कौन है छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार

Last Updated: शुक्रवार, 12 फ़रवरी 2016 (16:25 IST)
देश के प्रतिष्ठित केंद्रीय विश्वविद्यालय जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में बीते दिनों छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के नेतृत्व में 'अफजल गुरु' की बरसी मनाई गई। इस अवसर पर छात्रों ने भारत विरोधी नारे लगाने के साथ अफजल गुरु और कश्मीर की आजादी के नारे भी लगाए।
 
इसके चलते अब इस विवाद के बीच दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को  गिरफ्तार कर लिया है । इस मामले में पुलिस ने कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ भी देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस मामले में कड़ी आपत्ति जताई है, जबकि दूसरी ओर मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि भारत का अपमान सहन नहीं किया जाएगा। यूनिवर्सिटी ने दोषी छात्रों को सस्पेंड कर दिया है। इसे पढ़ें :  कॉमरेड क्रांति की खुल गई पोल
 
जवाहरल लान नेहरू विश्वविद्याल दिल्ली में हुए छात्र संघ के चुनाव में हाल ही सेंट्रल पैनल की चार सीटों में तीन पर लेफ्ट पार्टियों ने कब्जा जमा जमा रखा है जबकि एक पर एबीवीपी ने। अध्यक्ष पद पर के कन्हैया कुमार ने जीत हासिल की है। आईसा उम्मीदवार शहला राशिद ने उपाध्यक्ष और रामा नागा ने महासचिव का पद हासिल किया है। संयुक्त सचिव बने हैं एबीवीपी के सौरभ कुमार शर्मा। 
 
क्या है एआईएसएफ : जिस तरह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाजपा को सपोट करती है, अखिल भारतीय छात्र संघ कांग्रेस को सपोट करती है उसी तरह आईसा और एआईएसएफ अर्थात का समर्थन करता है। कहते यह भी हैं कि यह माओवाद और नक्सलवाद का समर्थन भी करता है। अक्सर इनके छात्रों को देशविरोधी गतिविधियों में लिप्त पाया गया है। कई दूसरे राज्यों में इन पर आतंकवाद को सहयोग करने का भी आरोप लगता रहा है। भारत में यह हिन्दुओं को बांटने की राजनीति करते हैं। विद्यार्थी परिषद और आरएसएस यह आरोप लगाते रहे हैं कि जेएनयू राष्ट्र विरोधी गतिविधयों का अड्डा बन गया है।
 
कौन है कन्हैया कुमार : कन्हैया कुमार बिहार के बीहट में मसनदपुर टोला निवासी हैं और वे भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी की विचारधारा से जुड़े हैं। कन्हैया कुमार के दो भाई और एक बहन हैं। मां का नाम मीणा देवी और पिता का नाम जयशंकर सिंह है। बड़े भाई मणिकांत सिह प्राइवेट नौकरी करते हैं। छोटा भाई प्रिंस कुमार पीजी की पढ़ाई पूरी कर एमफिल कर रहा है। कन्हैया जेएनयू में पीएचडी कर रहे हैं।
कन्हैया ने प्राथमिक विद्यालय मसनदपुर में कक्षा चार तथा पांचवीं से आठवीं तक की पढ़ाई बीहट रतनपुर चौक स्थित सनराइज पब्लिक स्कूल से पूरी की। आरकेसी स्कूल बरौनी से आठवीं से दसवीं तक की पढ़ाई की। इंटर पटना से करने के बाद पढ़ने के लिए दिल्ली चला गया। दिल्ली में वह वामपंथी विचारधारा से जुड़ा और कुछ समय पूर्व ही एआईएसएफ के नेतृत्व में चुना लड़ा।
 
कन्हैया के पिता जयशंकर सिह व चाचा जयनंद सिह साथ रहते हैं। जयशंकर सिह किसान हैं तथा मीणा देवी आंगनबाड़ी केंद्र में सेविका पद पर कार्यरत हैं। किसी तरह परिवार चलता है। दो साल से जयशंकर बीमार हैं। वे लकवा ग्रस्त हैं। इस वजह से परिवार की स्थिति और भी दयनीय हो गई है, लेकिन कन्हैया को अपनी राजनीति से मतलब है घर-परिवार से नहीं।



और भी पढ़ें :