लोकेश राहुल ने कहा, मुझे क्रीज पर टिककर खेलने की जरूरत

वेबदुनिया न्यूज डेस्क|
एंटीगा। के ने कहा कि उन्हें पर टिककर धैर्य रखकर खेलने की जरूरत है। वे वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे हैं। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट की पहली पारी में 44 और दूसरी पारी में 38 रन बनाए लेकिन वे अर्द्धशतक या शतक बनाने में नाकाम रहे।
तीसरे दिन का खत्म होने के बाद राहुल ने कहा कि मैं अपनी बल्लेबाजी से काफी निराश हूं तथा मुझे बस क्रीज पर टिककर धैर्य रखकर बल्लेबाजी करनी है। मैं 35 या 45 रन ही बना रहा हूं। मैं दोनों पारियों में काफी सकारात्मक भी महसूस कर रहा था तथा मैंने सधी हुई बल्लेबाजी की।

मैं इससे सीख लेते हुए अगले मैच में अच्छा प्रदर्शन करूंगा। अगर मैं धैर्य रखकर खेलूंगा और अपनी पारी को लगातार बेहतरीन तरीके से खेलूंगा, जैसा कि मैं शुरुआत के 60-70 गेंदों में करता हूं तो यह टीम और मेरे दोनों के लिए काफी अच्छा रहेगा।
उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ अच्छी शुरुआत की लेकिन अपनी पारी को आगे बढ़ाने में वे नाकाम रहे। पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में राहुल सेट बल्लेबाज के तौर पर आउट हुए थे।

उन्होंने कहा कि 60 रन के स्कोर पर 3 विकेट सही नहीं थे और पारी लड़खड़ा गई थी। टीम के 2 विकेट जल्द ही गिर गए। मयंक ने अपना विकेट बहुत पहले ही गंवा दिया। ऐसे में रहाणे और विराट कोहली ने बेहतरीन साझेदारी कर पारी को संभाला।

 

और भी पढ़ें :