बजट 2008-09 : मुख्‍य बिंदु

ND|
आयकर
*आयकर सीमा बढ़ाई
*आयकर सीमा 1 लाख 50 हजार
*महिलाओं के लिए आयकर सीमा 1 लाख 80 हजार
*बुजुर्गों के लिए आयकर छूट सीमा 2.25 लाख
*पाँच लाख से ऊपर 30 फीसदी टैक्स
*1.5 से 3 लाख तक 10 प्रतिशत
*3 से 5 लाख तक 20 प्रतिशत टैक्स
*सरचार्ज में बदलाव नहीं
*कोई नया सरचार्ज नहीं
*चार और सेवाओं पर सर्विस टैक्स*एसेट मैनेजमेंट पर सर्विस टैक्स
*माता-पिता के इलाज पर 15000 तक के इलाज खर्च में 80-डी के तहत छूट
*खेलों से जुड़ी गतिविधियों पर फ्रिंज बेनीफिट टैक्स (एफबीटी) हटा
*शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन बढ़ाकर 15 प्रतिशत किया गया
*जिंस के कारोबार पर भी टैक्स लगेगा
*बैंक से पैसा निकालने पर टैक्स खत्म*कमोडिटी ट्रेडिंग पर टैक्स

सस्ता
*जीवन रक्षक दवाएँ सस्ती
*सेट टॉप बॉक्स सस्ता
*डेयरी उत्पाद
*कच्चे तेल पर कस्टम ड्‍यूटी घटी
*दोपहिया, तिपहिया वाहन
*बस और छोटी कार
महँगा-
सिगरेट, तंबाकू, पैकेज सॉफ्टवेयर
*राजकोषीय घाटा घटकर 3.1 फीसदी
*सभी फाइनेंशियल लेन-देन के लिए पैन नंबर जरूरी
*राजस्व घाटा घटकर 1.4 फीसदी हुआ
*पीक कस्टम ड्‍यूटी में कोई बदलाव नहीं

*रक्षा बजट 10 फीसदी बढ़ा, 1 लाख 56 हजार करोड़
*300 आईआईटी के विकास के लिए 750 करोड़
*नेशनल नॉलेज नेटवर्क बनेगा*दो नए साइंस सेंटर खुलेंगे
*गाँवों में एक लाख नए ब्राडबैंड कनेक्शन
*बिजली उत्पादन पर जोर, 28 हजार करोड़ का निवेश
*सेना से लोगों की बेरुखी पर चिंता, सैनिक स्कूलों के लिए 44 करोड़
*बुजुर्गों के लिए राष्ट्रीय संस्थान बनेगा
*इंदिरा आवास योजना में हर व्यक्ति के लिए 35 हजार *राशन कार्ड की जगह स्मार्ट कार्ड

*सिंचाई के लिए 20 हजार करोड़
*बागवानी विकास के लिए 1100 करोड़
*खाद पर सब्सिडी जारी रहेगी
*कृषि बीमा योजना के लिए 644 करोड़
*असंगठ‍ित क्षेत्र के मजदूरों के बीमा के लिए 205 करोड़
*चाय उद्‍योग के लिए 40 करोड़ का फंड*किसानों का कर्ज माफ करने की तैयारी
*छोटे और सीमांत किसानों के कर्ज माफ होंगे
*31 मार्च 2007 तक के कर्ज माफ होंगे
*31 हजार तक के कर्ज माफ होंगे
*बैंकों के शेयरों में गिरावट

*विज्ञान के छात्रों के लिए 85 करोड़
*बाल विकास योजना के लिए 6300 करोड़*मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 45 करोड़
*महिलाओं से जुड़ी योजनाओं के लिए 11460 करोड़
*बच्चों के लिए 33434 करोड़
*महिलाओं को स्वरोजगार के लिए एलआईसी से कर्ज
*अर्धसैनिकों बलों में अल्पसंख्यकों को और स्थान मिलेगा
*अल्पसंख्‍यक बहुल जिलों के लिए ज्यादा पैसा
अल्पसंख्‍यक बहुल जिलों में सरकारी बैंकों की 288 शाखाएँ
*माध्यमिक शिक्षा के लिए 4554 करोड़
*वृद्धजन कार्यक्रम के लिए 400 करोड़
*एड्‍स के लिए 992 करोड़ रुपए
*राजीव गाँधी पेयजल योजना के लिए 73 हजार करोड़
*शहरी विकास के लिए 6866 करोड़
*आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाया, कार्यकर्ता 1000 से 1500, सहायक 500 से 750*कृषि के लिए 2.4 लाख करोड़ का ऋण होने की उम्मीद
*कृषि क्षेत्र को दोगुना कर्ज मिलेगा
*स्वास्थ्य के लिए 15 फीसदी राशि बढ़ाई
*बीपीएल कामगारों का बीमा एनआरआईजीए के लिए 16000 करोड़
*पूर्वोत्तर के लिए 500 करोड़ का विशेष फंड

*सर्वशिक्षा अभियान के लिए 13100 करोड़*मध्याह्न भोजन के लिए 8 हजार करोड़
*पोलियो अभियान के लिए 1022 करोड़ का प्रावधान
*‍मिडिल स्कूल तक के लिए मध्याह्न भोजन
*शिक्षा का बजट 20 फीसदी बढ़ाया
*रोजगार गारंटी योजना सफल
*तीन नए आईआईटी खोले जाएँगे
*आंध्र, राजस्थान और बिहार में आईआईटी
*हर राज्य में एक केन्द्रीय विश्वविद्‍यालय
*भारत निर्माण के लिए 31 हजार करोड़
*410 कस्तूरबा गाँधी कन्या स्कूल बनेंगे
*कृषि क्षेत्र को दोगुना कर्ज मिला
*कारखाने क्षेत्र में विकास दर 9.4% रहने की आशा
*अजा/जजा के लिए 20 जिलों में स्कूल
*अनाज आपूर्ति बड़ी चुनौती

*महँगाई पर काबू सबसे बड़ा काम*सेवा क्षेत्र में सबसे ज्यादा विकास
*विकास दर 8.7 फीसदी रहेगी
*मक्का-सोयाबीन के दाम घटे
*वर्ष 2007-08 में गेहूँ चावल महँगे
*खेती की विकास दर 2.6 फीसदी रहने की उम्मीद
*सर्विस क्षेत्र में विकास दर 10.7 फीसदी रहने की आशा




और भी पढ़ें :