बर्फबारी और बारिश से ठंड की दस्तक, पहाड़ों ने ओढ़ी 'सफेद' चादर

Snow fall
Author हिमा अग्रवाल| Last Updated: सोमवार, 18 अक्टूबर 2021 (21:52 IST)
मौसम के करवट लेने से मैदानी क्षेत्रों में ठंडक ने दस्तक दी है, तो वही पहाड़ों और हिमालयी क्षेत्रों में मौसम की पहली बर्फबारी से सैलानियों के चेहरे खिल उठे हैं। पिथौरागढ़ के मुनस्यारी और धारचूला, पंचाचूली, गुंजी, दुग्तु, छिपलाकेदार सहित दारमा और व्यास वैली आज जमकर बर्फबारी हुई है।
के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ठंड बढ़ गई है, इसी के साथ अन्य मैदानी राज्यों में होने वाली बारिश ने आम लोगों को ठंड का अहसास करवाना शुरू कर दिया है। मौसम विभाग ने तीन दिन की बारिश का हाई अलर्ट पहले ही जारी कर दिया था। बीते कल यानी रविवार से से उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में बारिश जारी है। बारिश के कारण आम जीवन प्रभावित हो गया है।

बारिश और खराब मौसम के चलते रुद्रप्रयाग प्रशासन की तरफ से यात्रा पर अस्थाई रोक लगाई है, लेकिन रोक लगने से पहले ही बड़ी संख्या में बाबा भोले के दर्शन के लिए लोग पहुंच चुके है। तेज बारिश हो रही है, लेकिन भक्तों की आस्था में कोई कमी नहीं दिखाई दे रही है, महादेव के दर्शन के लिए भक्त हाथ में छाता थामे उनके दर पर खड़े हुए है।
Kedar

मौसम विभाग की तरफ से 48 घंटे का तेज बारिश का हाई अलर्ट है। मौसम विभाग की चेतावनी एकदम सही साबित हो रही है। रुद्रप्रयाग में बीती रात से बारिश होने के चलते ठंड बढ़ गई है। वही तुंगनाथ एवं मदमहेश्वर धाम में भी तीर्थयात्री बारिश के कारण रुके हुए हैं। केदारनाथ की पहाड़ियां बर्फ की सफेद चादर में लिपटी नजर आ रही हैं, जिसको देखकर वहां बाबा के दर्शन के लिए आए भक्त बेहद खुश नजर आ रहे हैं।

केदार यात्रा पर आए श्रद्‍धालु हिमपात देखकर खुश हैं, तो वहीं व्यापारियों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि केदारनाथ यात्रा के विभिन्न पड़ावों में बीते दो दिनों से बिजली व्यवस्था ठप है। ऐसे में व्यापारियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
Snow fall
व्यापारियों का कहना है कि पिछले वर्ष कोरोना के चलते व्यापार नहीं हुआ और अब बिजली ने कामकाज में खलल डाल दी है। हालांकि बिजली न होने से बुजुर्ग और बच्चे वाले यात्रियों को दिक्कत महसूस हो रही है। हिमपात का ज्यादा असर केदारनाथ, मदमहेश्वर, तुंगनाथ, कार्तिक स्वामी सहित अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दिखाई दे रहा है।
ठंड और बारिश के बावजूद केदारनाथ मंदिर में पहुंचे श्रद्धालु मंदिर परिसर में छाता लेकर बाबा के दर्शन कर रहे हैं। वहीं दर्शन कराने भक्तों को पुलिस-प्रशासन उन्हें सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दे रहे हैं। केदारनाथ यात्रा पर अस्थाई रोक के बाद भी बीते रविवार को केदारनाथ धाम में 15 हजार के करीब तीर्थयात्रियों ने बाबा के दर्शन किए है। अब तक बाबा के एक लाख भक्त उनके द्वार तक पहुंच चुके है।

बाबा केदार मंदिर परिसर पूरी तरह से भक्तों के जयकारों से गूज रहा है। केदारनाथ की चोटियों पर जबरदस्त हिमपात है और धाम में लगातार बारिश हो रही है। वहीं हजारों की संख्या में बाबा केदार के भक्त यात्रा खुलने का इंतजार कर रहे हैं।



और भी पढ़ें :