Team India को बहुत सारी उपलब्धियां दिलाई हैं महेंद्र सिंह धोनी ने...

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी (माही) की जितनी तारीफ की जाए कम हैं। उन्होंने भारतीय टीम में रहकर बहुत सम्मान पाया है। भारतीय टीम में कप्तान की भूमिका निभाते हुए टीम को बहुत सारी उपलब्धियां दिलाई हैं। और हाल ही में आईसीसी ने उन्हें अपने 300वें अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच खेले जाने पर बहुत ही खास तरह से सम्मानित किया। ऐसा भी कहा जा रहा है कि धोनी ऐसे पहले खिलाड़ी है जिनकों आईसीसी इतने बड़े सम्मान से सम्मानित किया है।


इसी उपलब्धि को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने एक शायराना अंदान में धोनी के समक्ष पेश किया और इसी के साथ आईसीसी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर धोनी को लेकर लगातार एक के बाद एक 14 ट्वीट भी किए। आईसीसी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘सोचो अगर धोनी ना होते तो क्या होता! ऐसा सोचना भी बड़ा मुश्किल है। तब मुश्किल कैच या स्टम्प ना होते। कुछ चुटीली बातें भी सुनने को नहीं मिलतीं। हर बल्लेबाज दो रन, तीन रन भाग रहा होता।’
महेंद्र सिंह धोनी की निजी जिंदगी और क्रिकेट : महेंद्र सिंह धोनी अथवा मानद लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी (एम एस धोनी, माही) के नाम से भी जाना जाता है। झारखंड में जन्में धोनी को भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान भी सम्मानित किया जा चुका है। धोनी को भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले अन्य प्रतिष्ठित पुरस्कारों में भारत रत्न, पद्म विभूषण और पद्मश्री से भी किया गया है। धोनी भारतीय क्रिकेटर तथा भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान हैं और भारत के सबसे सफल एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय कप्तान रहे हैं।

इनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में आईसीसी टी-20 विश्व, 2007-08 में कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज, 2011 क्रिकेट विश्व कप, आइसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी 2013 और बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी जीती जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से हराया। उन्होंने भारतीय टीम को श्रीलंका और न्यूजीलैंड में पहली अतिरिक्त वनडे सीरीज में भी जीत दिलाई। 02 सितम्बर 2014 को उन्होंने भारत को 24 साल बाद इंग्लैंड में वनडे सीरीज में जीत दिलाई थी।
कप्तान के रूप में धोनी की भूमिका : धोनी की कप्तानी के बारे में बात कि जाए तो धोनी अब तक से सफल कप्तानों में से एक है। आए दिन इनकी कप्तानी के किस्से देखने और सुनने को मिलते हैं। ड्रेसिंग रूम से लेकर क्रिकेट के मैदान तक माही का स्वभाव एक जैसा ही रहा हैं। हाल ही में रोहित शर्मा ने धोनी के टीम में शामिल पर एक बहुत ही अच्छी बात कहीं थी। उन्होंने कहा था कि धोनी जब भी टीम में रहते है तो उस समय ड्रेसिंग रूम का मिजाज बदल जाता है। किसी भी खिलाड़ी के चहरे पर किसी भी प्रकार का कोई डर और घबराहट नहीं होती है बलकि सभी चहरे पर एक मुस्कुराहट रहती हैं।
विकेटकीपर के रूप में कमाया नाम : महेंद्र सिंह धोनी ने जहां कप्तान के रूप में जितनी उपलब्धि हासिल कि है उससे कहीं ज्यादा उन्होंने बतौर विकेटकीपर बनकर सम्मान प्राप्त किया है। स्टंप के पीछे से विकेट निकाल कर धोनी ने भारतीय टीम को कई बार जीत दिलाई है। धोनी ने अब तक 49 कैच और 33 स्टंप आउट किए हैं। मौजूदा समय में अंतराष्ट्रीय में धोनी से आगे कोई भी विकेटकीपर नहीं है।

 

और भी पढ़ें :