0

शहादत की अनोखी मिसाल है मुहर्रम, जानिए क्या है इसका इतिहास

गुरुवार,सितम्बर 20, 2018
0
1
मुहर्रम की 10 तारीख को यौमे आशुरा कहा जाता है। हजरत हुसैन की शहादत यह पैगाम देती है कि इंंसान को हक व सचाई के रास्ते पर ...
1
2
यौमे आशुरा यानी मोहर्रम माह की 10 (दस) तारीख। इस दिन खुदा की बड़ी-बड़ी नेमतों की निशानियां जाहिर हुईं और कर्बला की
2
3
वैसे तो भगवान विष्णु के अनेक अवतार हुए हैं लेकिन उनमें 10 अवतार ऐसे हैं, जो प्रमुख रूप से स्थान पाते हैं। यहां पाठकों ...
3
4
हिन्दू धर्म में विभिन्न देवताओं के अवतार की मान्यता है। भगवान श्रीहरि विष्‍णु ने धर्म की रक्षा हेतु हर काल में अवतार ...
4
4
5
ऋषि पंचमी से दिगंबर जैन समाज के दशलक्षण महापर्व शुरू हो गए है। इस पर्व के अंतर्गत 19 सितंबर 2018, गुरुवार को सुगंध दशमी ...
5
6
मोर के विषय में माना जाता है कि यह पक्षी किसी भी स्थान को बुरी शक्तियों और प्रतिकूल चीजों के प्रभाव से बचाकर रखता है। ...
6
7
मथुरा। भगवान श्रीकृष्ण की आह्लादिनी शक्ति एवं अलौकिक प्रेम की प्रतीक राधारानी का जन्मोत्सव सोमवार को बरसाना सहित पूरे ...
7
8
एक समय की बात है कि विष्णु भगवान का विवाह लक्ष्‍मीजी के साथ निश्चित हो गया। विवाह की तैयारी होने लगी। सभी देवताओं को ...
8
8
9
गणपति बप्पा से जुड़े इस मोरया नाम के पीछे का राज है एक गणेश भक्त। कहते हैं कि चौदहवीं सदी में पुणे के समीप चिंचवड़ में ...
9
10
शास्त्रों और पुराणों में भगवान विश्वकर्मा को वास्‍तुशास्‍त्र और यंत्रों का देवता माना जाता है। उनकी कृपा पाने के लिए ...
10
11
प्राचीन काल में एक परम तपस्वी हुए, जिनका नाम महर्षि दधीचि था। उनके पिता एक महान ऋषि अथर्वा जी थे और माता का नाम शांति ...
11
12
माता लक्ष्मी ने गणेश जी को यह वरदान दिया कि जो भी मेरी पूजा के साथ तुम्हारी पूजा नहीं करेगा मैं उसके पास नहीं रहूंगी। ...
12
13
राधा रानी के अनुरोध पर कृष्ण ने उन्हें महल में एक देविका के रूप में नियुक्त किया। राधा दिन भर महल में रहती थीं और महल ...
13
14
राधा जी के जन्म की सबसे लोकप्रिय कथा यह है कि वृषभानु जी को एक सुंदर शीतल सरोवर में सुनहरे कमल में एक दिव्य कन्या लेटी ...
14
15
प्रतिवर्ष की तरह दिगंबर जैन समुदाय के पर्युषण पर्व यानी दशलक्षण पर्व शुरू हो गए हैं। आत्मचिंतन का यह पर्व हर साल ही ...
15
16
गोरों के लाख बंदिश लगाने के बावजूद लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने 1893 में पुणे में पहली बार सार्वजनिक रूप से गणेशोत्सव ...
16
17
डॉ. सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन साहब मानवता की मिसाल थे। उन्होंने बोहरा समाज को एक नई दिशा दी।
17
18
मुहर्रम सब्र का, इबादत का महीना है। इसी माह में आदरणीय पैगंबर हजरत मुहम्मद साहब, मुस्तफा सल्लाहों अलैह व आलही वसल्लम ने ...
18
19
ऋषियों के सिद्धांत को हम जितना अपने जीवन में उतारेंगे, ऋषि पूजन उतना ही सार्थक होगा। मन में छुपे हुए परमात्म खजाने को ...
19