0

लोकतंत्र के हित में नहीं है टिकट के लिए पार्टी बदलना

मंगलवार,नवंबर 13, 2018
0
1
लोकप्रिय नेता और संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार जी का सोमवार सुबह आकस्मिक निधन हो गया है। सिर्फ 59 वर्ष की आयु में एक ...
1
2
बचपन आज भी भोला और भावुक ही होता है लेकिन हम उन पर ऐसे-ऐसे तनाव और दबाव का बोझ डाल रहे हैं कि वे कुम्हला रहे हैं। उनकी ...
2
3
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नवमाओवादियों के भयावह हमले ने केवल देश नहीं, दुनिया का ध्यान खींचा है। दुनिया का इसलिए, ...
3
4
भगवान महावीर का संपूर्ण जीवन तप और ध्यान की पराकाष्ठा है इसलिए वह स्वतः प्रेरणादायी है। भगवान के उपदेश जीवनस्पर्शी हैं ...
4
4
5
दीपावली त्योहार को लेकर समाज में कई तरह की धारणाएं, परंपराएं और रीति-रिवाज प्रचलित है। उनमें से कुछ का तो हिन्दू धर्म ...
5
6
दीपावली का पर्व ज्यों-ज्यों पास आ रहा था, शोभा के चेहरे की आभा अपनी कांति खोती जा रही थी जिसे वह चाहकर भी छुपा नहीं ...
6
7
क्यों ना इस बार अपने दीपक आप बन जाएँ। 'देह' के दीप में 'आत्मा' की बाती को 'आशा' की तीली से रोशन करें। ताकि महक उठें ...
7
8
यह बात पूर्व में भी कई विद्वान लोगों ने कही है। हो सकता है कि यह गलत हो या सही भी हो। लेकिन इस पर विचार जरूर किया जाना ...
8
8
9
क्या कानून की जवाबदेही केवल देश के संविधान के ही प्रति है? क्या सभ्यता और नैतिकता के प्रति कानून जवाबदेह नहीं है? क्या ...
9
10
अमृता प्रीतम की रचनाओं को पढ़कर हमेशा सुकून मिलता है। शायद इसलिए कि उन्होंने भी वही लिखा जिसे उन्होंने जिया। अमृता ...
10
11
हाल ही में यूपी पुलिस की एक महिला कॉन्स्टेबल की फोटो वायरल हुई है। इस फोटो के वायरल होने की खास वजह है इसका दृश्य, ...
11
12
मनुष्य की आस्था ही वो शक्ति होती है, जो उसे विषम से विषम परिस्थितियों से लड़कर विजयश्री हासिल करने की शक्ति देती है। जब ...
12
13
हर साल करवा चौथ पर सभी पत्नियां अपने पति की लंबी आयु के लिए कठिन व्रत रखती हैं। लेकिन क्या ये व्रत पति को भी अपनी पत्नी ...
13
14
यदि किसी समस्या का समाधान बातचीत से हो जाता, तो महाभारत का युद्ध नहीं होता और युद्ध ही सभी समस्याओं का एकमात्र विकल्प ...
14
15
हाँ भिया, तुम मानो या नी मानो....बिलकुल सई बात है ....अपना इंदौर अपना इंदौर है, भोपाल में वो बात नहीं ...फिर चाहे पोहे ...
15
16
कहानीकार मनीष वैद्य के कहानी संग्रह 'फुगाटी का जूता' को मप्र हिंदी साहित्य सम्मलेन का वागीश्वरी सम्मान तथा शब्द छाप ...
16
17
अपने खनकदार संगीत से, वादक की पहचान कराती वह साँकले, अब नहीं हैं। दरवाजों से हटी ये सांकलें, अब सम्बंधों के बीच पड़ी ...
17
18
एक बड़ी रेल दुर्घटना में वह भी मारा गया था। पटरियों से उठा कर उसकी लाश को एक चादर में समेट दिया गया। पास ही रखे ...
18
19
बुराइयों पर अच्छाइयों की जीत का पर्व विजयदशमी आज भी उतना ही तर्कसम्मत लगता है, जितना सदियों पूर्व था। या कहें कि आज के ...
19