11 साल बाद शुक्रवार को विंबलडन में भिड़ेंगे फेडरर और नडाल

पुनः संशोधित गुरुवार, 11 जुलाई 2019 (17:16 IST)
लंदन। टेनिस इतिहास के 2 सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी स्विट्जरलैंड के और स्पेन के 11 साल के लंबे अंतराल के बाद में शुक्रवार को आमने-सामने होंगे।
20 बार के चैंपियन और विंबलडन में 8 बार विजेता रह चुके फेडरर तथा 18 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन और विंबलडन में 2 बार विजेता रह चुके नडाल के बीच विंबलडन का सेमीफाइनल खेला जाएगा। इन दोनों दिग्गज खिलाड़ियों के बीच करियर की यह 40वीं भिड़ंत होगी।

दोनों 2008 में विंबलडन फाइनल खेलने के 11 साल बाद इस ग्रास कोर्ट चैंपियनशिप में भिड़ेंगे। दोनों के बीच विंबलडन में इससे पहले 2006 से 2008 तक 3 बार मुकाबला हुआ है और फेडरर ने 3 फाइनलों में से 2 जीते हैं। फेडरर ने जापान के केई निशिकोरी और नडाल ने अमेरिका के सैम क्वेरी को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई।
टूर्नामेंट का दूसरा सेमीफाइनल विश्व के नंबर 1 खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच और स्पेन के रॉबर्टो बतिस्ता अगुत के बीच खेला जाएगा। जोकोविच ने बेल्जियम के डेविड गोफिन और अगुत ने अर्जेंटीना के गुइडो पेला को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई।

फेडरर और नडाल के बीच फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में मुकाबला हुआ था जिसे नडाल ने जीता था और उसके बाद उन्होंने फाइनल जीतकर 12वीं बार फ्रेंच ओपन खिताब पर कब्जा किया था। दोनों के बीच करियर आंकड़ों में नडाल 24-15 से आगे हैं।
फेडरर से मुकाबले के लिए नडाल ने कहा कि रोजर के खिलाफ खेलना हमेशा एक अद्भुत अहसास होता है। 11 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद विंबलडन के ग्रास कोर्ट पर फेडरर से मुलाकात का मैं बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं और इस मैच को लेकर मैं खासा रोमांचित हूं। मैं जानता हूं कि मैं ग्रास कोर्ट पर इतिहास के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के खिलाफ खेलने जा रहा हूं और उनके खिलाफ जीतने के लिए मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।
स्विस मास्टर ने बुधवार को निशिकोरी को हराकर विंबलडन में अपनी 100वीं जीत दर्ज की थी। 37 वर्षीय फेडरर किसी ग्रैंडस्लैम खिताब में ऐसा कारनामा करने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी हैं। पूर्व नंबर 1 अमेरिका के जिमी कोनर्स दूसरे नंबर पर हैं जिन्होंने यूएस ओपन में 98 मैच जीते। फेडरर इस तरह 13वीं बार विंबलडन के सेमीफाइनल में पहुंचे हैं।

फेडरर ने विंबलडन में 100 मैच जीतने के अलावा ऑस्ट्रेलियन ओपन में 97 मैच जीते हैं जबकि नडाल ने रोलां गैरों की लाल बजरी पर 93 मैच जीते हैं।
नडाल ने विंबलडन में 2008 और 2010 में खिताब जीते हैं जबकि फेडरर विंबलडन के ग्रास कोर्ट पर 2003, 2004, 2005, 2006, 2007, 2009, 2012 और 2017 में खिताब जीते हैं। अन्य सेमीफाइनलिस्ट विंलबडन में 4 बार विजेता रह चुके हैं। उन्होंने यहां 2011, 2014, 2015 और 2018 में खिताब जीते हैं।

स्पेन के बतिस्ता अगुत का यह पहला ग्रैंडस्लैम सेमीफाइनल है। इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन ऑस्ट्रेलिया ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचना रहा था। दिलचस्प है कि सेमीफाइनल में पहुंचे चारों खिलाड़ी 30 साल से अधिक उम्र के हैं। बतिस्ता 31, जोकोविच 32, नडाल 33 और फेडरर 37 वर्ष के हैं। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :