सुंदरता के पैमाने अब केवल लड़कियों तक सीमित नहीं, हम लड़के क्या कम हैं...

Author नम्रता जायसवाल| Last Updated: बुधवार, 8 अगस्त 2018 (12:11 IST)



सुंदरता के पैमाने काफी बदल गए हैं। पहले जहां सजने-संवरने और अपनी सुंदरता को निखारने के काम को केवल महिलाओं से जोड़कर देखा जाता था, वहीं अब कोई भी ब्यूटी उत्पाद केवल महिलाओं के लिए नहीं है। अब सुंदरता को निखारने का जितना हक महिलाओं का है, उतना ही पुरुषों का भी माना जाता है। पहले यह जमाना था कि यदि लड़के व पुरुष अपने लुक्स पर थोड़ा ध्यान क्या दे लें या कभी कोई फेस पैक या क्रीम क्या लगा लें, तो उन्हें ताना दे दिया जाता था कि ये क्या लड़कियों वाले काम करने लगे हो आजकल? ऐसे में लड़कों को अपने लुक्स पर ध्यान देने में शर्मिंदगी महसूस होती थी।
फिर वे पुरुष जो अपनी स्किन व लुक्स पर थोड़ा ध्यान देना चाहते थे, वे ऐसा अकेले में किया करते थे जिससे कि किसी को पता नहीं चले कि उन्हें भी लड़कियों की तरह अपने लुक्स की परवाह है और वे भी अच्छे दिखना चाहते हैं। लेकिन अब जमाना बहुत बदल गया है। अब तो सुंदरता की प्रतियोगिता भी केवल महिलाओं के लिए ही सीमित नहीं है बल्कि अब तो ये प्रतियोगिताएं पुरुषों के लिए भी बराबरी से आयोजित की जाती हैं। 'मिस्टर इंडिया' से लेकर 'मिस्टर यूनिवर्स' तक में अब पुरुष भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।
यहां तक कि जो लड़के अच्छी कद-काठी व शारीरिक बनावट के होते हैं, उनके परिवार, दोस्त व रिश्तेदार भी उन्हें ऐसी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। इन प्रतियोगिताओं में जीतने के लिए जो भी आवश्यक तैयारियों की जरूरत होती है, जैसे कि जिम जाना, बॉडी बनाना, स्किन पर ध्यान देना आदि के लिए उन्हें खुला माहौल मिलता है। अब लड़कों को अपने लुक्स पर ध्यान देने की बात को छुपाने की जरूरत नहीं पड़ती बल्कि यदि वे इस प्रकार की किसी प्रतियोगिता जीत जाते हैं, तब उनसे जुड़े लोग यहां तक कि उनका शहर, राज्य व देश भी उनके जीतने की खुशी मनाता है और गौरवान्वित महसूस करता है।
आइए आपको बताते हैं कि आज के समय में ऐसे लड़के, जो किसी सौंदर्य प्रतियोगिता की तैयारी नहीं भी कर रहे हैं, तब भी वे क्या-क्या चीजें उनकी आम जिंदगी में करते हैं-

1. आज के सभी लड़के मॉइश्चराइजर, नरीशिंग क्रीम, ऑफ्टर शेव क्रीम, लोशन, लिप बॉम, सनस्क्रीन, हेयर क्रीम व हेयर जैल की जानकारी रखते हैं और इनका इस्तेमाल करते हैं।

2. लड़के भी अपने शरीर से अनचाहे बाल हटाने के लिए वैक्सिंग करवा रहे हैं। इसमें हाथ, पैर, अंडरआर्म और चेस्ट वैक्सिंग भी शामिल हैं।
3. कई तरह के क्लीनअप और फेशियल लड़के अपनी स्किन को ध्यान में रखते हुए करवा रहे हैं।

4. लड़के हाथ और पैरों को साफ रखने के लिए मैनिक्योर और पैडीक्योर कुछ महीनों के अंतराल में करवा रहे हैं।

5. अब लड़के हेड मसाज, बॉडी मसाज से लेकर बॉडी पॉलिशिंग तक की चीजें भी करवा रहे हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

कविता : श्रावण माह में शिव वंदना

कविता : श्रावण माह में शिव वंदना
शिव है अंत:शक्ति, शिव सबका संयोग। शिव को जो जपता रहे, सहे न कभी वियोग। शिव सद्गुण विकसित ...

कपल्स के लिए अब बच्चे नहीं रहे प्राथमिकता, कुछ है जो इससे ...

कपल्स के लिए अब बच्चे नहीं रहे प्राथमिकता, कुछ है जो इससे भी जरूरी है....
बदलते वक्त के साथ अब महिलाओं की प्रेग्‍नेंसी को लेकर सोच भी काफी बदल गई है। आज की महिलाएं ...

ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की ...

ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की छुट्टी
बीमारी कितनी ही बड़ी क्यों न हो, सही इलाज और सावधानियां अपनाकर इस पर जीत पाई जा सकती है। ...

कविता : नहीं चाहिए चांद

कविता : नहीं चाहिए चांद
मुझे नहीं चाहिए चांद/और न ही तमन्ना है कि सूरज कैद हो मेरी मुट्ठी में

तीन तलाक : शांति अब शोर में तब्दील हो चुकी है

तीन तलाक : शांति अब शोर में तब्दील हो चुकी है
जिस तरह से संसार में दो ही चीजें दृश्य हैं, प्रकाश और अंधकार। उसी तरह श्रव्य भी दो ही ...

घर की कौनसी दिशा बदल सकती है आपकी दशा, जानिए वास्तु के ...

घर की कौनसी दिशा बदल सकती है आपकी दशा, जानिए वास्तु के अनुसार
चारों दिशाओं से सुख-संपत्ति और सम्मान पाना है तो जानें वास्तु के अनुसार कैसी हो भवन की ...

समस्त पापों से मुक्ति देता है शिव महिम्न स्तोत्र, श्रावण ...

समस्त पापों से मुक्ति देता है शिव महिम्न स्तोत्र, श्रावण में अवश्य पढ़ें... (हिन्दी अर्थसहित)
श्रावण मास के विशेष संयोग पर भगवान शिव को पुष्पदंत द्वारा रचित शिव महिम्न स्तोत्र से ...

नागपंचमी की 2 रोचक और प्रचलित कथाएं

नागपंचमी की 2 रोचक और प्रचलित कथाएं
किसी राज्य में एक किसान परिवार रहता था। किसान के दो पुत्र व एक पुत्री थी। एक दिन हल जोतते ...

नागपंचमी पर पढ़ें पौराणिक और पवित्र कथा,जब सर्प ने भाई बन ...

नागपंचमी पर पढ़ें पौराणिक और पवित्र कथा,जब सर्प ने भाई बन कर की बहन की रक्षा
सर्प ने प्रकट होकर कहा- यदि मेरी धर्म बहन के आचरण पर संदेह प्रकट करेगा तो मैं उसे खा ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें पूजा का मुहूर्त और विधि
श्रावण मास की शुक्‍ल पक्ष की पंचमी को पूरे उत्‍तर भारत में नागपंचमी का पर्व मनाया जाता ...