0

भगवान शिव के 35 रहस्य, शर्तिया चौंक जाएंगे आप

मंगलवार,फ़रवरी 13, 2018
0
1
पार्वती के पति शंकर जिन्हें महादेव, भोलेनाथ, आदिनाथ और शिव भी कहा है। माना जाता है कि उनकी हर धर्म में किसी न किसी रूप ...
1
2
शिव यक्ष के रूप को धारण करते हैं और लंबी-लंबी खूबसूरत जिनकी जटाएं हैं, जिनके हाथ में 'पिनाक' धनुष है, जो सत् स्वरूप हैं ...
2
3
सांईं बाबा शिर्डी में आने से पहले कहां थे? शिर्डी में आने के बाद वे शिर्डी छोड़कर चले गए थे और और फिर एक बारात में आने ...
3
4
उपनिषद अनुसार जन्म और मृत्यु के बीच तीन अवस्थाएं होती हैं:- 1.जागृत, 2.स्वप्न और 3.सुषुप्ति। उक्त तीन अवस्थाओं से बाहर ...
4
4
5
आदि वराह से पहले नील वराह और उनके बाद श्वेत वराह हुए जिनके बारे में कम ही लोग जानते होंगे। तीनों के काल को मिलाकर वराह ...
5
6
भगवान विष्णु के अवतार के बारे में तो सभी जानते हैं लेकिन भगवान शिव के अवतारों के बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे और ...
6
7
हिन्दुओं के देवी या देवता 33 है या 33 करोड़ यह बहस का विषय नहीं है। वेद पढ़ों तो सम समझ में आ जाएगा। बहस वे करते हैं ...
7
8
भैरव का अर्थ होता है भय का हरण कर जगत का भरण करने वाला। ऐसा भी कहा जाता है कि भैरव शब्द के तीन अक्षरों में ब्रह्मा, ...
8
8
9
भगवान श्रीकृष्ण और भीष्म पितामह दोनों ही में आश्चर्यजनक रूप से कुछ समानता है जिन्हें जानकर आप हैरान हो जाएंगे। हालांकि ...
9
10
हिन्दुओं के प्रमुख देवता हनुमानजी के बारे में कई रहस्य जो अभी तक छिपे हुए हैं। शास्त्रों अनुसार हनुमानजी इस धरती पर एक ...
10
11
पुराणों में माता लक्ष्मी की उत्पत्ति के बारे में विरोधाभास पाया जाता है। एक कथा के अनुसार माता लक्ष्मी की उत्पत्ति ...
11
12
आपने कुछ माह पहले एक ऐसा फोटो देखा होगा जिसमें हनुमानजी एक पेड़ उखाड़कर सांई बाबा के पीछे दौड़ते हैं और सांई बाबा भागते ...
12
13
मकर पर विराजमान मित्र और वरुण देव दोनों भाई हैं और यह जल जगत के देवता है। उनकी गणना देवों और दैत्यों दोनों में की जाती ...
13
14
सूर्य के पुत्र वैवस्वत मनु, शनि, यम, कालिन्दी, कुंति पुत्र कर्ण आदि थे। विवस्वान से ही सूर्यवंश चला। अदिति के प्रथम ...
14
15
भारतीय धर्म और संस्कृति में भगवान गणेशजी सर्वप्रथम पूजनीय और प्रार्थनीय हैं। उनकी पूजा के बगैर कोई भी मंगल कार्य शुरू ...
15
16
प्रत्येक मन्वंतर में एक इंद्र हुए हैं जिनके नाम इस प्रकार हैं- यज्न, विपस्चित, शीबि, विधु, मनोजव, पुरंदर, दैत्यराज ...
16
17
आधुनिक भारत में संत को कई हुए जैसे महर्षि अरविंद, एनी बेसेंट, महर्षि महेश योगी, दादा लेखराज, मां अमृतामयी, सत्य सांई ...
17
18
1850 से 1960 के बीच भारत में सैंकड़ों महान आत्माओं का जन्म हुआ। राजनीति, धर्म, विज्ञान और सामाजिक क्षेत्र के अलावा अन्य ...
18
19
यूं तो भगवान शंकर के कई रहस्य है, लेकिन हम यहां मात्र पांच रहस्यों के बारे में बताने जा रहे हैं।
19