शिवरात्रि का उपहार है ऑस्कर : रेसुल पूकुट्टी

भाषा|
स्लमडॉग मिलेनियर के के लिए पुरस्कार जीतने के बाद खुशी से फूले नहीं समा रहे रेसुल पूकुट्टी ने सम्मान को शिवरात्रि का उपहार और एकदम अविश्वसनीय बताया।

ऑस्कर पुरस्कार जीतने वाले केरलवासी पूकुट्टी ने कहा कि वह भारत के लिए काम करते रहेंगे और उनका हॉलीवुड में बसने का कोई इरादा नहीं है। लॉस एंजिल्स से उन्होंने कहा भारतीय सिनेमा के लिए यह ऐतिहासिक अवसर है। जब यह घोषित हुआ तो मुझे विश्वास नहीं हुआ। मलयालियों के लिए यह शिवरात्रि का उपहार है।

के सुदूर गाँव से आने वाले पूकुट्टी ने इस अवसर के लिए अपने गाँववालों, शिक्षकों, परिवार के सदस्यों, दो छोटे बच्चों और मुंबई के लोगों के प्रति आभार जताया।
पूकुट्टी को ऑस्कर मिलता देख उनके कोल्लम जिले स्थित विलक्कापुरा गाँव में खुशी की लहर दौड़ गई। गाँव के एक व्यक्ति ने बताया हम पहले से ही कुछ समय के लिए टेलीविजन से चिपके हुए थे। बहुत खुशी की बात है कि वही खबर सुनने को मिली जिसका इंतजार सभी कर रहे थे।

(भाषा)




और भी पढ़ें :