इस वर्ष के व्रत-त्योहार (2017)

नवंबर माह के त्योहार
दिऩांक प्रमुख त्योहार अन्य त्योहार हिंदी माह पक्ष तिथि
1 नवंबर प्रदोष व्रत, पंचक
चार्तुमास समाप्त, मप्र-छग स्थापना दि. कार्तिक
शुक्ल
द्वादशी (12)
2 नवंबर पंचक (4.50 रात्रि अं. तक)

कार्तिक
शुक्ल
त्रयोदशी (13)
3 नवंबर व्रत की पूर्णिमा वैकुंठ चतुर्दशी कार्तिक
शुक्ल
चतुर्दशी (14)
4 नवंबर गुरुनानक ज., कार्तिक स्नान स.
कार्तिक स्ना.दा. पूर्णिमा, महात्मा सुदर्शन ज. कार्तिक
शुक्ल
पूर्णिमा (15)
5 नवंबर कार्तिक व्रत पारणा भेडाघाट मेला जबलपुर अगहन
कृष्ण
एकम (1)
6 नवंबर

अगहन
कृष्ण
द्वितीया-तृतीया (2-3)
7 नवंबर गणेश चतुर्थी (चंद्रो.रा.8.25)
अगहन
कृष्ण
चतुर्थी (4)
8 नवंबर

अगहन
कृष्ण
पंचमी (5)
9 नवंबर पुष्य (रात्रि 7.6 से)

अगहन
कृष्ण षष्ठी (6)
10 नवंबर पुष्य (शाम 5.38 तक)

अगहन
कृष्ण
सप्तमी (7)
11 नवंबर कालभैरव अष्टमी

अगहन
कृष्ण
अष्टमी (8)
12 नवंबर
अगहन
कृष्ण
नवमी (9)
13 नवंबर
महावीर स्वामी दीक्षा कल्याणक अगहन
कृष्ण
दशमी (10)
14 नवंबर उत्पन्ना एकादशी
बाल दिवस, नेहरू ज., विश्व मधुमेह दि. अगहन कृष्ण
एकादशी (11)
15 नवंबर प्रदोष व्रत
बिरसा मुंडा ज. अगहन
कृष्ण
द्वादशी (12)
16 नवंबर शिव चतुर्दशी
सूर्य ‍वृश्चिक संक्रांति अगहन कृष्ण
त्रयोदशी (13)
17 नवंबर सौर मास अग.प्रा.
संत तुकड़ो ज., लाजपत राय दि. अगहन
कृष्ण
चतुर्दशी (14)
18 नवंबर स्ना.दा.श्रा. अमावस्या

अगहन कृष्ण
अमावस्या (15)
19 नवंबर रानी लक्ष्मीबाई ज.
इंदिरा गांधी ज. अगहन
शुक्ल
एकम (1)
20 नवंबर चंद्रदर्शन

अगहन
शुक्ल द्वितीया (2)
21 नवंबर
रवि उलाव्वल मास अगहन
शुक्ल
तृतीया (3)
22 नवंबर विनायकी चौथ व्रत
झलकारी ज. दुर्गादास राठौर पु. अगहन
शुक्ल
चतुर्थी (4)
23 नवंबर श्रीराम विवाहो‍त्सव, श्री विवाह पंचमी
नाग दिवाली, मनसा देवी शयन अगहन
शुक्ल
पंचमी (5)
24 नवंबर चम्पा षष्ठी, स्कंध षष्ठी
तेगबहादुर शहीदी दि., नरसी मेहता ज. अगहन
शुक्ल षष्ठी (6)
25 नवंबर नंदा सप्तमी
पंचक (रात्रि 10.05 से), संत तारण तरण ज. अगहन
शुक्ल
सप्तमी (7)
26 नवंबर पंचक

अगहन
शुक्ल
अष्टमी (8)
27 नवंबर पंचक
महानंदा नवमी अगहन
शुक्ल
नवमी (9)
28 नवंबर पंचक

अगहन
शुक्ल
दशमी (10)
29 नवंबर मोक्षदा एकादशी, मौन ग्यारस पंचक, गीता जयंती अगहन
शुक्ल
एकादशी (11)
30 नवंबर पंचक (दिन 12.43 तक)

अगहन
शुक्ल
द्वादशी (12)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

यदि आप निरोग रहना चाहते हैं, तो पढ़ें यह चमत्कारिक मंत्र

यदि आप निरोग रहना चाहते हैं, तो पढ़ें यह चमत्कारिक मंत्र
भागदौड़ भरी जिंदगी में आजकल सभी परेशान है, कोई पैसे को लेकर तो कोई सेहत को लेकर। यदि आप ...

ज्योतिष सच या झूठ, जानिए रहस्य

ज्योतिष सच या झूठ, जानिए रहस्य
गीता में लिखा गया है कि ये संसार उल्टा पेड़ है। इसकी जड़ें ऊपर और शाखाएं नीचे हैं। यदि कुछ ...

श्रावण मास में शिव अभिषेक से होती हैं कई बीमारियां दूर, ...

श्रावण मास में शिव अभिषेक से होती हैं कई बीमारियां दूर, जानिए ग्रह अनुसार क्या चढ़ाएं शिव को
श्रावण के शुभ समय में ग्रहों की शुभ-अशुभ स्थिति के अनुसार शिवलिंग का पूजन करना चाहिए। ...

क्या प्रारब्ध की धारणा से व्यक्ति अकर्मण्य बनता है?

क्या प्रारब्ध की धारणा से व्यक्ति अकर्मण्य बनता है?
ऐसा अक्सर कहा जाता है कि आज हम जो भी फल भोग रहे हैं वह हमारे पूर्वजन्म के कर्म के कारण है ...

किस तिथि को क्या खाने से होगा क्या नुकसान, जानिए

किस तिथि को क्या खाने से होगा क्या नुकसान, जानिए
खाना बनाना भी एक कला है। हालांकि जो मिले, वही खा लें, इसी में भलाई है। खाने के प्रति ...

20 जुलाई 2018 : आपका जन्मदिन

20 जुलाई 2018 : आपका जन्मदिन
दिनांक 20 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस ...

20 जुलाई 2018 के शुभ मुहूर्त

20 जुलाई 2018 के शुभ मुहूर्त
शुभ विक्रम संवत- 2075, अयन- दक्षिणायन, मास- आषाढ़, पक्ष- शुक्ल, हिजरी सन्- 1439, मु. मास- ...

क्या सचमुच ही पंचक में मरने वाला पांच अन्य को भी साथ ले ...

क्या सचमुच ही पंचक में मरने वाला पांच अन्य को भी साथ ले जाता है?
गरुड़ पुराण सहित कई धार्मिक ग्रंथों में उल्लेख है कि यदि पंचक में किसी की मृत्यु हो जाए तो ...

वैकुंठ धाम कहां और कैसा है, जानिए रहस्य

वैकुंठ धाम कहां और कैसा है, जानिए रहस्य
कहते हैं कि मरने के बाद पुण्य कर्म करने वाले लोग स्वर्ग या वैकुंठ जाते हैं। हालांकि वेद ...

भोलेनाथ को क्यों प्रिय है भस्म, जानेंगे तो श्रद्धा से भावुक ...

भोलेनाथ को क्यों प्रिय है भस्म, जानेंगे तो श्रद्धा से भावुक हो जाएंगे, साथ में पढ़ें महाकाल की भस्मार्ती का राज
आखिर भगवान भोलेनाथ को विचित्र सामग्री ही प्रिय क्यों है। बहुत कम लोग जानते हैं कि उनके ...

राशिफल