0

फिल्मी टीचर: थोड़े अजब, थोड़े गजब

रविवार,सितम्बर 4, 2011
0
1

मास्टर या रिंग मास्टर

रविवार,सितम्बर 4, 2011
सरकस में रिंग मास्टर होता है और बड़े स्कूल यानी हायर सेकंडरी में पीटी मास्टर। हाल ही में समाचार-पत्रों में 'सचित्र समाचार' छपा जिसे देख-पढ़कर सबने दाँतों तले उंगलियां दबा ली। उंगलियां-हाथों को दबाते हुए मोटरसाइकल गुजारना पीटी मास्टर का नया करतब था।
1
2

दिवस के बहाने 'शिक्षक' सम्मान

रविवार,सितम्बर 4, 2011
शिक्षक दिवस पर कई शिक्षकों की अपेक्षाभरी निगाहें राजधानी की ओर एक सम्मान को तलाशती हैं। शायद इस बार उनका सच्चा मूल्यांकन होगा। शासन बांहें फैलाकर, पास बुलाकर गले लगाएगा। कहेगा- ये है राष्ट्र निर्माण की सच्ची आधारशिला। प्रतीक पुरुष हैं ये जीवन-दर्शन ...
2
3

ज्ञान के बदले क्या दें उपहार

रविवार,सितम्बर 4, 2011
हमारे भारत वर्ष में गुरु का सम्मान अनादि काल से चला आ रहा है। आज बस उसका स्वरूप बदल चुका है। पहले गुरुकुल में रहकर छात्र शिक्षा प्राप्ति के बाद गुरु दक्षिणा देते थे और गुरु पूर्णिमा या शिक्षक दिवस के अवसर पर कॉलेजों के छात्र-छात्राएं विभिन्न प्रकार ...
3
4
भारतीय मां-बाप और शिक्षक यहां तक कि भारतीय स्कूल- कॉलेजों के प्रबंधक भी पाठ्येतर गतिविधियों को बहुत कम महत्व देते हैं। हमारे यहां शिक्षा का मतलब सिर्फ अकादमिक पढ़ाई है। शिक्षा का मतलब छात्र-छात्रा के संपूर्ण व्यक्तित्व को निखारना बहुत ही कम लोग समझते ...
4
4
5
यह बहुत आसान है कि किसी की भी निंदा करके या आलोचना करके पल्ला झाड़ लिया जाए। शिक्षकों का मामला कुछ ऐसा ही है। शिक्षक दिवस की औपचारिकता निभा दी जाती है। इस दिन उन्हें मान-सम्मान दे दिया जाता है। उन्हें शॉल, श्रीफल देकर फोटो खिंचवाया लिया जाता है। इसी ...
5
6
पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती प्रतिवर्ष 5 सितंबर को 'शिक्षक दिवस' के रूप में मनाई जाती है। इन दिनों जब शिक्षा की गुणात्मकता का ह्रास होता जा रहा है और गुरु-शिष्य संबंधों की पवित्रता को ग्रहण लगता जा रहा है, उनका पुण्य स्मरण फिर ...
6
7

शिक्षक आधी सदी

शुक्रवार,सितम्बर 2, 2011
साइकिल हाथ में छाते के साथ में कपड़े की थैली है उजली मटमैली है कंधे पर बैग है वही मंथर वेग है खाना-पानी संग है उड़ा हुआ रंग है अफसर से तंग है नीति कर्म में जंग है गांव तो चाहता है विभाग न चाहता है बदली की धमकी है सरपंच की घुड़की है बच्चे कहते हैं ...
7
8

डायरी एक 'बेचारे' शिक्षक की

शुक्रवार,सितम्बर 2, 2011
मैं अध्यापक हूं और कई सालों की लड़ाई के बाद सरकार ने हमारी समस्याओं को सुना और पूरा किया। लेकिन ढीले प्रशासनिक कामकाज के कारण वे आदेश अभी तक नहीं मिले हैं। मेरा प्रमोशन होना है, लेकिन सरकार के आदेश के बाद भी यह काम नहीं हो रहा है। जनपद सीईओ के पास ...
8
8
9

कहां गए वो टीचर जो माटसाब थे

शुक्रवार,सितम्बर 2, 2011
सर्वे में दिए गए आंकड़ों के मुताबिक देश में ऐसे शिक्षकों की संख्या में यकायक बहुत ज्यादा वृद्धि हुई है, जो मानसिक तनाव के कारण अवसादग्रस्त हो चुके हैं। इन शिक्षकों में सामान्यतः वे शिक्षक सम्मिलित हैं, जो निजी विद्यालयों में वर्षों से सेवाएं दे रहे ...
9
10

शि‍क्षक दि‍वस है पर्व सुनहरा

शुक्रवार,सितम्बर 2, 2011
है आज बहुत हर्षि‍त मन मेरा, शि‍क्षक दि‍वस है पर्व सुनहरा। इस पुलकि‍त पावन अवसर पर, वंदन करता है मन मेरा।। आपकी महि‍मा आपका गौरव आपका चिंतन आपका ज्ञान। आपके ही उपदेश वचन करते हैं सबका कल्‍याण...
10
11

शिक्षक बिना जीवन संभव नहीं

शुक्रवार,सितम्बर 2, 2011
हमारे तमाम शिक्षक जब ज्ञान और कर्म की शिक्षा में स्कूल से लेकर विशेष संस्थानों और विश्वविद्यालयों तक जुड़े हैं, वे अपने कर्म के प्रतीक बड़े से बड़े इंजीनियर, डॉक्टर, एमबीए का निर्माण करते हैं। बच्चों के अंदर भावना और संभावना का विकास कर उन्हें देश को ...
11
12
दिन-दिवस की इसी परंपरा के क्रम में तमाम सरकारी-गैर सरकारी आयोजनों में जगह-जगह शिक्षक पूजे जाएंगे। उन्हें राष्ट्र निर्माता का दर्जा देकर उनकी शान में तमाम कसीदे पढ़ दिए जाएंगे, पर कहीं न कहीं उनका यह सम्मान 'औपचारिकता' वाला होगा। शिक्षक भी जानते हैं ...
12