नरेन्द्र मोदी : गुजरात की विकास योजनाएं

WD| Last Updated: शनिवार, 26 मई 2018 (16:02 IST)
गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के विकास के लिए बहुत सारी योजनाएं क्रियान्वित की हैं, जिनसे राज्य के लोगों को लाभ मिला है। आइए देखते हैं नरेन्द्र मोदी की राज्य के विकास की प्रमुख योजनाएं...
सुजलाम सुफलाम : यह जल और उसके स्रोतों से संबंधित योजना है और इसके तहत राज्य में जलस्रोतों को समुचित और समेकित विकास की ओर आगे बढ़ाया जाए ताकि जल की बरबादी को रोका जा सके।

कृषि महोत्सव : राज्य में उपजाऊ भूमि के लिए शोध प्रयोगशालाओं की योजना को इस नाम से जाना जाता है।

चिरंजीवी योजना : राज्य में नवजात शिशुओं की मृत्यु दर में कमी लाने के लिए यह योजना चलाई जाती है।
मातृ-वंदना : राज्य में जच्चा-बच्चा के कल्याण के लिए बनाई गई योजना को यह नाम दिया गया है।

बेटी बचाओ : उपरोक्त दो योजनाओं की तरह सामाजिक कल्याण की यह तीसरी योजना भी भ्रूण हत्या को समाप्त करने और लिंगानुपात पर अंकुश लगाने के लिए क्रियान्वित की जाती है।

ज्‍योति ग्राम : राज्य के प्रत्येक गांव में बिजली पहुंचाने की योजना को ज्य‍ोति ग्राम के नाम से जाना जाता है।

कर्मयोगी अभियान : सरकारी कर्मचारियों में कर्तव्य पालन का भाव जगाने के लिए यह योजना चलाई जाती है।

कन्या कलावाणी योजना : समूचे राज्य में महिलाओं में साक्षरता की दर बढ़ाने और शिक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए यह योजना क्रियान्वित की जाती है।

बालभोग योजना : निर्धन बच्चों को स्कूल में दोपहर का भोजन देने की योजना को यह नाम दिया गया है।
वन बंधु विकास कार्यक्रम : इन कार्यक्रमों के अलावा राज्य में आदिवासी व वनवासी क्षेत्रों में यह योजना चलाई जाती है ताकि समाज के इस वर्ग का भी विकास हो सके।

 

और भी पढ़ें :