पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार वृद्धि पर सरकार ने बताया यह कारण

Last Updated: शनिवार, 1 सितम्बर 2018 (16:13 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 16-16 पैसे बढ़कर क्रमश: 78.68 रुपए, 81.60 रुपए और 86.09 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। यह दिल्ली और कोलकाता में इसका अब तक का उच्चतम स्तर है।
मुंबई में भी यह 86.24 रुपए प्रति लीटर के उच्चतम स्तर के काफी करीब है। पेट्रोल-की बढ़ती कीमतों पर सरकार का बयान आया है। चेन्नई में पेट्रोल के दाम 17 पैसे चढ़कर 81.75 रुपए प्रति डॉलर पर पहुंच गए। यह यहां भी इसका रिकॉर्ड स्तर है।

डीजल के दाम चारों महानगरों में लगातार नए रिकॉर्ड बना रहे हैं। दिल्ली और कोलकाता में यह 21-21 पैसे बढ़कर 70.42 रुपए और 73.27 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। मुंबई में डीजल 22 पैसे और चेन्नई में 23 पैसे महंगा होकर क्रमश: 74.76 रुपए और 74.41 रुपए प्रति लीटर बिका।
क्या कहती है सरकार : बढ़ती कीमतों को लेकर पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और डॉलर के मुकाबले रुपए के लगातार गिरने के कारण ऐसे हालात पैदा हुए हैं। भारत सरकार इसको लेकर चिंतित है।
इससे पहले धर्मेंद्र प्रधान ने अंतरराष्ट्रीय बाजारों में तेल की बढ़ती कीमतों के लिए अमेरिका की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया था। प्रधान ने कहा कि अमेरिका की पृथक नीतियों के कारण दुनियाभर में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले मुद्राओं की कीमतें गिर रही हैं। भारत की मुद्रा भी प्रभावित हुई है और तेल की कीमत असामान्य रूप से बढ़ी है। प्रधान ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था को प्रभावित कर रहे तेल की बढ़ती कीमतें और रुपए का अवमूल्यन दोनों के पीछे बाहरी कारण हैं। (एजेंसियां)


और भी पढ़ें :