0

विदेशी लोग भारत में ही क्यों आध्यात्म की तलाश करने आते हैं?

मंगलवार,नवंबर 21, 2017
0
1
हालांकि इतिहास के अधूरे सच को बताने से विवाद की स्थित उत्पन्न होती है। एक समय था जबकि राजपूतों, मराठाओं और सिखों ने ...
1
2
यश्‍चित करने के महत्व को स्मृति और पुराणों में विस्तार से समझाया गया है। गुरु और शिष्य परंपरा में गुरु अपने शिष्य को ...
2
3
दुनिया के प्रथम ग्रंथ वेद में आज तक कोई परिवर्तन नहीं हुआ। इसका कारण है उसके छंदबद्ध होने की अद्भुत शैली और वेदपाठ करने ...
3
4
लाहौर पुराने पंजाब की राजधानी है जो रावी नदी के दाहिने तट पर बसा हुआ है। प्राचीन ग्रंथों में लहौर शहर का लवपुर नाम से ...
4
4
5
ताबीज को अंग्रेजी में टैलिस्मन या ऐम्युलेट कहते हैं और हिन्दी में इसे कवच कहते हैं। अब सवाल यह उठता है कि यह गंठा या ...
5
6
यदि आप चाहते हैं कि घर में सुख, शांति और अपार धन समृद्धि का आगमन हो तो आप अपने घर की तस्वीरों पर ध्यान दें। पहले तो आप ...
6
7
पद्‍मावती विवाद के बीच एक ऐसी कहानी भी सामने आई जिसके बारे बहुत ही कम लोगों को पता होगा। राजस्थान में ही एक ऐसा योद्धा ...
7
8
यदि आपके जीवन में तनाव, कलह और चिंता है तो आप निम्नलिखित पांच तरह के फूलों के पैधे घर-आंगन में लगा लें या प्रतिदिन इनके ...
8
8
9
हमारे देश में सेहत को लेकर कम ही लोग सजग रहते हैं। सभी दवा खाने के लिए तत्पर रहते हैं लेकिन कोई भी योगासन करने या ...
9
10
प्रत्येक व्यक्ति जीवन में अपार धन कमाना चाहता है लेकिन लाख प्रयास के बाद भी वह सफल नहीं हो पाता है तो यह जानना जरूरी है ...
10
11
शिवलिंग और शालिग्राम की तरह शंख भी कई प्रकार के होते हैं सभी तरह के शंखों का महत्व और कार्य अलग-अलग होता है। समुद्र ...
11
12
व्यास पोथी नामक स्थान बद्रीनाथ से 3 क‌िलोमीटर की दूरी पर उत्तराखंड के माणा गांव में स्थित है। यहां महाभारत के रचनाकार ...
12
13
भगवान कृष्ण को राजनीति और कूटनीति में दक्ष माना गया है। उनकी नीती छलपूर्ण नहीं थी। जब युद्ध में कौरवों ने अभिमन्यु को ...
13
14
सैकड़ों वर्षों तक हिन्दू राजाओं को एक ओर जहां विदेशी आक्रांताओं से लड़ना पड़ा, वहीं उन्हें अपने पड़ोसी राजाओं से मिल ...
14
15
पद्मावती के जौहर की कहानी तो इस समय सभी की जुबां पर हैं। परंतु चित्तौड़ के गौरवशाली इतिहास में ऐसे 2 और भी जौहर हुए हैं ...
15
16
यह तो सभी जानते हैं कि महाभारत के युद्ध में सबसे शक्तिशाली योद्धा कोई थे तो वह कर्ण और अश्वत्थामा थे। लेकिन कवज और ...
16
17
क्या आप जानते हैं कि जब पण्डितगण आपसे किसी कार्य हेतु संकल्प करवाते हैं तब संकल्प के उच्चारण में 'जम्बूद्वीपे भरतखण्डे' ...
17
18
भैरव का अर्थ होता है भय का हरण कर जगत का भरण करने वाला। ऐसा भी कहा जाता है कि भैरव शब्द के तीन अक्षरों में ब्रह्मा, ...
18
19
महाभारत के योद्धा किसके पुत्र या अवतार थे? महाबली बलराम शेषनाग के अंश थे। आठ वसुओं में से एक 'द्यु' नामक वसु ने ही ...
19