लघुकथा : विश्वास का रिश्ता

अतुल को बहुत तेज गुस्सा आ रहा था। उसे आश्चर्य हो रहा था कि प्रवीणा उसे कितना गलत समझ रही है।
प्रवीणा और अतुल एक ही ऑफिस में काम करते हैं। दोनों के विचार आपस में बहुत मिलते हैं इसलिए दोनों में अच्छी दोस्ती हो गई। एक-दूसरे से अपने मन की बात बगैर किसी संकोच के कह देते थे। अतुल अपनी शायरी-कविता सभी उसे सुनाता था।

अतुल बहुत बिंदास था। वह मजाक में बहुत घनिष्ठ होकर बतियाने लगता था जिससे प्रवीणा को डर लगता था कि कहीं अतुल के मन में कहीं कोई दूसरे भाव तो नहीं हैं किंतु वह कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाती थी। उसको डर लगता था कि कहीं उसका पति उनके संबंधों को गलत न समझ ले। एक-दो बार उसने अतुल को परोक्ष रूप से बताने की कोशिश की लेकिन अतुल के मन में कुछ नहीं था इसलिए उसने ध्यान नहीं दिया।
'अतुल तुमसे एक बात कहनी थी', प्रवीणा ने डरते हुए कहा।

'बोलो प्रिया', अतुल ने उसे चिढ़ाते हुए कहा।

'मैं आपसे भाई का रिश्ता बनाना चाहती हूं', प्रवीणा ने झिझकते हुए कहा।

अतुल अवाक्-सा प्रवीणा को देख रहा था।

'लेकिन मेरे मन में तुम्हारे लिए बहन की कोई भावना नहीं है', अतुल ने गुस्से में कहा।

'देखो अतुल, मैं नहीं चाहती कि लोग हमारे रिश्ते को गलत समझें, विशेषकर हमारे परिवार वाले', प्रवीणा ने बहुत धीमे स्वर में कहा।
'अच्छा तो तुम मुझे इसलिए भाई बनाना चाहती हो कि लोग कुछ न कहें'। अतुल को बहुत तेज गुस्सा आ रहा था और वह मन ही मन सोच रहा था कि औरतें कितनी संकीर्ण दिमाग की होती हैं।

उसने प्रवीणा को समझाया, 'देखो प्रवीणा, रिश्ते डर में नहीं बनते। तुम मुझसे भाई का रिश्ता इसलिए बनाना चाहती हो कि कोई हमारे रिश्ते को गलत न समझे।'

'इसलिए भी कि हमारे मन में और कोई दूसरा भाव न पनपे', प्रवीणा ने बात को स्पष्ट करते हुए कहा।
'दूसरे भाव से मतलब प्रेम का भाव न', अतुल को हंसी आ गई।

'हां', प्रवीणा उसके चेहरे को देख रही थी।

'तुम औरतों में यही कमी होती है कि हर बात को शक की निगाह से देखती हो और उसी हिसाब से अपना आचरण करने लगती हो', अतुल ने लगभग डांटते हुए कहा।

'तुम्हें क्यों लगा कि मैं तुम्हें प्यार करने लगूंगा सिर्फ इसलिए कि मैं तुमसे अभिन्न होकर बातें करता हूं इसलिए', अतुल को गुस्सा आ रहा था।
'मैं तुम्हें समझदार लड़की मानता था किंतु हो तुम भी आखिर औरत ही न', अतुल ने खीजते हुए कहा।

'नहीं अतुल, मैं आपकी बहुत इज्जत करती हूं। मैं नहीं चाहती आपको कोई गलतफहमी हो इसलिए', प्रवीणा ने सफाई देते हुए कहा।

'इसलिए तुम मुझे भाई बनाना चाहती हो', अतुल ने कटाक्ष किया।

'हां', प्रवीणा ने भोलेपन से उत्तर दिया।

'प्रवीणा, रिश्ते जब बनते हैं, जब दोनों ओर से मन में वो भावनाएं हों चाहे प्रेम का रिश्ता हो या कोई और रिश्ता। रिश्ते बाजार में बिकने वाली ड्रेस नहीं हैं कि जब चाहो पहन लो और उतार दो। बहुत सोच-समझना चाहिए', अतुल प्रवीणा को समझा रहा था।
'और अगर तुम्हारे भाई बना लेने पर भी मेरे मन में तुम्हारे लिए कोई दूसरा भाव रहा तो ये रिश्ते के नाम पर कितनी बड़ी गाली होगी', अतुल बेबाक तरीके से प्रवीणा को समझा रहा था।

प्रवीणा को लगा कि अतुल सच कह रहा है। रिश्ते की बुनियाद विश्वास है न कि रिश्तों के नाम कई उदाहरण हैं कि बहन-भाई का धर्म का रिश्ता बना बाद में शादी कर ली या रिश्ते की आड़ में गलत काम कर लिया गया। इससे रिश्तों की बदनामी के सिवा कुछ नहीं है।

'मुझे माफ कर दो अतुल, मैंने तुमको गलत समझा।'

'आज से हमारे बीच सिर्फ एक ही रिश्ता है दोस्ती और विश्वास का', प्रवीणा को अपनी गलती का अहसास हो गया था।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

पीरियड में यह 5 काम भूल कर भी न करें वरना....

पीरियड में यह 5 काम भूल कर भी न करें वरना....
आपका पहला पीरियड हो या अनगिनत बार आ चुके हों, इन्हें झेलना इतना आसान नहीं। मुश्किलभरे उन ...

6 बहुत जरूरी सवाल जो हर महिला को अपनी गायनोकोलॉजिस्ट से ...

6 बहुत जरूरी सवाल जो हर महिला को अपनी गायनोकोलॉजिस्ट से पूछना चाहिए
क्या आप उन लोगों में से हैं जिन्होंने कभी एक लेडी डॉक्टर से मिलने की जरूरत नहीं समझी? आप ...

3 स्वर, 3 नाड़ियां... जीवन और सेह‍त दोनों को बनाते हैं शुभ, ...

3 स्वर, 3 नाड़ियां... जीवन और सेह‍त दोनों को बनाते हैं शुभ, जानिए क्या है स्वरोदय विज्ञान
स्वर विज्ञान को जानने वाला कभी भी विपरीत परिस्थितियों में नहीं फंसता और फंस भी जाए तो ...

घर में रोशनी कम रहती है तो यह हो सकता है खतरनाक, पढ़ें रोशनी ...

घर में रोशनी कम रहती है तो यह हो सकता है खतरनाक, पढ़ें रोशनी बढ़ाने के 5 टिप्स
घर या कमरे में कम रोशनी न केवल घर की सजावट को कम करती है बल्कि रहने वाले सदस्यों की सेहत ...

बदल डालें घर का इंटीरियर और नए घर में रहने जैसा अहसास ...

बदल डालें घर का इंटीरियर और नए घर में रहने जैसा अहसास पाएं...
घर में सारा सामान सुव्यवस्थित जमा हुआ है फिर भी कुछ कमी लगती है? किसी नएपन के अहसास की ...

गंगा के उद्गम में हरे पेड़ों को बचाने की मुहिम

गंगा के उद्गम में हरे पेड़ों को बचाने की मुहिम
'ऊंचाई पर पेड़ रहेंगे, नदी ग्लेश्यर टिके रहेंगे', 'चाहे जो मजबूरी होगी, सड़क सुक्की बैड से ...

मुसलमान : वक़्त बदला, हालात नहीं

मुसलमान : वक़्त बदला, हालात नहीं
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मुलाक़ात कर रहे हैं। अगर वे ...

1 अगस्त को शुक्र करेंगे नीच राशि कन्या में प्रवेश, जानें 12 ...

1 अगस्त को शुक्र करेंगे नीच राशि कन्या में प्रवेश, जानें 12 राशियों पर क्या होगा प्रभाव
1 अगस्त 2018 दिन के 12 बजकर 17 मिनिट से शुक्र राशि परिवर्तन कर कन्या राशि में प्रवेश ...

श्रावण में बनाएं चटपटे साबूदाना पनीरी रोल, पढ़ें सरल विधि

श्रावण में बनाएं चटपटे साबूदाना पनीरी रोल, पढ़ें सरल विधि
साबूदाने को एक कप पानी में 1 घंटे के लिए भिगो दें। हरा धनिया, हरी मिर्च बारीक काट लें।

ग़ज़ब के होते हैं करी पत्ते... फायदे जानकर आप हर सब्जी में ...

ग़ज़ब के होते हैं करी पत्ते... फायदे जानकर आप हर सब्जी में इन्हें डालेंगे
करी पत्ते का पौधा आपके या आपके पड़ोसियों के घर में आपको जरूर लगा मिलेगा। यह जितनी आसानी से ...