3 उभरते क्रिकेटरों से रणजी टीम में सिलेक्शन के नाम पर धोखा, लगाया लाखों का चूना

पुनः संशोधित शुक्रवार, 26 जुलाई 2019 (07:53 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने उभरते हुए क्रिकेटरों का चयन रणजी ट्रॉफी और अन्य टूर्नामेंट में कराने के नाम पर उनसे ठगी करने के आरोप में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।
पुलिस ने बताया कि बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई के क्षेत्रीय इन्टीग्रिटी प्रबंधक ने बताया था कि कनिष्क गौड़, किशन अत्रि और शिवम शर्मा से शिकायत मिली है। इसके बाद पुलिस ने मार्च में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था। पुलिस ने बताया कि गौड़ और अत्रि दिल्ली के रोहिणी के रहने वाले हैं जबकि शर्मा गुड़गांव में रहते हैं।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रवि दलाल नाम के एक क्रिकेट कोच ने गौड़ से कथित रूप से 11 लाख रुपए ठग लिए।
अधिकारी ने बताया कि दलाल ने गौड़ को नगालैंड की ओर से रणजी ट्रॉफी में अतिथि खिलाड़ी के तौर पर खिलाने की पेशकश की, लेकिन उन्हें दूसरे राज्य की ओर से अंडर 19 श्रेणी में स्थानीय खिलाड़ी के तौर पर सिर्फ दो मैच खेलने दिए गए। वो भी उनके जन्म प्रमाण पत्र तथा अन्य दस्तावेजों में जालसाज़ी करके।

अधिकारी ने बताया कि शर्मा को अंडर 23 श्रेणी में खेलने का मौका दिलाने के नाम पर चार लाख रुपए ठगे गए। पुलिस ने बताया कि जांच में पता चला कि फ्रेंड्स अकादमी के कोच दलाल ने गौड़ से पैसे लेकर जमाल को दिए जो दिल्ली के एक स्कूल में पार्ट टाइम कोच है।

 

और भी पढ़ें :