आदमखोर कवि, गर्लफ्रेंड को मारकर खा गया दिमाग

पुनः संशोधित शनिवार, 11 नवंबर 2017 (17:09 IST)

मॉस्को। इक्कीस वर्षीय दिमित्री ल्यूशिन एक कवि है लेकिन उस पर आरोप है कि उसने अपनी 45 वर्षीय गर्लफ्रेंड ओल्गा बी की हत्या कर दी और उसका दिमाग निकालकर खा गया। उसके मित्रों का कहना था कि गिरफ्तारी से पहले दिमित्री को एक असाधारण और उत्कृष्ट कवि के तौर पर जाना जाता था।

मेल ऑनलाइन के लिए मॉस्को से विल स्टुअर्ट लिखते हैं कि उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है
और उसने अपना अपराध भी स्वीकार कर लिया है। उसका कहना है कि उसने शराब की बोतल के कम से कम 25 वारकर महिला की हत्या कर दी। साथ ही, प्रत्य‍क्षदर्शियों का कहना है कि उसने एक गंड़ासे की मदद से ओल्गा का भेजा खोल दिया और उसके एक हिस्से को तलकर खा गया। इतना ही नहीं, उसने महिला का खून एक ग्लास में भरकर भी पिया।

कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया है। 21 साल के आरोपी को पुलिस ने पिछले गुरुवार को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने मार्च में अपनी 45 साल की गर्लफ्रेंड, ओल्गा बी की हत्या कर दी थी। पुलिस पूछताछ में आरोपी कवि ने बताया कि इंटरनेशनल वीमेंस डे-8 मार्च- को हमने अपने अपार्टमेंट में डेट प्लान की थी।

कुछ देर तक सब सामान्य था लेकिन फिर किसी बात पर हम दोनों में झगड़ा हो गया। मेरी गर्लफ्रेंड मुझसे काफी लड़ने लगी तब मुझे भी गुस्सा आ गया। मैंने उसके सिर पर वाइन की बोतल दे मारी। फिर टेबल पर रखे गंड़ासेसे उसका गला काट दिया।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने बताया कि उसने बाद में गंड़ासे से गर्लफ्रेंड का सिर फोड़ दिया और फिर दिमाग निकाल लिया। गर्लफ्रेंड के दिमाग के उसने टुकड़े-टुकड़े कर दिए और उन्हें खाने के साथ खाता था। दिमित्री रूसी सेना में भी रह चुका है। पुलिस के मुताबिक, वाल्दाई के दिमित्री ने लाश को ठिकाने लगा दिया था लेकिन बाद में ऐसे कई मामले सामने पर उससे पूछताछ की गई।

इस कारण से कुछ लड़कियों और महिलाओं की गुमशुदगी की जांच के दौरान पुलिस आरोपी तक पहुंची। इन महिलाओं में आरोपी की गर्लफ्रेंड भी शामिल थी। पुलिस के मुताबिक, आरोपी को उसकी कविता के लिए 2016 में रूस की राइटर यूनियन ने सम्मानित भी किया था। पुलिस ने आरोपी का मेडिकल भी कराया है, जिसमें उसे पूरी तरह फिट बताया गया है।

उल्लेखनीय है कि रूस में पहले भी मानव मांसभक्षण (कैनेबिलिज्म) के मामले सामने आ चुके हैं। इस घटना से पहले पुलिस ने क्रासनोदर सिटी से 35 साल के दिमित्री बाकेशेव और उसकी 42 साल की पत्नी नतालिया को गिरफ्तार किया था। दोनों आदमखोर थे।

पुलिस का कहना है कि दोनों ने 1999 से अब तक 30 लोगों की हत्याएं की और उनका मांस पकाकर खा गए। यही नहीं, इन लोगों ने इंसानी मीट का अचार तक बना रखा था। पुलिस ने इनके घर से आठ लोगों के शरीर के हिस्से बरामद किए थे।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :