ऑनलाइन बाजार को दिया नया आयाम, यह है ई-कॉमर्स बिजनेस के बेताज बादशाह...

अमेजन के संस्थापक एक ऐसी कंपनी बनाना चाहते थे जो दुनियाभर की ई-कॉमर्स की तकदीर बदल दें। उन्होंने न सिर्फ अपने इस सपने को हकीकत में बदला बल्कि ऐसा काम कर दिखाया जिसने अमेजन को एक ट्रिलियन डॉलर मार्केट कैप वाली दूसरी अमेरिकी कंपनी बना डाला। मंगलवार को इसके एक शेयर की कीमत 2050 डॉलर थी। अमेजन ने वैश्विक तौर पर खासकर अमेरिका और भारत में अपना बड़ा बाजार बनाया है।

रेस्त्रां में किया काम, बने कई स्टार्ट अप का हिस्सा : जेफ बेजॉस ने ऑनलाइन बिजनेस में आने से पहले कई काम किए। यहां तक उन्होंने एक रेस्त्रां में भी काम किया, गर्लफ्रेंड के साथ समर कैंप चलाया और कई अन्य स्टार्ट अप का हिस्सा बने।

बेजोस ने 1994 में, न्यूयॉर्क से लेकर सिएटल तक सम्पूर्ण देश की यात्रा के बाद एक गैरेज से उन्होंने अमेजन की स्थापना की। इसकी व्यापार योजना वे भ्रमण के दौरान रास्ते में लिखते थे। अपनी मेहनत और काम के प्रति समर्पण के बल पर उन्होंने अमेजन को जमीन से आसमान तक पहुंचा दिया।

इस तरह उठाया तेजी से उभरते इंटरनेट बाजार का फायदा : 1994 में उन्हें पता चला कि इंटरनेट मार्केट 2300 फीसदी की गति से आगे बढ़ रहा है। इसका फायदा उठाने के लिए उन्होंने 20 ऐसे उत्पादों की सूची बनाई, जिन्हें ऑनलाइन बेचा जा सके। अंत में उन्होंने ऑनलाइन किताब बेचने का फैसला किया। इस तरह उन्होंने अमेजन कंपनी की शुरुआत की और दुनिया को बताया कि कंप्यूटर की मदद से भी सामान-खरीदा बेचा जा सकता है।

जेफ एक जिद ने कई लोगों की दुनिया बदल दी : जेफ ने ऑनलाइन किताबें बेचना शुरू की और ऑफिस में घंटी लगवाई। जब भी कोई किताब बिकती घंटती बजाई जाती। देखते ही देखते बिक्री बढ़ गई। एक ही हफ्ते में घंटी बजाना बंद करनी पड़ी। उन्हें खुद भी इस सफलता की उम्मीद नहीं थी पर उनकी इस जिद ने हजारों लोगों की दुनिया बदल दी और इंटरनेट की दुनिया में ई-कॉमर्स कंपनियों ने कदम रखा। उन्होंने खुद भी कई कंपनियों में निवेश किया। कई प्रोडक्ट लाए और प्रोडक्ट डिलिवरी में भी नए कीर्तिमान स्थापित किए।
12 जनवरी 1964 में जन्में जेफ बेजॉस दुनिया के सबसे अमीर आदमी है। वह ब्लू ओरिजिन और वॉशिंगटन पोस्ट के भी मालिक हैं।


और भी पढ़ें :