Horoscope 2021 : वर्ष 2021 में क्या कह रहे हैं 12 राशियों के सितारे

वर्ष 2021 आपके लिए कैसा रहेगा, जानिए...

मेष : मेष राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष मिश्रित फल वाला रहेगा। अपेक्षाओं की पूर्ति के लिए अनेक परिश्रम करने पड़ेंगे। स्वास्थ्य में भी उतार-चढ़ाव बना रहेगा अर्थात तकलीफ रहेगी। विपरीत विचार ज्यादा रहेंगे। हर सफलता से पहले अधिक डर बना रहेगा। रिश्तेदारों से सहयोग प्राप्त होने से ज्यादा असहयोग रहेगा। मित्रों से समय-समय पर सहयोग प्राप्त होगा। आय से अधिक खर्च बना रहेगा। किसी भी कार्य में सफलता बहुत देरी से मिलेगी, साथ ही किसी भी कार्य में सफलता मिलने में विघ्न उपस्थित होंगे। इस राशि वाले महिला वर्ग के लिए यह वर्ष पहले से ज्यादा अच्छा होगा। पुरुष वर्ग के लिए यह वर्ष पहले कष्ट वाला रहेगा, फिर शनै:-शनै: अच्छा होने लगेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह वर्ष अनुकूल रहेगा। कृषक वर्ग के लिए यह वर्ष उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। अप्रैल-मई में मांगलिक कार्यों में खर्च होगा। अगस्त-सितंबर में नवीन सुख-साधनों की वृद्धि होगी एवं नए संबंध बनेंगे। जुलाई-अक्टूबर में ध्यान दें, एक्सीडेंट का खतरा है। वर्ष के प्रथम माह से लेकर जून तक धर्मयात्रा होने के योग हैं। कार्यक्षेत्र में स्थान परिवर्तन का योग है। फरवरी, मई व नवंबर शुभ रहेगा, सितंबर अशुभ रहेगा। यह वर्ष हनुमानजी व शनि आराधना वाला रहेगा। खुद को स्वास्थ्य की तकलीफ रहेगी।
वृषभ : वृषभ राशि के लिए यह वर्ष क्षमता से अधिक परिश्रम करने वाला रहेगा। व्यापार में दूरदर्शिता से लाभ मिलेगा। अप्रैल से मई तक कुछ परेशानी के साथ व्यापार में मंदी का प्रभाव रहेगा और तुरंत उसके बाद व्यापार में सुधार होगा। नौकरी में उन्नति के साथ स्थान परिवर्तन के योग हैं। राजनीतिक क्षेत्र में उन्नति में बाधा आएगी। व्यापार अच्छा चलेगा तथा आर्थिक विकास होगा व भौतिक सुख-सुविधा में वृद्धि होगी। भूमि-भवन संबंधी कार्य में सफलता प्राप्त होने में कठिनाई होगी। किसी ठग के झांसे में आ सकते हैं, ध्यान से कार्य करना होगा। शेयर बाजार में लाभ मिलेगा। किसी मिलने वाले से मनमुटाव की स्थिति बन सकती है। घर में मांगलिक कार्य होने के योग हैं। संतान सुख प्राप्त होगा, जो जिम्मेदारी के बोझ को कम करेगा। स्वास्थ्य में अप्रैल-मई माह तकलीफ वाला रहेगा। इस राशि के विद्यार्थी वर्ग के लिए यह वर्ष अनुकूल रहेगा। व्यापारी वर्ग के लिए उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। कृषि वर्ग के लिए कष्ट वाला रहेगा। नौकरी वर्ग वालों के लिए यह वर्ष पहले से ज्यादा अच्छा रहेगा। महिला वर्ग के लिए वैवाहिक जीवन सुखमय करने वाला रहेगा। जीवनसाथी की उन्नति होगी। वृद्ध वर्ग के लिए बहुत ठीक नहीं रहेगा। माता के स्वास्थ्य की तकलीफ दूर हो जाएगी। जुलाई, मार्च व दिसंबर शुभ रहेंगे, मई अशुभ रहेगा। वर्ष में राहु जाप व शिव स्तुति लाभप्रद रहेगी।

मिथुन : मिथुन राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष शनि के कारण कुछ परेशानी वाला हो सकता है। कुछ सफलता वाला भी रहेगा। व्यापार में वृद्धि होगी। जुलाई व अगस्त में थोड़ा व्यापार मंदा रहेगा। सतर्कता से काम लें, लाभ मिलने लगेगा। भूमि-भवन संबंधी कार्य मार्च तक पूर्ण होंगे। नए भवन के भी योग बनेंगे। जुलाई माह में सुधार होगा। किसी पुराने दोस्त से मिलने वाले योग बन रहे हैं। नौकरी में साथियों से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा, परंतु अगस्त में यही साथी परेशान करेंगे। आपका अपने मूल निवास की ओर स्थान परिवर्तन हो सकता है। मई से जून तक मांगलिक कार्य पूर्ण होंगे। इस वर्ष नेत्र संबंधी तकलीफ हो सकती है, ध्यान देना होगा। शिक्षा के क्षेत्र में सफलता मिलेगी, जो लाभप्रद रहेगी। इस राशि वाले विद्यार्थी वर्ग के लिए वर्ष सफलता वाला रहेगा। व्यापारी वर्ग के लिए यह वर्ष अनुकूल तो रहेगा, परंतु कभी-कभी परेशानी आएगी। कृषि वर्ग के लिए यह वर्ष अनुकूल रहेगा। महिला वर्ग के लिए यह वर्ष कष्ट वाला रहेगा। छात्राओं के लिए यह वर्ष अति उत्तम रहेगा। बालकों के लिए यह वर्ष ठीक-ठीक रहेगा। इस राशि वाले जातकों को यह वर्ष संभलकर चलने वाला रहेगा ताकि वाद-विवाद में फंसें नहीं, क्योंकि परेशानी बढ़ेगी। कुछ सफलता व कुछ परेशानी के साथ यह वर्ष कुछ अच्छा देकर जाएगा। मार्च, जून व सितंबर शुभ रहेंगे तथा अगस्त परेशानी वाला रहेगा। इस वर्ष शनिवार का व्रत तथा हनुमानजी और देवीजी की आराधना लाभप्रद रहेगी।

कर्क : कर्क राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष व्यापार में परिवर्तन वाला हो सकता है। भूमि-भवन निर्माण कार्य में अच्छा लाभ मिलेगा। प्रॉपर्टी डीलर को अच्छा लाभ मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन के साथ-साथ अच्छे अधिकारी वर्ग मिलेंगे, जो सहयोगी रहेंगे। तकनीक कंपनी वालों के लिए यह वर्ष अच्छी सफलता वाला रहेगा। साझेदारी आपके लिए परेशानी वाली हो सकती है अत: समझकर कार्य करें। मांगलिक कार्यों में व्यय होगा, पर आपका भार कम हो जाएगा। आपके रुके हुए पैसे आपको मिलेंगे। आपको इस वर्ष घर में परेशानी आएगी। खुद के मकान में न रहें, किराए का मकान फलीभूत होगा। माता-पिता के स्वास्थ्य में तकलीफ होगी, परंतु परिवार में मतभेद हो सकते हैं। आपको परिवार व माता-पिता का ध्यान रखना होगा। किसी धार्मिक स्थल की यात्रा लाभदायक सिद्ध होगी। ग्रहों का शुभ स्थान में स्थित होना आपको सफलता प्राप्त कराएंगे। खुद को पेट संबंधी तकलीफ हो सकती है। इस राशि की महिला वर्ग सफल होंगी तथा पुरुष वर्ग के लिए कष्ट वाला रहेगा। कृषि क्षेत्र के वर्ग वालों के लिए यह वर्ष उत्तम रहेगा। व्यापारी वर्ग के लिए मध्यम रहेगा। ज्वेलर्स के लिए उत्तम रहेगा। फरवरी, जुलाई व अक्टूबर माह शुभ हैं, दिसंबर अशुभ है। गणेशजी की आराधना व गौसेवा इस वर्ष के लिए लाभप्रद रहेगी।
सिंह : सिंह राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष संघर्ष वाला रहेगा। वर्ष के प्रारंभिक माह में कोर्ट-कचहरी संबंधी कार्यों में परेशानी आएगी। लाभ से अधिक व्यय होने से चिंता व किसी भी वाहन से चोट लग सकती है। घर-परिवार में भी अशांति का वातावरण रहेगा, साथियों से भी उचित लाभ नहीं मिल पाएगा। अप्रैल से जून तक घर में मांगलिक कार्य होंगे। वर्ष के प्रारंभ में संतान संबंधी चिंता रहेगी। यह चिंता जुलाई-सितंबर तक कम हो जाएगी। खुद को स्वास्थ्य संबंधी तकलीफ रहेगी। बहन के परिवार में वाहन-भूमि लाभ होगा। किसी दोस्त के साथ साझेदारी में व्यापार न करें, मतभेद हो सकते हैं। व्यापार सितंबर से बहुत अच्छा ही जाएगा। भाई को कष्ट रहेगा। इस राशि के विद्यार्थी वर्ग के लिए यह वर्ष परेशानी वाला रहेगा। व्यापारी वर्ग के लिए यह वर्ष मध्यम रहेगा। कृषि वर्ग वालों के लिए यह वर्ष उत्तम रहेगा। बालकों के लिए यह वर्ष कष्ट वाला रहेगा। फरवरी, जून व दिसंबर शुभ हैं, नवंबर अशुभ है। इस वर्ष गायत्री मंत्र व हनुमानजी की आराधना करना लाभप्रद रहेगा।
कन्या : कन्या राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष मिश्रित रहेगा। व्यापार वृद्धि में बहुत अधिक परिश्रम करना पड़ेगा, साथ ही धैर्य रखना होगा। साझेदारी वाले व्यापार में साझेदार से मतभेद होने की स्थिति हो सकती है। किसी प्रभावशाली विद्वान व्यक्ति से इस समस्या का निराकरण होगा। आपका व्यापार अथवा कारखाना तकनीक वाला है तो इस वर्ष अधिक परेशानी आएगी। बार-बार मशीन का खराब होना व कर्मचारियों की परेशानी आएगी। किसी फालतू पुरानी जमीन को बेचने से वाहन का सुख प्राप्त होगा, परंतु अक्टूबर व नवंबर माह के अंत में जमीन-जायदाद विवाद कष्टदायक हो सकता है। छोटी-सी बात पर घर-परिवार में विवाद की स्थिति बनेगी व पिता को कष्ट रहेगा। संतान को उन्नति मिलेगी। इससे घर के वातावरण में शांति होगी। स्वास्थ्य संबंधी चिंता रहेगी। अस्थि, संक्रामक व रक्तचाप संबंधी तकलीफ इस वर्ष रहेगी। वर्ष के मई व जून में सामाजिक व धार्मिक यात्रा होगी। नौकरी में स्थान परिवर्तन के योग हैं, साथ ही पदोन्नति के प्रबल योग हैं। दिसंबर का महीना अच्छी उन्नति वाला रहेगा। विद्यार्थी को उच्च शिक्षा में सफलता मिलेगी। इस वर्ष विद्यार्थी वर्ग के लिए यह अच्छा है। व्यापारी वर्ग के लिए इस वर्ष थोड़ा परेशानी व थोड़ा लाभ वाला रहेगा। कृषक वर्ग के लिए इस वर्ष पहले से ज्यादा अच्छा रहेगा। महिला वर्ग के लिए इस वर्ष अनुकूल रहेगा, परंतु जून-जुलाई कष्ट वाला रहेगा। मार्च, नवंबर व दिसंबर शुभ हैं, जून-जुलाई अशुभ है। इस वर्ष लक्ष्मीनारायण की आराधना करना लाभप्रद रहेगा।
तुला : तुला राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष पहले से ज्यादा अच्छा रहेगा। आपका छोटा व्यापार बड़ा रूप ले सकता है, प्रबल योग हैं। आपको अमल करना है, उन्नति होगी। नौकरी में उच्च पद प्राप्त होगा व जिम्मेदारी वाला कार्य करना पड़ेगा जिसका प्रभाव ऊपर तक रहेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी, साथ ही धार्मिक समारोह में भी सम्मान प्राप्त होगा। किसी पुराने मित्र की कुछ बातें जो लाभप्रद हैं, वे इस वर्ष लाभ देंगी जिससे मिलने की इच्छा जाग्रत होगी। भूमि-भवन संबंधी सुख प्राप्त होगा व पुराना धन प्राप्त होने से आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। फरवरी-मार्च में कोई मांगलिक कार्य पूर्ण होंगे। संतान संबंधी सुख प्राप्त होगा, परंतु अगस्त में कष्ट रहेगा। स्वास्थ्य में मधुमेह संबंधी तकलीफ के साथ पैर व पेट की भी तकलीफ रहेगी। फरवरी व जुलाई में धार्मिक स्थल की यात्रा के योग हैं व सितंबर में विदेश यात्रा भी हो सकती है। नौकरी वर्ग वालों के लिए नौकरी के आधार पर विदेश जाने के योग हैं। परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करना होगी। इस राशि के व्यापारी वर्ग के लिए यह वर्ष उत्तम रहेगा। बालकों के लिए यह वर्ष कष्ट वाला रहेगा। महिला वर्ग के लिए यह वर्ष उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। फरवरी, सितंबर व दिसंबर शुभ हैं, जून अशुभ रहेगा। वर्ष में लक्ष्मी व गायत्री मंत्र लाभप्रद रहेगा।
वृश्चिक : वृश्चिक राशि वालों के लिए यह वर्ष सफलता वाला रहेगा। इस वर्ष रुके हुए कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। शेयर मार्केट के साथ भूमि संबंधी कार्य में भी लाभ होगा। क्षमता से अधिक गतिविधियां बढ़ेंगी। त्वरित निर्णय का प्रभाव भी सफलता दिलाएगा। यदि साझे का व्यापार है तो इस वर्ष साझेदार से मनमुटाव की शुरुआत होगी, जो व्यापार को प्रभावित करेगी। यदि आप नौकरीपेशा हैं तो अधिकारी वर्ग से व्यर्थ में विवाद बढ़ सकता है, जो स्वत: के स्वभाव पर नियंत्रण से आसानी से हल हो जाएगा। राजनीति के क्षेत्र में पार्टी बदलने का विचार मन में आ सकता है। फरवरी से मई के मध्य भूमि संबंधी मुकदमे में सफलता प्राप्त होगी। गृह भूमि प्राप्ति की दृष्टि से समय उत्तम होगा। मई से सितंबर में मांगलिक कार्य होंगे। संतान को शारीरिक कष्ट हो सकता है। पारिवारिक मतभेद दूर होगा। आपका स्वास्थ्य भी उत्तम रहेगा, परंतु संक्रामक रोगों की वजह से व्ययभार बढ़ सकता है। मार्च से जून तक अनचाहे स्थानांतरण होने की संभावना है। ग्रहों का प्रभाव उच्च सेवा दिलाएगा। धार्मिक यात्रा की संभावना है। इस वर्ष अधिक परिश्रम करने से सफलता प्राप्त होगी। अप्रैल से जून तक श्रम अधिक करना होगा। उच्च अध्ययन हेतु दूर प्रवास होगा। हनुमानजी की आराधना इस वर्ष लाभप्रद रहेगी। मूंगा और गोमेद रत्न धारण करना लाभकारक होगा।
धनु : धनु राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष कार्य में रुकावट वाला रहेगा। आपका व्यापार परिवार के साथ है तो आपसी तालमेल पर ज्यादा ध्यान देना होगा, मतभेद हो सकते हैं। अनावश्यक बात को लेकर विवाद हो सकता है। आपकी समझदारी ही लाभप्रद रहेगी। सितंबर-अक्टूबर में जीवनसाथी के साथ अच्छा व्यवहार रखें। नौकरी वर्ग वाले इन महीनों में सहकर्मी के साथ तालमेल से रहें, उन्नति होगी। राजनीति वर्ग वाले को सफलता प्राप्त होगी व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। संपत्ति संबंधी कार्य में सफलता प्राप्त होगी। शेयर बाजार में लाभ मिलेगा। भूमि-भवन संबंधी कार्य में सफलता हासिल होने से अपने किसी रिश्तेदारी से रुकावट आ सकती है। भौतिक सुख-सुविधा में वृद्धि होगी। संतान सुख प्राप्त होगा। पुरानी बेकार जमीन से इस वर्ष अच्छा लाभ मिलेगा। आपको स्वास्थ्य में वात रोग, उच्च रक्तचाप और मधुमेह से परेशानी आएगी। मांगलिक व सामाजिक कार्यों में दूरदराज यात्रा होगी, साथ ही सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। तीर्थयात्रा होगी। माता-पिता के साथ तालमेल अच्छा रहेगा। अप्रैल व जून में अधिक सफलता प्राप्त होगी। महिला वर्ग के लिए यह वर्ष सफलता वाला रहेगा। व्यापारी वर्ग के लिए यह वर्ष कष्ट वाला रहेगा। कृषि वर्ग के लिए यह वर्ष अनुकूल रहेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए पहले कष्ट वाला फिर शनै:- शनै: सफलता वाला रहेगा। बालकों के लिए यह वर्ष उत्तम रहेगा। जनवरी, अप्रैल व जून शुभ हैं, सितंबर अशुभ है। हनुमानजी की आराधना इस वर्ष लाभप्रद रहेगी।
मकर : मकर राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष अनुकूलता से भरपूर वाला रहेगा। मेहनत सफलता दिलाने में सहायक होगी। व्यापार में रुके हुए कार्यों में भी सफलता मिलेगी। भूमि संबंधी कार्य पूर्ण होने के योग हैं। यदि आप एजेंसी के व्यापार में हैं तो विक्रय का दबाव तनाव पैदा करेगा। नौकरी में पदोन्नति के साथ स्थानांतरण की संभावना भी बनती है। अधिकारी वर्ग के साथ संबंधों में तनाव के बाद मधुरता आएगी। राजनीति के क्षेत्र में पार्टी से असंतुष्टि की वजह से अन्य पार्टी में प्रवेश करने का मन बन सकता है। पुरानी संपत्ति की खरीदी होगी। शेयर व म्युचुअल फंड से भी लाभ होगा। पुरानी उधारी मिलने से आपके बैंक ऋण का निपटारा होगा। संतान आदि सुख एवं पारिवारिक सामंजस्य रहेगा। मांगलिक प्रसंगों में व्ययभार अधिक होगा। स्वास्थ्य मार्च से जून तक कुछ कष्टकारी हो सकता है। अगस्त में वाहन से कष्ट हो सकता है। दुर्घटना के भय से भी परेशानी हो सकती है। विदेश प्रवास का सुख मिलेगा। जुलाई में उच्च शिक्षा के साथ दूर यात्रा के योग बनेंगे। प्रतियोगी परीक्षा में जून के मध्य अप्रत्याशित सफलता मिलने की संभावना है। व्यापारी वर्ग के लिए यह वर्ष उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। कृषि वर्ग के लिए यह वर्ष मध्यम रहेगा। नौकरी वर्ग के लिए यह वर्ष ठीक-ठीक रहेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह वर्ष सफलता वाला रहेगा। महिला वर्ग के लिए अनुकूल रहेगा। शिव आराधना करना, शनिवार को तेल का दान करना, लहसुनिया व नीलम रत्न पहनना लाभकारी होगा।
कुंभ : इस वर्ष मशीनरी में टूट-फूट व अधिकारी वर्ग से तनाव हो सकते हैं, जो समझदारी से हल हो जाएंगे। यदि एजेंसी का व्यापार है तो पिछले वर्षों की रुकी उधारी के कारण व्यापार में आर्थिक परेशानी हो सकती है। यदि साझेदारी व्यापार है तो साझेदार की संतान से तनाव उत्पन्न हो सकता है और यदि नौकरीपेशा हैं तो नौकरी के साथ-साथ व्यापार का भी साइड बिजनेस के रूप में विचार आ सकता है। यदि राजनीति के क्षेत्र में हैं तो इस वर्ष पार्टी द्वारा कोई महत्वपूर्ण पद दिया जाएगा जिससे आर्थिक समृद्धि के साथ-साथ सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नई संपत्ति की खरीदी एवं पुरानी संपत्ति की बिक्री होगी। पुरानी धन-संपत्ति में कमी के साथ-साथ नई विलासितापूर्ण सामग्री की खरीदारी होगी। अनावश्यक विवाद बनेंगे। माता-पिता के स्वास्थ्य का तनाव रहेगा। सामाजिक दायित्व बढ़ सकता है। संतान का उच्च शिक्षा हेतु बाहर जाना हो सकता है। रक्तचाप व पित्त विकार आदि से पीड़ा के संकेत हैं। उदर विकार एवं अपच से परेशानी रहेगी। मार्च से जून में अनचाहे स्थानांतरण, दूर प्रवास व तीर्थयात्रा के संकेत हैं। प्रतियोगी परीक्षा में कड़ी मेहनत से सफलता प्राप्त होगी। हनुमत आराधना एवं शनि का दान, पुखराज एवं नीलम रत्न धारण करना तथा मछली को दाना चुगाना भी लाभदायक होगा।
मीन : मीन राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष व्यापार के क्षेत्र में विशेष सफलता दिलाने वाला है तथा व्यावसायिक क्षेत्र में परिवर्तन भी करवाएगा। कारखाना निर्माण कार्य व औद्योगिक क्षेत्र में पुरानी मशीनरी में बदलाव होगा। बैंकिंग संबंधी परेशानी दूर होगी। यदि साझेदारी का व्यापार है तो साझेदार के कारण व्यापार को नई ऊंचाइयों तक जाने में इस वर्ष सफलता प्राप्त होगी। शेयर मार्केट से भी लाभ प्राप्त कर पाएंगे। यदि नौकरीपेशा हैं तो आप अपनी वर्तमान नौकरी से इस्तीफा देकर नई नौकरी के लिए कोशिश करें, अच्छा लाभ मिलेगा। यदि आप सामाजिक कार्य से जुड़े हैं तो आपको राजनीतिक पार्टी अपने साथ जोड़ सकती है। यह वर्ष बकाया राशि की प्राप्ति का रहेगा व पुरानी संपत्ति की बिक्री होगी। नए वाहन की खरीदी भी हो सकती है। अप्रैल-मई में पारिवारिक व्यापार से अलग होकर नया कार्य करने से घर में तनाव बढ़ेगा। पारिवारिक उत्तरदायित्व बढ़ेगा। एलर्जी, हार्मोन्स, रक्तचाप, उदर विकार एवं हृदय रोगों के साथ घटना का भय रहेगा। सितंबर-अक्टूबर में विदेश यात्रा का सुख मिलेगा। धार्मिक यात्रा से लाभ होगा। ग्रहों का प्रभाव पदोन्नति के साथ ही स्थान परिवर्तन दिलाएगा। विद्यार्थी वर्ग को एकाग्रता एवं श्रम से सफलता मिलेगी। व्यापारी वर्ग के लिए यह वर्ष उत्तम रहेगा। कृषि वर्ग के लिए यह वर्ष अनुकूल रहेगा। नौकरी वर्ग वालों के लिए यह वर्ष परिवर्तन वाला रहेगा। महिला वर्ग के लिए यह वर्ष पहले से कम कष्ट वाला रहेगा। इस वर्ष विष्णुपूजन व अनाज का दान करना लाभदायक रहेगा। पुखराज धारण करना लाभप्रद रहेगा।



और भी पढ़ें :