जेटली के बजट पर क्या बोले मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री..

इंदौर| पुनः संशोधित गुरुवार, 1 फ़रवरी 2018 (15:19 IST)
इंदौर। को बेहद संतुलित करार देते हुए मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने गुरुवार कोदावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार को लोकलुभावन बजट पेश करने की कोई जल्दी नहीं है, क्योंकि उसे आने वाले वर्षों में भी केंद्रीय सत्ता में बरकरार रहते हुए बजट प्रस्तुत करना है।

मलैया ने कहा कि अभी हम लोगों (मोदी सरकार) को और सात-आठ साल तक बजट पेश करना है। लिहाजा हमें इस वर्ष लोकलुभावन बजट पेश करने की क्या जल्दी है?

उन्होंने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के पेश बजट की तारीफ करते हुए कहा, 'यह बहुत संतुलित बजट है। इसमें गांव, गरीब तथा किसान की ज्यादा चिंता की गई है और ग्रामीण क्षेत्रों के बेहतर अधोसंरचना विकास पर ध्यान केंद्रित किया गया है।' उन्होंने कहा कि बजट में स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे बुनियादी क्षेत्रों पर खास ध्यान देते हुए जनता के व्यापक हितों का संरक्षण किया गया है।
मलैया ने कहा, 'यह बजट पूरे देश के लिए ठीक है। इस बार बजट में राजकोषीय घाटे को कम करने का भी बड़ा ध्यान रखा गया है, ताकि देश की आर्थिक सेहत दुरुस्त रह सके।' इस बीच, कांग्रेस ने मलैया के इस बयान पर कटाक्ष किया है कि मोदी सरकार को आने वाले वर्षों में भी आम बजट पेश करना है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि मलैया को मुंगेरीलाल की तरह यह सपना देखने की पूरी आजादी है कि अगले आम चुनावों में मोदी सरकार सत्ता में लौटेगी।
उन्होंने मोदी सरकार के आज पेश बजट को एकदम दिशाहीन और जनता के लिये निराशाजनक बताया और कहा कि इस सरकार की नीतियों से गरीब, नौजवान और किसान परेशान हैं। सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को अगले आम चुनावों में इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। (भाषा)


और भी पढ़ें :