पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को लेकर उत्‍तर प्रदेश का सियासी पारा गर्म

पुनः संशोधित शनिवार, 14 जुलाई 2018 (16:19 IST)
लखनऊ। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को लेकर ​उत्तर प्रदेश में सियासी पारा गर्म है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शनिवार को एक्सप्रेसवे का शिलान्यास करना है, हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री और सपा मुखिया ने दावा किया कि समाजवादियों के काम को अपना बताकर भाजपा सरकार जनता के साथ धोखाधड़ी कर रही है।

अखिलेश ने यहां प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवादियों के काम को अपना बताकर सरकार जनता को धोखा दे रही है। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे की मिसाल देते हुए अखिलेश ने कहा, सबसे कम समय में समाजवादी सरकार ने यह एक्सप्रेसवे बनाया। यह देश की सबसे बेहतरीन सड़क मानी गई है। आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे जैसा देश में कहीं एक्सप्रेसवे नहीं बना होगा। जो एक बार इस सड़क पर चलेगा, वह कहेगा कि 'हां हम समाजवादी सरकार और समाजवादी पार्टी को वोट देंगे।'

सपा मुखिया ने कहा कि ​जिस समय एक्सप्रेसवे का उद्घाटन हो रहा था, मुलायम सिंह यादव और आजम खान मौजूद थे। वायुसेना के लड़ाकू विमान उतरे। दूसरी बार जब अभ्यास हुआ, तो उस सरकार (योगी सरकार) के लोगों की हिम्मत नहीं हुई कि उसे देखें। हम चाहते थे कि एक्सप्रेसवे पूर्वांचल तक पहुंचे। समाजवादियों ने पूरा अलाइनमेंट तय किया कि पूर्वांचल खुशहाली के रास्ते पर उतरे। हम उत्तर प्रदेश को एक्सप्रेसवे के जरिए एक कोने से दूसरे कोने तक पहुंचाना चाहते थे।

उन्होंने योगी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा, एक्सप्रेसवे के बारे में जाने क्या-क्या ज्ञान दे रहे हैं। जनता को कितना धोखा देंगे। अखबार में विज्ञापन देखा मैंने। विज्ञापन दे दिया कि 341 किलोमीटर बना रहे हैं। नाम से समाजवादी हटा दिया केवल पूर्वांचल एक्सप्रेसवे कर दिया। हम दावा करते थे कि अगर 120 की रफ्तार से चलोगे और आप गिलास में पानी लेकर बैठोगे तो पानी छलकेगा नहीं।
इनके एक्सप्रेसवे पर अगर आप 20 किलोमीटर की रफ्तार से चलेंगे तो हो सकता है कि गिलास आपके हाथ से छूट जाए। उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार शिलान्यास का शिलान्यास करती है, उद्घाटन का उद्घाटन करती है। (भाषा)


और भी पढ़ें :