दिल्ली में पहली बार रैपिड एंटीजन टेस्ट से अधिक किए गए RT-PCR टेस्ट

पुनः संशोधित रविवार, 22 नवंबर 2020 (22:16 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप पर अंकुश लगाने के लिए पिछले सप्ताह की गई बैठक के बाद राजधानी में पहली बार कोरोना संक्रमण की जांच के लिए रैपिड की बजाय आरटी पीसीआर (RT-PCR)
टेस्ट अधिक संख्या में किए गए हैं।
शाह ने गत रविवार को एक बैठक में राजधानी में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की थी। इस बैठक में कोरोना की जांच के लिए रैपिड के बजाय की संख्या बढ़ाकर प्रतिदिन 60,000 करने का लक्ष्य रखा गया था।
गृह मंत्रालय ने आज ट्वीट कर कहा है कि राजधानी में पहली बार रैपिड की बजाय आरटी पीसीआर टेस्ट अधिक संख्या में किए गए हैं। हालांकि मंत्रालय ने टेस्टों की संख्या नहीं बताई है।
इसके अलावा के अस्पताल को 250 वेंटिलेटर की आपूर्ति की गई है। इस बीच राजधानी में घर-घर जाकर सर्वेक्षण का काम भी शुरू हो गया और शुक्रवार को 3 लाख 70 हजार 729 लोगों का सर्वेक्षण किया गया। देश के प्रतिष्ठित एम्स अस्पताल ने 207 जूनियर रेजिडेंट डॉक्टरों की भर्ती की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :