0

राजीव गांधी के 5 बड़े फैसले, जिन्होंने बदल दी देश की दिशा

बुधवार,मई 20, 2020
Rajiv Gandhi
0
1
किसी भी देश की सुरक्षा उसके सैनिक तंत्र से ही होती है, लेकिन अगर उसी सेना की कही बातों को नागवार करके कोई सियासी दल आतंकी को मुआवजा देने की प्रथा शुरू कर दे, तो फिर यह सेना के गौरव के साथ ही खिलवाड़ की राजनीति मानी जा सकती है। सेना के वक्तव्य को ...
1
2
डर या भय की पद्धति को ही आतंकवाद कहा जाता है, जो कि हमारे देश ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए एक विकराल समस्या बन चुकी है। आतंकवादी अपने उद्देश्यों की पूर्ति के लिए लोगों की निर्मम हत्या करके देश को अस्थिर करना चाहते हैं। इनकी न तो कोई जाति होती और ...
2
3
आतंकवाद की घटना निश्चित रूप से उस सबसे जुड़ी है, जो समाज में हो रहा है। समाज बिखर रहा है। उसकी पुरानी व्यवस्था, अनुशासन, नैतिकता, धर्म सब कुछ गलत बुनियाद पर खड़ा मालूम होता है। लोगों की अंतरात्मा पर अब उसकी कोई पकड़ नहीं रही।
3
4
भारत को स्वतंत्र हुए करीब सात दशक हो चुके हैं। मगर कुछ समस्याएं जस की तस हैं। उनमें सबसे बड़ी समस्या आतंकवाद है। अब तक आतंकवाद से लड़ने के लिए देश की किसी भी सरकार ने न तो कोई ठोस योजना बनाई न ही दृढ़ इच्छाशक्ति का प्रदर्शन किया। इस समस्या को समझे ...
4
4
5
बियॉण्ड सायकोलॉजी, भारत के जलते प्रश्न और देख कबीरा रोया में ओशो ने आतंकवाद पर विस्तृत चर्चा की है। उन्होंने आतंकवाद के कारण और इसके समाधान का रास्ता भी बताया है, लेकिन हमारे यहाँ के राजनीतिज्ञों को कारण और समाधान की कोई चिंता नहीं। चिंता है वोट ...
5
6
जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में सेना के कैंप पर हुए भीषण आतंकवादी हमले ने पूरे देश को दहला दिया। इस हमले में कम से कम 20 सैनिक शहीद हो गए और कई सैनिक घायल हो गए। आइए जानते हैं भारत में हुए कुछ प्रमुख आतंकवादी हमलों के बारे में....
6
7
दुनियाभर में यदि कहीं पर भी आतंकवाद है तो उसके पीछे इस्ला‍म की सुन्नी विचारधारा के अंतर्गत वहाबी और सलाफी विचारधारा को दोषी माना जाता है। इनका मकसद है जिहाद के द्वारा धरती को इस्लामिक बनाना। आतंकवाद अब किसी एक देश या प्रांत की बात नहीं रह गया है। यह ...
7
8
मानव सभ्यता के लिए सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद है और इसका इतिहास भी काफी पुराना है। आतंकवाद का यह खौफनाक चेहरा सैंकड़ों वर्ष से दुनिया को डरा रहा है। जहां तक पाकिस्तान का सवाल है तो 1990 के दसक से ही इसने दुनियाभर के आतंकवादियों के लिए पाकिस्तान एक ...
8
8
9
नाइडेट जिहाद काउंसिल पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में दर्जन भर से ज़्यादा आतंकी संगठनों का समूह है। इस संगठन का प्रमुख 60 साल का मोहम्मद यूसुफ़ शाह उर्फ सैयद सलाहुद्दीन है, जो इलाके के सबसे बड़े आतंकी संगठन हिज़्बुल मुजाहिदीन का भी सरगना है
9
10
आतंकवाद विरोधी ऑपरेशनों की अगुवाई कर रही संजुक्ता पाराशर, इस तरह की पहली महिला आईपीएस ऑफिसर हैं। असम के सोनितपुर में एसपी संजुक्ता पाराशर का नाम उंटी बोडो आतंकी ऑपरेशन की अगुवाई के लिए सुर्ख‍ियों में रहा।
10
11
पूरे विश्व में अपन जड़ें जमाता आतंकवाद वर्तमान में एक गंभीर वैश्विक समस्या बनकर उभरा है, लेकिन इससे भी आश्चर्य और चिंताजनक बात यह है, कि इसमें महिलाओं की भागीदारी भी लगातार बढ़ती जा रही है। विश्व के अब तक के चर्चित और खतरनाक बम धमाकों और यहां तक कि ...
11
12
दुनिया के कई देश इस समय आतंकवाद से पीड़ित हैं। यह भी सच है कि इनमें ज्यादातर इस्लाम के नाम पर फैलाया जाने वाला आतंकवाद है। मगर इन स्वयंभू इस्लामी लड़ाकों के जेहन में किस कदर सच्चा इस्लाम बसता है और ये इस्लामी शिक्षाओं पर कितना अमल करते हैं, वह इनकी ...
12
13

मानवता के 8 'दौलतमंद' दुश्मन

बुधवार,दिसंबर 23, 2015
इराक और सीरिया में आईएस के उभार के बाद यह ‌सवाल और ज्यादा पूछा जाने लगा है कि आतंकियों के पास दौलत आती कहां से है? क्रूरता और कत्ल-ओ-गारत आतंकी संगठनों की पहचान थी ही, लेकिन अब उन्हें 'दौलतमंद' जैसे विशेषण से भी नवाजा जाने लगा है। दरअसल अपहरण, ...
13
14
आईएसआईएस और बोको हराम ऐसे आतंकवादी संगठन हैं जिन्होंने अपने-अपने इलाकों में 2015 के दौरान जमकर खूनी खेल खेला। अन्य संगठनों ने भी आतंक को बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। लेकिन इन संगठनों के पीछे हैं वे खतरनाक चेहरे, जो पूरी दुनिया में खौफ और आतंकवाद ...
14
15
सीरिया और इराक के आतंकवाद की पदचाप अब यूरोप और अमेरिका में भी सुनाई देने लगी है। पेरिस का आतंकवादी हमला हो या फिर कैलीफोर्निया की गोलीबारी, इन घटनाओं ने दुनिया के दिग्गज देशों को भी हिलाकर रख दिया। 2015 विदा हो रहा है, लेकिन आतंकवाद के लिहाज से 2016 ...
15
16
दुनिया के सबसे खतरनाक और निर्दयी आतंकवादी संगठन ISIS ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है। इस आतंकी संगठन से मुकाबले के लिए अमेरिका और रूस जैसी महाशक्तियों को मोर्चा संभालना पड़ा। आतंकी संगठन हमेशा दुनिया में खौफ पैदा करने के लिए आतंक का सहारा लेते ...
16
17
मानव सभ्यता के लिए सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद है और इसका इतिहास भी काफी पुराना है। आतंकवाद का यह खौफनाक चेहरा हजारों वर्ष से दुनिया में मौजूद है। करीब दो हजार वर्ष पहले आतंकवाद की शुरुआत तब से हुई जब सिकारी उग्रपंथियों ने रोमनों और उनसे सहानुभूति रखने ...
17
18
वीसा लेने की अनिवार्यता नहीं रह जाने से तुर्क नागरिकों का आना कहीं बढ़ जाएगा। तुर्की यदि कभी यूरोपीय संघ का सदस्य बन गया, तो उसके नागरिकों को भी संघ के देशों में कहीं भी रहने-बसने और नौकरी-धंधा करने का अधिकार मिल जाएगा। तब तुर्की ही यूरोपीय संघ में ...
18
19
शरणार्थियों के प्रति जर्मनी की दरियादिली अब अपनी सीमाएं छूने लगी है। इससे पहले कि जर्मनी खुद ही शरणार्थियों की बाढ़ में डूब जाए, उनसे शरण पाने के उपाय करने लगा है।
19