रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और किंग्स इलेवन पंजाब की नजरें प्लेऑफ पर

इंदौर| Last Updated: रविवार, 13 मई 2018 (18:20 IST)
इंदौर। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की नजरें सोमवार को यहां के खिलाफ 'करो या मरो' के इंडियन प्रीमियर लीग मैच में जीत हासिल करके अगले दौर में पहुंचने की कुछ संभावना बरकरार रखने पर लगी होंगी। आरसीबी को दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 5 विकेट की जीत से कुछ राहत मिली जबकि शुरुआती चरण में शानदार प्रदर्शन करने वाली किंग्स इलेवन पंजाब लगातार हार के बाद जूझती नजर आ रही है।
राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइटराइडर्स से मिली हार के बावजूद किंग्स इलेवन पंजाब 12 अंक लेकर तीसरे स्थान पर है जबकि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु अब भी तालिका में नीचे से दूसरे स्थान पर जूझ रही है। में हालांकि टूर्नामेंट के अंत में अजीबोगरीब उलटफेर हुए हैं और विराट कोहली की अगुवाई में बेंगलुरु की टीम पंजाब पर दबाव बनाना चाहेगी।

कोहली और एबी डिविलियर्स के शानदार अर्द्धशतकों से बेंगलुरु ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ आसानी से लक्ष्य हासिल कर लिया, वहीं केकेआर के सुनील नारायण और दिनेश कार्तिक ने पंजाब के गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाते हुए 245 रनों का विशाल स्केार खड़ा किया।

दोनों टीमें अपनी बल्लेबाजी पर काफी निर्भर हैं जिसमें बेंगलुरु की जिम्मेदारी कोहली और डिविलियर्स के कंधों पर है, तो वहीं प्रीति जिंटा की टीम लोकेश राहुल (537 रन) और क्रिस गेल (332 रन) पर निर्भर है। कप्तान कोहली 11 मैचों में 466 रनों से टीम के शीर्ष स्कोरर हैं, तो वहीं डिविलियर्स उनसे 108 रन पीछे (358 रन) हैं, हालांकि उन्होंने 2 मैच कम खेले हैं। मंदीप सिंह (11 मैचों में 245 रन) सूची में तीसरे स्थान पर हैं।
पंजाब के लिए राहुल का प्रदर्शन लाजवाब रहा है जिन्होंने 162 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से 5 अर्द्धशतक लगाए हैं और उनका औसत 60 के करीब है। राहुल उम्मीद करेंगे कि गेल दूसरे छोर पर उनका पूरा साथ निभाएं जिनका बल्ला शुरू में धमाल करने के बाद थोड़ा शांत हैं। गेल के तेजी से बनाए गए 50 रन पूरे खेल का रुख बदल सकते हैं। हालांकि दोनों टीमों को कई मौकों पर अपनी गेंदबाजी ने निराश किया है।

पंजाब के लिए सबसे बेहतरीन गेंदबाज एंड्रयू टाई रहे हैं जिन्होंने 20 विकेट (8 के इकॉनॉमी रेट से) झटके हैं जबकि युवा रहस्यमयी स्पिनर मुजीबुर रहमान ने 14 विकेट प्राप्त किए हैं जिसमें उनका इकॉनॉमी रेट 6.99 प्रति ओवर रहा है। उनके लिए समस्या कप्तान आर. अश्विन का विकेट हासिल नहीं कर पाना है जिन्होंने 11 मैचों में 8.13 रन प्रति ओवर से केवल 6 विकेट झटके हैं।
वहीं फ्रेंचाइजी ने जिस एकमात्र खिलाड़ी अक्षर पटेल को रिटेन किया था, उसका प्रदर्शन काफी
खराब रहा है। उसे 5 मैचों में मौका मिला जिसमें से उसने केवल 3 विकेट प्राप्त किए। टाई के सहायक तेज गेंदबाज बरिंदर सरन (4 विकेट) और मोहित शर्मा (6 विकेट) का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है।

बेंगलुरु के लिए कोहली का लगभग प्रत्येक मैच में गेंदबाजी संयोजन में बदलाव करने का असर उनके प्रदर्शन पर पड़ा है। केवल युजवेंद्र चहल और उमेश यादव ने ही सभी मैच खेले हैं। चहल ने 11 मैचों में 10 जबकि यादव ने इतने मैचों में 14 विकेट प्राप्त किए हैं। मोहम्मद सिराज ने 8 मैच खेलकर 8 विकेट प्राप्त किए।

चहल को छोड़कर स्पिनर फ्लॉप रहे हैं। वॉशिंगटन सुंदर और पवन नेगी के प्रदर्शन से कोहली एंड कंपनी की उम्मीदों पर बुरा असर पड़ा। क्रिस वोक्स को 5 मैचों में 10.36 के इकॉनॉमी रेट से 8 विकेट मिले जिससे कप्तान को टिम साउदी (5 मैच में 5 विकेट) को इस्तेमाल करना पड़ा। मैच भारतीय समयानुसार रात 8 बजे शुरू होगा। (भाषा)


और भी पढ़ें :