0

कुंभ के संचालन के लिए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद

गुरुवार,जनवरी 31, 2019
0
1
कुंभ में महिला नागा साधुओं को लेकर हमेशा से उत्सुकता बनी रही है। लोग यह जानने को बेचैन रहते हैं कि कैसा होता है महिला नागा साधुओं का जीवन। आमतौर पर कुंभ या महाकुंभ में महिला नागा साधु नजर नहीं आती थी। यदि होती भी थीं तो पुरुष नागा साधुओं की छांव ...
1
2
मूलत: 13 अखाड़ें हैं। हाल ही में किन्नर अखाड़े को जूना अखाड़ा में शामिल कर लिया गया है। उक्त तेरह अखाड़ों के अंतर्गत कई उप अखाड़े माने गए हैं। शैव पंथियों के 7, वैष्णव पंथियों के 3 और उदासिन पंथियों के 3 अखाड़े हैं। तेरह अखाड़ों में से जूना अखाड़ा ...
2
3
मूलत: कुम्भ या अर्धकुम्भ में साधु-संतों के कुल तेरह अखाड़ों द्वारा भाग लिया जाता है। इन अखाड़ों की प्राचीन काल से ही स्नान पर्व की परंपरा चली आ रही है। इन अखाड़ों के नाम है:-
3
4
प्रयागराज। दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक समागम कुंभ से पहले रविवार को तीर्थराज प्रयाग में पहली बार किन्नर अखाड़े की देवत्त यात्रा (पेशवाई) निकली।
4
4
5
प्रयागराज। आगामी 15 जनवरी से कुंभ नगरी में लगने जा रहे दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम के लिए अखाड़ों की पेशवाई में शुक्रवार को श्री तपोनिधि आनंद अखाड़ा की पेशवाई निकाली गई।
5