ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की छुट्टी

बीमारी कितनी ही बड़ी क्यों न हो, सही इलाज और सावधानियां अपनाकर इस पर जीत पाई जा सकती है। लेकिन इन सब से ज्यादा महत्वपूर्ण है और जरूरी है बीमारी से बचाव। एक गंभीर बीमारी है, जिसका आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। इससे बचने के लिए इसके बारे में जानना, जाकरूक रहना और बचाव के प्रयास बेहद आवश्यक है। जानिए कैंसर आखिर है क्या -

कैंसर क्या है - दरअसल कैंसर हमारे शरीर में मौजूद कोशिकाओं का क्षतिग्रस्त होकर अनियंत्रित वृद्ध‍ि करना है। जब शरीर के किसी भाग में कोशिकाएं क्षतिग्रस्त होने लगती हैं तो ये स्वस्थ कोशिकाओं को भी प्रभावित करती हैं और खून के प्रवाह व लसिका के माध्यम से फैलकर शरीर के बाकी हिस्सों को भी प्रभावित करने लगती हैं। ऐसे में इन मृत या क्षतिग्रस्त कोशकाओं में तेजी से इजाफा होता है और स्वस्थ कोशिकाएं घटती जाती हैं। इस तरह से हमारी प्रतिरोधक क्षमता और अधिक कम होती जाती है, और शरीर बीमारियों से लड़ नहीं पाता।

प्राथमिक रूप से कैंसर की उत्पत्त‍ि के बाद अगर इसे न रोका जाए तो यह दूसरे चरण में प्रवेश कर सकता है जो अधिक खतरनाक है। इस प्रक्रिया में
कैंसर कोशिका पहले प्राथमिक कैंसर यानी शरीर के जिस भाग में कैंसर है वहां से अलग होती है। कैंसर ग्रसित भाग से अलग होने के बाद कैंसर कोशिका लिम्‍फ फ्लूड में जाती हैं और लिम्‍फ नोड के छोटे भाग में अवरोध आने तक निरंतर फैलती है। इसके बाद ये कैंसर के द्वितीय चरण में फैलना शुरू कर देती हैं।

कारण : प्रतिरोधक क्षमता और सफद रक्त कोशिकाओं की कमी कैंसर को बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं। कैंसर कोशिकाओं का शरीर के अन्य भागों में फैलना और उन्हें प्रभावित करना, कैंसर के फैलने का प्रमुख कारण है।

बचाव - अगर कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से रोका जा सके और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को फैलने से रोका जा सके, तो कैंसर से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना बेहद आवश्यक है।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :