युवराज बने 'छक्कों के शहंशाह'

डरबन (भाषा)| भाषा|
भारत के बाएँ हाथ के बल्लेबाज युवराजसिंह ने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज क्रिस ब्रॉड के एक ओवर में यहाँ छह छक्के जमाकर ट्वेंटी-20 क्रिकेट में एक नया इतिहास रचा। युवराज ट्वेंटी-20 में एक ओवर में छह छक्के उड़ाने वाले पहले बल्लेबाज हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यह दूसरा अवसर है, जबकि एक ओवर में 6 छक्के पड़े। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स ने वेस्टइंडीज में इसी साल खेले गए एकदिवसीय विश्व कप में सेंट कीट्स में हॉलैंड के डान वान बंज के एक ओवर में 6 छक्के जमाए थे।

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक ओवर में 6 छक्के जमाने का पहला कारनामा सर गैरी सोबर्स ने किया था, जबकि भारत के रवि शास्त्री ने बाद में इसे दोहराया था। युवराज ने अपनी इस पारी के दौरान केवल 12 गेंद पर अर्धशतक पूरा करके एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया।
वे सिर्फ ट्वेंटी-20 ही नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम गेंद पर अर्धशतक जमाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने ट्वेंटी-20 में बांग्लादेश के मोहम्मद अशरफुल (20 गेंद) का रिकार्ड तोड़ा। एकदिवसीय मैचों में सबसे तेज अर्धशतक का रिकार्ड श्रीलंका के सनथ जयसूर्या के नाम पर है, जिन्होंने 1996 में पाकिस्तान के खिलाफ सिंगापुर में 17 गेंद पर 50 रन पूरे किए थे।
दिम‍ित्री मास्करेनास ने इससे पहले इंग्लैंड में एकदिवसीय श्रृंखला के दौरान युवराज पर लगातार पाँच छक्के जड़े थे, जिसका बदला इस बल्लेबाज ने आज पूरा कर दिया। उन्होंने ब्रॉड की पहली गेंद पर मिड ऑन पर ऊँचा छक्का लगाया और फिर बैकवर्ड स्क्वेयर लेग, लांग ऑफ, बैकवर्ड प्वाइंट के ऊपर से मिड विकेट तथा मिड ऑन पर छक्के जमाए।

इस तरह से वे ट्वेंटी-20 में एक ओवर में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग का रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्होंने 2005 में ऑकलैंड में न्यूजीलैंड के खिलाफ डेरेल टफी के एक ओवर में 30 रन जुटाए थे। ट्वेंटी-20 विश्व कप में इससे पहले एक ओवर में सर्वाधिक 29 रन श्रीलंका के जेहान मुबारक ने बनाए थे।
ब्रॉड ने अपने चार ओवर में 60 रन दिए जो इस ट्वेंटी में चौथा सबसे खराब गेंदबाजी विश्लेषण हैं। इंग्लैंड के ही जेम्स एंडरसन (वि. ऑस्ट्रेलिया सिडनी 2007) और जयसूर्या (वि. पाकिस्तान जोहान्सबर्ग) दोनों ही चार ओवर में 64 रन दे चुके हैं।



और भी पढ़ें :