जिंदगी बचा सकता है सिटी स्‍कैन

सीटी स्कैन के 4 घंटे पहले से ठोस आहार लेना बंद कर देना चाहिए। पानी या इसी प्रकार के तरल पेय सीमित मात्रा में ले सकते हैं
मरीज को सामान्यतया टेबल पर पीठ के बल बिना हिले-डुले लेटना पड़ता है। टेबल चलायमान होती है। इसके अलावा डॉक्टर या टेक्नीशियन के निर्देशों का पालन करना आवश्यक है। व्यक्ति की तकलीफ एवं परीक्षण की जरूरत के मान से सामान्यतया 10 से 15 मिनट में जाँच पूरी होजाती है। जाँच के बाद मरीज बिना किसी रोक के अपनी पुरानी दिनचर्या अपना सकता है।

कन्ट्रास्ट मीडियम क्या है व कितने सुरक्षित है?

WD|
सीटी स्कैन के पहले की तैयारसीटी स्कैन के 4 घंटे पहले से ठोस आहार लेना बंद कर देना चाहिए। पानी या इसी प्रकार के तरल पेय सीमित मात्रा में ले सकते हैं। जब कन्ट्रास्ट दिया जाना हो, तब यह सावधानी अत्यंत जरूरी है।
सीटी स्कैन के पूर्व गहने व अन्य धातु से बने सामान जैसे स्टील के बकल वाला बेल्ट, कड़े आदि उतार दिए जाते हैं।सीटी स्कैन के दौरा
कई बार साधारण केट स्कैन से जाँच संभव नहीं होती तब कन्ट्रास्ट, जो प्रायः आयोडीनयुक्त होते हैं व एक्स-रे किरणों को अपने पार नहीं जाने देते (रेडियो ओपेक) का उपयोग इंजेक्शन या घोल के रूप में पिलाकर किया जाता है। इनसे शरीर में कभी-कभी गर्माहट व मुँह में धातुई स्वाद आ सकता है। ऐसा होने पर घबराने या डरने की जरूरत नहीं। कभी-कभी एलर्जी होकर मतली, उल्टी व साँस लेने में तकलीफ जैसी शिकायतें हो सकती हैं, जो सामान्य उपचार से ठीक हो जाती है। बहुत ही अपवादस्वरूप ऐसी गंभीर प्रतिक्रिया हो सकती है जिसके लिएअस्पताल में भरती करना आवश्यक हो जाए।

 

सम्बंधित जानकारी


और भी पढ़ें :