्यूज: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022
  4. Progressive Samajwadi Party candidates can contest 2022 assembly elections on the symbol of cycle
Last Updated: गुरुवार, 16 दिसंबर 2021 (23:01 IST)

2022 विधानसभा का चुनाव साइकल के सिंबल पर लड़ सकते हैं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लंबे समय से चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश यादव के बीच राजनीतिक द्वंद अब समाप्त होता नजर आ रहा है और जहां खुले दिल के साथ अखिलेश यादव ने चाचा की शर्तें मान ली हैं तो वहीं भतीजे के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को चाचा भी तैयार हो गए।

एक वरिष्ठ नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पार्टी कार्यालय की चर्चाओं को मानें तो चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश के बीच चली 45 मिनट की बैठक में लंबे समय से चले आ रहे गिले-शिकवे भी दूर हो गए। पहला मौका था जब चाचा व भतीजे एक साथ 45 मिनट साथ रहे।45 मिनट की मुलाकात में सीटों पर भी फैसला हो गया है।

बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को चुनाव में चाचा शिवपाल के द्वारा मांगी गई सीटें देने के लिए भी तैयार हो गए हैं और अखिलेश यादव ने यह भी संकेत दिया है कि शिवपाल सिंह यादव के लोगों को और एडजस्ट किया जाएगा और शिवपाल सिंह यादव के खेमे के लोग सपा के सिंबल पर भी लड़ सकते हैं।

गौरतलब है कि 2017 विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद यादव परिवार में दूरियां आ गई थीं, जिसके बाद शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी छोड़ दी थी और चाचा-भतीजे के बीच लंबे समय से राजनीतिक जंग चल रही थी, जिसके चलते यादव परिवार भी दो खेमे में बंट गया था।
ये भी पढ़ें
UP election 2022 : अजय मिश्रा टेनी बन सकते हैं बीजेपी के लिए सिरदर्द, उठाना पड़ सकता है भारी नुकसान...