कविता : अश्व घोड़ा..




अश्व की शक्ति,
अपरिमित तेज,
अदम्य वेग।
रण का वीर,
चेतक रणधीर,
राणा का मान।

मन का घोड़ा,
सरपट दौड़ता,
बुद्धि लगाम।



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :