FIFA WC 2018 : विजेता बनते ही फ्रांस के राष्ट्रपति झूमे, क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने गले लगाया

Last Updated: सोमवार, 16 जुलाई 2018 (01:32 IST)
मास्को। और क्रोएशिया के बीच फीफा के फाइनल मैच को देखने के लिए दोनों देशों के राष्ट्रपति अपनी अपनी टीमों का जोश बढ़ाने के लिए स्टेडियम में मौजूद थे। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों तो अपने देश की जीत के बाद जोश में झूमकर उछल पड़े जबकि ने मैक्रों को गले लगाकर बधाई दी।

सनद रहे कि कोलिंदा ने पहले ही कहा था कि मैं फाइनल देखने नेता या राष्ट्रपति के रूप में नहीं जाऊंगी बल्कि क्रोएशियाई फुटबॉल की एक जुनूनी प्रशंसक के रूप में जाऊंगी। एक ऐसे इंसान के रूप में, जिसने बचपन में फुटबॉल खेला है। कोलिंदा की इस खेल भावना की पुरस्कार वितरण समारोह में काफी चर्चा होती रही।
राष्ट्रपति कोलिंदा आंखों से आंसू झलक पड़े : हार के बाद भी क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने अपनी टीम के खिलाड़ियों की हौंसलाअफजाई की। बारिश में भीगते खिलाड़ी अपना पुरस्कार लेने आए तो क्रोएशिया की राष्ट्रपति कोलिंदा ने उन्हें गले लगाकर सांत्वना दी। वे इतनी भावुक हो गई कि उनकी आंखों से आंसू झलक पड़े।
पहले गोल की बरसात और फिर आसमान से बारिश : विश्व कप फुटबॉल के फाइनल खत्म होने के कुछ समय पूर्व ही हल्की बूंदा बांदी शुरू हो गई थी लेकिन कुछ ही देर में बारिश तेज हो गई। पहले मैच में कुल 6 गोलों की बरसात हुई और उसके बाद आसमान से हुई तेज बारिश से लग रहा था कि कुदरत भी फ्रांस की जीत के बाद जमकर मेहरबान हो रहा है।

88 साल में चार बार फाइनल में पांच से ज्यादा गोल हुए : पिछले चार विश्व कप के फाइनल मैचों के आंकड़े देखें तो पाते हैं कि इनमें कुल 6 गोल हुए थे लेकिन इस विश्व कप के फाइनल में ही 6 गोल दागे गए। यानी दर्शकों का फुल मनोरंजन। हालांकि 1930, 1938, 1958 और 1966 के फाइनल मैचों में भी पांच से ज्यादा गोल हुए थे।


और भी पढ़ें :