खली का खौफनाक झूठ....

घायल दलीप सिंह राणा उर्फ खली अब ठीक हो चुके हैं और अपना बदला लेने को आतुर हैं। खली ने नकली रेसलिंग (WWF) की दुनिया में काफी नाम और पैसा कमाया है। अपने भीमकाय डील-डौल के कारण खली रेसलिंग की दुनिया में 'महाबली खली' के नाम मशहूर हैं। हल्द्वानी में WWFका मुकाबला हुआ, जिसमें खली समेत तीन विदेशी पहलवानों ने शिरकत की और इसमें खली घायल होकर आईसीयू में पहुंच गए लेकिन इसमें एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस खुलासे में खली का खौफनाक झूठ पूरी दुनिया के सामने आया है। 
कहा जा रहा है कि यह पूरा नाटक सुनियोजित था और अस्पताल पहुंचकर इलाज करवाना भी एक तरह से स्टंट था। यह लोकप्रियता हासिल करने का एक हथकंडा था, जिसमें खली सफल हो गए। अस्पताल के आईसीयू में पहुंचकर आधे घंटे में अपना उपचार करवाने वाले खली की तस्वीरें इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से गुजरकर सोशल मीडिया तक पहुंच गईं और सभी की संवेदनाएं खली के साथ हो गईं। यह संवेदना ज्यादा उम्र की नहीं रही, क्योंकि एक सनसनीखेज खुलासा हो गया...
 

खली हैं असली महाबली, अंडरटैकर को धूल चटाई ! (वीडियो)

अस्पताल से छुट्‍टी मिलते ही खली ने ऐलान कर डाला कि मैं 28 फरवरी को विदेशी रेसलर से होने वाली फाइट के लिए फिट हूं। क्या यह मुमकिन है कि जो इंसान अपने सिर पर लोहे की कुर्सी लगने से घायल होकर आईसीयू में पहुंचा हो वो अगले दिन सिर पर पट्‍टा बांधकर मीडिया के सामने आकर यह कहे कि मैं पूरी तरह फिट हूं और मुकाबले के लिए तैयार हूं। यह सब एक पब्लिसिटी स्टंट था, जिसमें खली का झूठ सबके सामने आ गया है। 
 
इसमें कोई शक नहीं कि WWF को पसंद करने वालों का एक विशेष वर्ग है। भारतीय होने के नाते खली इस वर्ग में खासे लोकप्रिय हैं। खली के प्रशंसकों को पूरा भरोसा है कि 28 फरवरी को होने वाले मुकाबले में खली विदेशी पहलवान को धूल चटा देंगे।  खबरों के मुताबिक खली 28 फरवरी को होने वाली फाइट में ब्रूडी स्टील से ही लड़ेंगे। हालांकि डॉक्टर्स ने उन्हें फाइट न लड़ने की सलाह दी है लेकिन खली ने हर हाल में फाइट लड़ने का फैसला किया है। 
 
तो क्या झूठे थे खली के जख्म :   गौलापार अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में रेसलिंग के दौरान खली की फाइट तीन-तीन विदेशी रेसलरों से हुई थी।  द ग्रेट खली रिटर्न्स' में फाइट के दौरान विदेशी पहलवान उन पर टूट पड़े थे। खली पर विदेशी पहलवान कुर्सियों लेकर उन पर टूट पड़े थे। ब्रूडी स्टील और दो दूसरे रेसलर्स ने उन्हें स्टील चेयर से घायल कर दिया था। लहूलुहान खली को हेलीकॉप्टर से एयरलिफ्ट कर देहरादून के एक बड़े निजी अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां से उन्हें शुक्रवार को छुट्‍टी दे दी गई। डॉक्टरों के मुताबिक खली की सिटी स्कैन और एमआरआई रिपोर्ट नॉर्मल आई है। 
> डॉक्टरों ने बताया कि खली के सिर में खुला घाव होने से खून बहा था और उसमें टांके लगाए गए थे। खली के सीने का एक्स-रे भी किया गया था। उनके सिर का एमआरआई स्कैन भी किया गया था। हॉलीवुड और बॉलीवुड की फिल्मों में भी काम कर चुके खली भारत में द ग्रेट खली रेसलिंग सीरीज का आयोजन किया है जिसमें कई विदेशी पुरुष और महिला रेसलर हिस्सा ले रहे हैं।
 
डॉक्टरों ने खली की हालत गंभीर बताई थी। उनके कंधे में फ्रैक्चर था। खली के माथे पर सात टांके लगे थे। सिर, गर्दन, छाती और रीढ़ की हड्डी में भी चोट बताई थी। गुरुवार सुबह देहरादून लाए जाने के बाद वे खुद चलकर एम्बुलेंस में बैठे और 6 घंटे में ठीक भी हो गए। उनका एकदम फिट होकर 28 को वापस रिंग में उतरकर फाइट का चैलेंज देना उनके प्रशंसकों के गले नहीं उतर रहा है। खैर, सचाई जो भी लेकिन अब इंतजार है 28 फरवरी की फाइट का।>
लूंगा हार का बदला  : 44 वर्षीय खली ने छुट्टी मिलने के बाद ही कहा कि मेरे अंदर एक आग सुलग रही है और मुझे दिल से इस बात का मलाल है कि मैं हल्द्वानी में अपने प्रशंसकों के सामने हार गया, लेकिन मैं आप सभी से कह रहा हूं कि 28 फरवरी को देहरादून आएं और देखें कि मैं हार का बदला कैसे लेता हूं। वे 28 फरवरी को अपने जोखिम पर रिंग में उतरेंगे।

उन्होंने कहा कि मुझे डॉक्टरों ने खेलने से मना किया है, लेकिन मैं अपना बदला चुकाए बिना चैन से नहीं बैठूंगा। मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं खून का बदला खून से लूंगा। उन्होंने मुझे कुर्सी से मारा और मैं भी उन्हें कुर्सी से ही मारूंगा। मैं बदला लिए बिना चैन से नहीं बैठूंगा।




और भी पढ़ें :