Patra Chawl घोटाला क्या है? संजय राउत की करोड़ों की संपत्ति हो चुकी है जब्त, ऐसे हुआ स्कैम का खुलासा

Last Updated: रविवार, 31 जुलाई 2022 (18:48 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। (ED) ने रविवार को पात्रा चॉल मामले में शिवसेना नेता संजय राउत को हिरासत में ले लिया। ईडी ने सुबह 7 बजे से राउत के घर पर पूछताछ कर रही थी। घर पर पूछताछ के बाद उन्हें ईडी के दफ्तार ले जाया जा रहा है। माना जा रहा है कि इस मामले में संजय राउत की गिरफ्तारी भी हो सकती है। राउत ने आरोप लगाया है कि उन्हें राजनीतिक प्रतिशोध लेने के लिए निशाना बनाया जा रहा है। इस केस में संजय राउत की 9 करोड़ रुपए और उनकी पत्नी वर्षा की 2 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त हो चुकी है। जानिए क्या है 1034 करोड़ का पात्रा चॉल जमीन घोटाला और संजय राउत का इससे क्या है कनेक्शन-

ऐसे सामने आया घोटाला : 2020 में कोरोना काल के दौरान में PMC बैंक घोटाला सामने आया था। जब इस घोटाले की जांच हो रही थी, तभी प्रवीण राउत की कंस्ट्रक्शन कंपनी का नाम सामने आया था। जांच के दौरान पता चला कि बिल्डर प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी के बैंक खाते से संजय राउत की पत्नी वर्षा के खाते में 55 लाख रुपए भेजे गए थे।। ED की टीम इसी बात की जांच कर रही है कि ये लेन-देन क्यों किया गया। आरोप है कि संजय राउत ने इन्ही पैसों से से दादर में एक फ्लैट खरीदा था।

क्या है घोटाला : पात्रा चॉल मुंबई के गोरेगांव में बनी है। यह महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवेलपमेंट अथॉरिटी (MHADA) की जमीन है। इसमें 1034 करोड़ का घोटाला होने का आरोप है। जिस जमीन पर ये फ्लैट रिडेवलप होने थे, उसका एरिया 47 एकड़ था। गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने MHADA को धोखे में रख बिना फ्लैट बनाए ही ये जमीन 9 बिल्डरों को बेच दी। इससे उसे 902 करोड़ रुपए मिले।
गलत तरीके से कमाए इन पैसों का एक हिस्सा अपने करीबी सहयोगियों को ट्रांसफर कर दिया। आरोप है कि रियल एस्टेट कारोबारी प्रवीण राउत ने पात्रा चॉल में रह रहे लोगों से धोखा किया। एक कंस्ट्रक्शन कंपनी को इस भूखंड पर 3000 फ्लैट बनाने का काम मिला था। इनमें से 672 फ्लैट पहले से यहां रहने वालों को देने थे। बाकी MHADA और उक्त कंपनी को दिए जाने थे। लेकिन 2011 में इस जमीन के कुछ हिस्सों को दूसरे बिल्डरों को बेच दिया गया।
बेटी का भी नाम : म्हाडा लैंड डील में प्रवीण राउत को कमीशन के रूप में 95 करोड़ रुपए मिले। जिस सुजीत पाटकर का नाम सामने आया और ईडी ने छापा मारा उसका लिंक भी संजय राउत से जुड रहा है। सुजीत, संजय राउत का करीबी माना जाता है। इसके अलावा सुजीत पाटकर की एक वाइन ट्रेडिंग कंपनी है, जिसमें संजय राउत की बेटी उसकी साझेदार है।



और भी पढ़ें :