0

महिला समानता दिवस : समानता और स्वतंत्रता के नाम पर रचे हैं प्रपंच समाज ने

गुरुवार,अगस्त 25, 2022
0
1
महिला समानता दिवस : साहित्य व समाज में लैंगिक भेदभाव इस विषय का तात्पर्य है कि लैंगिक आधार पर महिलाओं के साथ आज भी भेदभाव है। परंपरागत रूप से समाज में महिलाओं को कमजोर वर्ग के रूप में देखा जाता रहा है वह घर समाज दोनों जगहों पर शोषण अपमान व भेदभाव ...
1
2
महिला समानता दिवस : महिलाओं ने हर जिम्मेदारी को पूरी तन्मयता से निभाया है, लेकिन आज भी अधिकांश मामलों में उन्हें समानता हासिल नहीं हो पाई है। Women's Equality Day
2
3
महिला समानता दिवस पर हम चिंतन करें उन सामाजिक-पारिवारिक ‘हरकतों’ पर जो मानसिक रूप से क्रूरता को जन्म देती है। कविता ने अपने बेटे को अकेले ही जीवन के संघर्षों का सामना कर लायक बनाया। उसके जीवन में जब बेटे के ब्याह की खुशियां आईं तो ‘शुभ’ की ...
3
4
भारतीय कानून में महिलाओं को 11 अलग-अलग अधिकार मिले हैं। आइए विस्तार से जानते हैं....महिला समानता दिवस : जानिए महिलाओं के 11 अधिकार
4
5
अमेरिका में 26 अगस्‍त 1920 में 19वें संविधान में संशोधन के बाद पहली बार मत करने का अधिकार मिला था। 26 अगस्‍त 1971 में वकील बेल्‍ला अब्‍जुग के प्रयास से महिलाओं को समानता का दर्जा दिलाने की शुरूआत इस दिन से हुई थी। Women's Equality Day : जानिए कब और ...
5
6
झांसी की रानी लक्ष्मीबाई आत्मविश्वासी, कर्तव्य परायण, स्वाभिमानी और धर्मनिष्ठ वीरांगना थीं। आइए जानते हैं भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाली झांसी की रानी के बारे में 10 अनजाने तथ्य
6
7
Azadi ka amrit mahotsav: महान वीरांगान और छत्राणी रानी दुर्गावती का इतिहास में कम ही जिक्र होता है, क्योंकि उन्होंने अकबर की सेना को कई बार धूल चटा दी थी। क्रूर तुर्क अकबर रानी के साम्राज्य को अपने कब्जे में लेकर रानी को अपने हरम की दासी बनाकर रखना ...
7
8
Azadi ka amrit mahotsav: झांसी की रानी : झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का जन्म वाराणसी में 19 नवंबर 1828 में हुआ था। बचपन में उनका नाम मणिकर्णिका था। सब उनको प्यार से 'मनु' कहकर पुकारा करते थे। सिर्फ 4 साल की उम्र में ही उनकी माता की मृत्यु हो गई थी ...
8
8
9
द्रौपदी मुर्मू ने ओडिशा में पार्षद बनने के साथ राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। आओ जानते हैं उनके जीवन के संघर्ष के संबंध में सोशल मीडिया में वायरल हो रही 10 खास बातें।
9
10
रानी दुर्गावती का नाम भारत के इतिहास में जाना-माना नाम है, जिन्होंने अपनी मातृभूमि के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। वे कालिंजर के राजा कीर्तिसिंह चंदेल की इकलौती संतान थीं। जानिए यहां उनके पराक्रम के बारे में...
10
11
विमान बोइंग -777 की एयर इंडिया की सिनियर पायलट कैप्टन जोया अग्रवाल ने एसएफओ विमानन संग्रहालय में अपनी जगह बनाई है। उन्होंने लगभग 16,000 किलोमीटर की रिकॉर्ड-तोड़ दूरी तय की है। वे जोया उत्तरी ध्रुव के ऊपर विमान उड़ाने वाली पहली भारतीय महिला पायलट ...
11
12
गजल, ठुमरी, दादरा हो या नृत्‍य कलाएं। साहित्‍य हो या चित्रकला। ये सब महाराजाओं के सभाकक्षों में उनके मनोरंजन के साधन हुआ करते थे। ऐसा नहीं है कि यह प्रश्रय गलत था, राजाश्रय की वजह से उस दौर में कला और कलाकारों का सम्‍मान भी बहुत होता था। कलाकारों को ...
12
13
स्‍त्री लेखन पर तो मुझे लगता है कि कुछ लोगों का महिलाओं को मुख्‍य धारा में नहीं आने देने का कोई षड़यंत्र था। इसलिए उन्‍होंने महिलाओं से कहा कि वो एक गोला बना रखा है, जाओ, उसमें जाकर खेलो। यही दलितों के साथ लेखन में हुआ। हालांकि वहीं मनु भंडारी की ...
13
14
धनवंती उर्फ गुलाबो सपेरा सांपों के साथ नाचते-नाचते अंतरराष्ट्रीय स्तर की कलाकार बन गईं। उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया। राजस्थान का कालबेलिया नृत्य और गुलाबो एक दूसरे का पर्याय बन गए। इस नृत्य को उन्होंने ‍न सिर्फ जिया बल्कि देश की सीमाओं से ...
14
15
परमवीर चक्र के रंग, रूप और आकार को जिन हाथों ने तैयार किया वह एक स्विस महिला इवा योन्ने लिंडा महिला थीं जो भारत के प्रेम में इस कदर डूबीं कि सावित्री बाई खानोलकर के नाम से पहचानी गई। आइए जानते हैं प्रमुख बिंदुओं के माध्यम से उनकी अनोखी गाथा....
15
16
ग्रामीण इलाकों से आने वाली इन 10 महिलाओं ने नामुमकिन को मुमकिन कर दिखाया
16
17
अपार संघर्ष करके इतना बड़ा मुकाम हासिल करने वाली मध्य प्रदेश की इस होनहार बेटी का नाम है-अंकिता नागर। अंकिता कहती हैं 'मैंने अपने चौथे प्रयास में व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-दो भर्ती परीक्षा में सफलता हासिल की है। अपनी खुशी को बयान करने के लिए मेरे पास ...
17
18
राष्ट्रीय स्तर पर यह चमकदार उपलब्धि दर्ज हुई है हमारी बेटियों के नाम... श्रुति शर्मा, अंकिता अग्रवाल, गामिनी सिंगला आज ये 3 नाम किसी परिचय के मोहताज नहीं... जी हां, भारतीय लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सोमवार को सिविल सेवा परीक्षा 2021 के नतीजों की ...
18
19
इंदौर शहर की जानी-मानी महिला शक्ति स्तंभ-समाज सेविका श्रीमती जनक पलटा मगिलिगन, जितनी वे स्वयं सरल, सहज और सौम्य हैं उनका परिचय देना उतना ही कठिन है।
19