सेंसेक्स हुआ 37 हजारी, निफ्टी भी रिकॉर्ड स्तर पर

पुनः संशोधित गुरुवार, 26 जुलाई 2018 (17:43 IST)
मुंबई। अर्थव्यवस्था को लेकर निवेशकों में बनी सकारात्मक धारणा के बीच तथा वित्त के साथ पॉवर समूह में हुई लिवाली के दम पर गुरुवार को पहली बार 37 हजार अंक के पार पहुंचने में कामयाब रहा और अंतत: 126.41 अंक की बढ़त में 36,984.64 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 35.30 अंक की तेजी के साथ 11,167.30 अंक के ऐतिहासिक शिखर पर रहा।
बाजार की तेजी में सबसे ज्यादा योगदान बैंकिंग तथा की कंपनियों का रहा। भारतीय स्टेट बैंक के शेयर सबसे ज्यादा साढ़े 5 प्रतिशत चढ़े। पॉवर और यूटिलिटीज में भी डेढ़ फीसदी की बढ़त रही। आईसीआईसीआई बैंक और पॉवरग्रिड के शेयर भी 4 फीसदी से ज्यादा चढ़े। मारुति सुजुकी और एस बैंक ने बाजार में दबाव बनाया और उनके शेयर साढ़े तीन फीसदी से ज्यादा टूटे।
विदेशों के मिश्रित रुख के बीच सेंसेक्स 70.15 अंक की बढ़त में 36,928.38 अंक पर खुला। पहले घंटे में ही यह 37 हजार अंक के आंकड़े के पार जाने में कामयाब रहा। यह पहला मौका है जब सूचकांक ने यह मुकाम हासिल किया है। इसके बाद लगातार इसमें तेजी बनी रही और यह 37 हजार के स्तर से चढ़ता-उतराता रहा।

दोपहर बाद बाजार में मुनाफावसूली शुरू होने से एक समय यह 36,852.53 अंक के दिवस के निचले स्तर तक फिसल कर लाल निशान में चला गया, लेकिन कारोबार की समाप्ति से पहले बाजार ने फिर वापसी की और 37,061.62 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस के मुकाबले 0.34 प्रतिशत यानी 126.41 अंक ऊपर 36,984.64 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 17 कंपनियों के शेयर हरे और शेष 13 के लाल निशान में रहे।

निफ्टी 0.95 अंक की मामूली बढ़त में 11,132.95 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसने भी 11,185.85 अंक के दिवस अब तक के उच्चतम स्तर को छुआ जबकि इसका दिवस का निचला स्तर 11,125.70 अंक रहा। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस के मुकाबले 0.32 प्रतिशत यानी 35.30 अंक की बढ़त में 11,167.30 अंक पर रहा, जो इसका भी रिकॉर्ड बंद स्तर है।

निवेशकों ने मझौली और छोटी कंपनियों में भी विश्वास दिखाया। का मिडकैप 0.76 प्रतिशत चढ़कर 15,763.22 अंक पर और स्मॉलकैप 0.31 प्रतिशत की मजबूती में 16,306.02 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,711 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,354 के शेयर बढ़त में और 1,217 के गिरावट में रहे जबकि शेष 140 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।
विदेशी बाजारों में मिश्रित रुख रहा। एशिया में जापान का निक्की 0.12 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.48 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.71 प्रतिशत की गिरावट में रहा। दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.71 प्रतिशत की बढ़त में बंद हुआ। यूरोप में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.02 प्रतिशत टूटा जबकि जर्मनी का डैक्स 1.26 फीसदी की बढ़त में रहा।

बीएसई के 20 में से 12 समूहों के सूचकांक तेजी में रहे जबकि शेष 8 फिसल गए। सबसे ज्यादा 2.01 प्रतिशत की तेजी पीएसयू समूह में रही। यूटिलिटीज का सूचकांक 1.66 प्रतिशत, पॉवर का 1.44, बैंकिंग का 1.43 और वित्त का 1.29 प्रतिशत चढ़ा। इनके अलावा दूरसंचार, बुनियादी उत्पादों, एफएमसीजी, स्वास्थ्य, इंडस्ट्रियल्स, तेल एवं गैस और रियलिटी समूहों में भी बढ़त रही। आईटी और टेक के सूचकांक क्रमश: 0.68 प्रतिशत और 0.56 प्रतिशत टूटे।
सेंसेक्स की कंपनियों में सबसे ज्यादा 5.62 प्रतिशत की तेजी भारतीय स्टेट बैंक में रही। आईसीआईसीआई बैंक के शेयर 4.08 प्रतिशत, पॉवर ग्रिड के 4.04, ओएनजीसी के 1.98, एक्सिस बैंक के 1.84, एनटीपीसी के 1.66, भारती एयरटेल के 1.63, एचडीएफसी के 1.17, हीरो मोटोकॉर्प के 0.83, हिन्दुस्तान यूनिलिवर के 0.78, एचडीएफसी बैंक के 0.72, अदानी पोर्ट्स के 0.63, टाटा मोटर्स के 0.47, आईटीसी के 0.38, कोल इंडिया के 0.21, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के 0.17 और टाटा स्टील के 0.07 प्रतिशत चढ़े।
मारुति सुजुकी के शेयर सर्वाधिक 3.70 प्रतिशत लुढ़के। यस बैंक के शेयर 3.61 फीसदी, एशियन पेंट्स के 1.08, एलएंडटी के 1.06, टीसीएस के 0.81, विप्रो के 0.76, वेदांता के 0.75, बजाज ऑटो के 0.74, इंफोसिस के 0.61, सनफार्मा के 0.53, इंडसइंड बैंक के 0.49, कोटक महिन्द्रा बैंक के 0.40 और रिलायंस इंडस्ट्रीज के 0.33 प्रतिशत टूटे। (वार्ता)


और भी पढ़ें :