फलक मामले में मुख्य संदिग्ध गिरफ्तार

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 11 फ़रवरी 2012 (12:56 IST)
हमें फॉलो करें
में जिंदगी और मौत से जूझ रही नन्ही बच्ची के मामले में पुलिस ने शनिवार सुबह यहां प्रमुख संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया। उसने बच्ची को अपनी 14 वर्षीय प्रेमिका को कथित तौर पर सौंपा था।


टैक्सी चालक को कई हफ्ते से जारी कोशिशों के बाद आज सुबह यहां से पकड़ लिया गया। 18 जनवरी से ही उसकी तलाश कर रही थी जब नाबालिग लड़की बच्ची को एम्स लेकर आई थी।
पुलिस ने बताया कि वेश्यावृत्ति के रैकेट में कथित तौर पर शामिल प्रतिमा को भी कुमार के साथ गिरफ्तार कर लिया गया।


दिल्ली पुलिस मामले में कई लोगों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन मुख्य संदिग्ध तक ही नहीं पहुंच पा रही थी।

इस मामले में इस हफ्ते के शुरू में एक नया मोड़ आया जब पुलिस ने दावा किया कि बच्ची की मां की एक महिला ने धोखे से दूसरी शादी करा दी थी और उसके तीन बच्चों को अन्य लोगों को सौंप दिया था।

मामले में जांच के बाद गत रविवार को उन दो महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया गया था जिन पर फलक की 22 वर्षीय मां के साथ दगाबाजी करने का आरोप है।
जनवरी के अंतिम सप्ताह प्रकाश में आए इस मामले में कई मोड़ आए और पुलिस ने इससे संबंधित लेकिन अलग अलग मामलों में चार लोगों को गिरफ्तार किया। किशोरी के पिता पर उसे छोड़ देने का आरोप लगाया गया, जबकि एक दंपती और एक अन्य महिला को उसे वेश्यावृत्ति में धकेलने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। (भाषा)



और भी पढ़ें :