पुणे की जातीय हिंसा के पीछे बड़ी साजिश

Last Updated: बुधवार, 3 जनवरी 2018 (13:00 IST)
महाराष्ट्र के पुणे में भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह पर हुई जातीय हिंसा के मामले में गुजरात के नवनिर्वाचित निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी और जेएनयू में देशविरोधी नारे मामले से चर्चित हुए छात्रनेता के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। इससे इस बात को पूरी तरह बल मिलता है कि इस पूरे मामले के पीछे गहरी है।

शिकायतकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद ने कार्यक्रम के दौरान भड़काऊ भाषण दिया था, जिसके चलते दो समुदायों में हिंसा हुई। पुणे में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में जिग्नेश, उमर के अलावा बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर, हैदराबाद यूनिवर्सिटी में खुदकुशी करने वाले छात्र रोहित वेमुला की मां राधिका वेमुला भी शामिल हुईं, जिन्होंने बौद्ध धर्म अंगीकार कर रखा है। उल्लेखनीय है कि रोहित वेमुला के मामले में हुई जांच से यह स्पष्ट हो चला है कि वे दलित नहीं थे।

वहां जितने भी लोग इकट्‍ठे हुए में वे दलित नहीं बौद्ध थे। लेकिन कुछ मीडिया समूह द्वारा इस कार्यक्रम को दलितों का कार्यक्रम मान लेने से और इसे दलित सवर्ण का झगड़ा मान लेने से भ्रम की स्थिति उत्पन्न हुई, जिसके चलते समाज में यह संदेश गया कि दलितों ने यह हंगामा खड़ा किया है। दरअसल जहां भी बौद्ध धर्म के कार्यक्रम में विवाद होता है उस कार्यक्रम को दलित कार्यक्रम का नाम दे दिया जाता है। इससे नवबौद्धों का मकसद आसान हो जाता है।

ऐसे ही एक कार्यक्रम में उमर खालिद और जिग्नेश शामिल हुए थे। आरोप है कि जिग्नेश मेवानी ने अपने भाषण के दौरान एक खास वर्ग के लोगों को सड़क पर उतरने के लिए उकसाया था। उमर खालिद ने भी अपने भाषण में जाति विशेष के लोगों को उकसाने वाली बातें कही थी।

इन दोनों लोगों के भाषण के बाद एक खास वर्ग के लोग विरोध करने के इरादे से सड़क पर निकलने लगे, जो बाद में हिंसक रूप ले लिया। आरोप है कि विधायक जिग्नेश 14 अप्रैल को नागपुर में जाकर आरएसएस मुक्त भारत अभियान की शुरुआत करने की भी बात कही थी।

हिंसा की शुरुआत पुणे के कोरेगांव-भीमा से सोमवार को तब शुरू हुई, जब कुछ बौद्ध संगठनों ने एक जनवरी 1818 में यहां पर ब्रिटिश सेना और पेशवा के बीच हुए युद्ध की वर्षगांठ मनाने जुटे। इस युद्ध का कोई परिणाम नहीं निकला था, लेकिन बिटिश सेना ने इस दिन को अपनी 'जीत का दिन' घोषित कर दिया था।

ब्रिटिश सेना की ओर से हिन्दुओं की महार जाति के जवानों ने भी भाग लिया था। वर्तमान में महार जाति के अधिकतर लोग बौद्ध बन चुके हैं। यहीं कारण है कि इन नवबौद्धों ने इस दिन की इस वर्ष सालगिरह मनाने का फैसला किया जहां भड़काऊ भाषण के बाद भड़की हिंसा में नांदेड़ के रहने वाले 28 वर्षीय राहुल फंतागले की मौत हो गई, जबकि 50 से अधिक वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया था। सवाल यह उठता है कि क्या हमें ब्रिटिश सेना की जीत का जश्न मनाना चाहिए? क्या यह देशद्रोही कार्य नहीं है?

हिन्दू समाज के दलितों के नाम पर राजनीति करके समाज में फूट डालने का प्रचलन सदियों से रहा है। वर्तमान में जबसे नरेंद्र मोदी सत्ता में आए हैं तभी से वे लोग ज्यादा सक्रिय हो गए हैं जो हिंदू धर्म और आरएसएस के विरोधी हैं। धर्मनिरपेक्षता का अर्थ चाहे कुछ भी हो लेकिन इस देश में कभी भी धर्मनिरपेक्ष राजनीति नहीं हुई है। पक्ष और विपक्ष दोनों में ही जाति और धर्म को तोड़कर राजनीति करने का चलन रहा है। यह खतरनाक चलन देश के सामाजिक ताने-बाने, शांति और समृद्धि के लिए अच्छा नहीं है।

वर्तमान में नवबौद्धों द्वारा बुद्ध के शांति संदेश के बजाय नफरत को ज्यादा प्रचारित किया जा रहा है। इसमें उनका मकसद है हिन्दू दलितों को बौद्ध बनाना। नवबौद्धों को भड़काने में वामपंथी और कट्टर मुस्लिम संगठनों का हाथ भी निश्‍चित तौर पर देखा जा सकता है। साम्यवाद, समानता और धर्मनिरपेक्षता की बातों को प्रचारित करके उसकी आड़ में जो किया जा रहा है वह किसी से छुपा नहीं है। नीयत पर तब शक ज्यादा होता है जबकि कभी नहीं मनाई गई सालगिरह को अब मनाया गया और वह भी उमर खालिद और जिग्नेश मेवाणी के नेतृत्व में।

भारत के इस दौर में नया तबका पैदा हो गया है जिसको भारतीय धर्म और इतिहास की जरा भी जानकारी नहीं है। जिसमें 20 से 35 साल के युवा, अनपढ़ और गरीब ज्यादा हैं। इतिहास और धर्म की जानकारी से इन अनभिज्ञ लोगों को षड़यंत्रों के संबंध में बताना थोड़ा मुश्किल ही होगा क्योंकि दलितों की आड़ में जाति और धर्म की राजनीति करने वाले नेता बड़ी-बड़ी बातें करते हैं तो इन अनभिज्ञ लोगों को अच्छा लगता है। वे सभी इनके बहकावे में आ जाते हैं। भड़काकर ही धर्मांतरण या राजनीतिक मकसद को हल किया जा सकता है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

युवती ने ठुकराई अरबों की संपत्ति, बनीं जैन साध्‍वी

युवती ने ठुकराई अरबों की संपत्ति, बनीं जैन साध्‍वी
गुजरात में अरबपति परिवार से ताल्लुक रखने वाली और एमबीबीएस में गोल्ड मेडल हासिल कर चुकी ...

समय से काम पर पहुंचने के लिए रात भर चलता रहा

समय से काम पर पहुंचने के लिए रात भर चलता रहा
अलबामा में एक कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर पहुंचने के लिए 30 किलोमीटर पैदल चल कर आया। बॉस को ...

खुशखबर, अब कम भीड़ वाली ट्रेनों में मिलेगी 10% तक छूट

खुशखबर, अब कम भीड़ वाली ट्रेनों में मिलेगी 10% तक छूट
नई दिल्ली। रेलवे ने यात्रियों को एक बड़ी सौगात देते हुए उन ट्रेनों में 10% तक छूट देने का ...

एलआईसी में निकली बंपर वेकेंसियां, जल्द करें आवेदन

एलआईसी में निकली बंपर वेकेंसियां, जल्द करें आवेदन
भारतीय जीवन बीमा निगम ने असिस्टेंट एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर्स के 700 पदों के लिए आवेदन ...

फीचर फोन का गया जमाना, 501 रुपए में मिलेंगे स्मार्ट फोन के ...

फीचर फोन का गया जमाना, 501 रुपए में मिलेंगे स्मार्ट फोन के सारे फीचर्स...
अब महंगे स्मार्ट फोन का जमाना गया। अब मात्र 501 रुपए के फोन में आपको स्मार्ट फोन के सारे ...

लोकसभा में गर्मी, संसद के बाहर पानी ही पानी

लोकसभा में गर्मी, संसद के बाहर पानी ही पानी
नई दिल्ली। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान शुक्रवार को जहां सरकार और विपक्ष के बीच ...

स्कूलों व कोचिंग सेंटरों में लगेगी सुझाव पेटी, एक चिट्ठी पर ...

स्कूलों व कोचिंग सेंटरों में लगेगी सुझाव पेटी, एक चिट्ठी पर हाजिर होगी पुलिस
होशंगाबाद। मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में बालिका सुरक्षा को लेकर पुलिस अनूठा प्रयोग ...

मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर सरकार हुई सख्‍त, वॉट्सएप और फेसबुक ...

मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर सरकार हुई सख्‍त, वॉट्सएप और फेसबुक के साथ करेगी बैठक
सरकार ने देश में फर्जी और भ्रामक संदेश फैलने के कारण आक्रोशित भीड़ द्वारा निर्दोष ...

अविश्वास प्रस्ताव Live update : मोदी सरकार का ऐतिहासिक दिन, ...

अविश्वास प्रस्ताव Live update : मोदी सरकार का ऐतिहासिक दिन, राहुल पर होगी देश की नज़र
नई दिल्ली। विपक्षी पार्टी कांग्रेस को आज अविश्वास प्रस्ताव पर अपने विचार रखने के लिए 38 ...

ट्रक-बस ऑपरेटर्स की अनिश्चिकालीन हड़ताल शुरू, जरूरी सामानों ...

ट्रक-बस ऑपरेटर्स की अनिश्चिकालीन हड़ताल शुरू, जरूरी सामानों की सप्लाई बंद
नई दिल्ली। ट्रक और बस ऑपरेटर्स संगठन (AIMTC) अपनी पुरानी मांगों के साथ 20 जुलार्इ यानी आज ...

Oppo Find X दुनिया का सबसे खास कैमरे वाला स्मार्टफोन भारत ...

Oppo Find X दुनिया का सबसे खास कैमरे वाला स्मार्टफोन भारत में लांच, 35 मिनट में होगा फुल चार्ज
ओप्पो ने अपना Oppo Find X भारत में लांच कर दिया है। इस फोन को सबसे पहले पेरिस में लांच ...

Oppo A3s स्मार्टफोन 'सुपर फुल स्क्रीन' पैनल और आ सकते हैं ...

Oppo A3s स्मार्टफोन 'सुपर फुल स्क्रीन' पैनल और आ सकते हैं ये दमदार फीचर्स
चीनी कंपनी Oppo भारत में एक से बढ़कर एक स्मार्ट फोन लांच कर रही है। अब ओप्पो नया फोन लांच ...

एमटेक ने लांच किए दो फीचर फोन

एमटेक ने लांच किए दो फीचर फोन
नई दिल्ली। किफायती मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनी एम टेक ने दो नए फीचर फोन रागा और वी 10 लॉच ...

नौ कैमरे वाला स्मार्ट फोन, DSLR कैमरा भी हो जाएगा फेल

नौ कैमरे वाला स्मार्ट फोन,  DSLR कैमरा भी हो जाएगा फेल
मोबाइल कंपनियां रोज नई टेक्नोलॉजी ला रही हैं। अब मोबाइल का इस्तेमाल बातें करने के लिए ...

लांच हुआ Spice F311, 6 हजार से कम कीमत में मिलेंगे ये ...

लांच हुआ Spice F311, 6 हजार से कम कीमत में मिलेंगे ये बेहतरीन फीचर्स
स्पाइस की भारत के स्मार्टफोन मार्केट में एक अलग पहचान है। स्पाइस ने अपना नया स्मार्ट फोन ...