चीन से आने वाली 7 चीजें, बना रही हैं कैंसर का शिकार


अब तक आप चाइना में बनने और वहां से निर्यात होने वाले प्लास्ट‍िक चावल, अंडे या अन्य घातक खाद्य पदार्थों के बारे में जान चुके होंगे। लेकिन चाइना में उत्पादित इन 7 जहरीली चीजों के बारे में आप बेशक नहीं जानते होंगे। आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी है, क्योंकि आपके घर में भी मौजूद हो सकती हैं, चाइना की यह 7  घातक चीजें...
 
1 तिलापिया मछली - सामान्यत: ति‍लापिया मछली का पालन चाइना फार्मों  में बड़े पैमाने पर होता है। हम आपको बता दें कि मछली के लगभग सभी प्रकारों में यह मछली सबसे ज्यादा निकृष्ट, जहरीली और स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक होती है। इसका उत्पादन काफी छोटे- छोटे पूल्स में किया जाता है, जिसमें अनुपयोगी पानी भरा होता है। आपको जानकर हैरानी होगी, यह इतनी खतरनाक होती है कि चाइना के सी-फूड किसान, खुद अपने बच्चों को अपने द्वारा उत्पादित सी फूड का सेवन नहीं करने देते। अमेरिका में लगभग 80 प्रतिशत तिलापिया फिश चाइना से ही भेजी जाती है।
 
2 कोड मछली - यह भी चाइना में पाली जाने वाली मछली का एक ऐसा प्रकार है जो अपने ही अनुपयोगी और प्रदूषित पदार्थ में जीवन जीती है।इसका भी लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा अमेरिका में निर्यात होता है।
3 जूस - आप यकीन करें या न करें, चाइना से निर्यात होने वाला लगभग 50 प्रतिशत एप्पल जूस, कीटनाशक और अन्य हानिकारक तत्वों से भरा होता है, जो मानव शरीर के लिए बेहद घातक है। इसके अलावा इसमें शर्करा की मात्रा भी सामान्य से बेहद अधिक होती है। गौर करने वाली बात यह भी है कि इसके पैक पर इन हानिकारक पदार्थों की उपस्थिति और मात्रा दर्शाई नहीं जाती।
 
4 परिष्कृत - जिसे हम प्रोसेस्ड मशरूम कहते हैं, अगर चाइना से आयातित हैं, तो एक बारे ठीक से जरूर जांच लें। अगर आप गूगल पर सर्च करेंगे तो पाएंगे, कि इनमें ऑर्गेनिक नाम का सिर्फ टैग होता है, और भारी मात्रा में चावल और अंडे की तरह मशरूम भी नकली ही होते हैं। तो अबकी बार, संभल कर खरीदें मशरूम।
5 - चावल और अंडे के बाद सबसे ज्यादा खतप होने वाली खतरनाक चीज है चाइनीज लहसुन। हानिकारक केमिकल्स से भरा यह लहसुन खाने के कुछ देर बाद खराब सा स्वाद छोड़ जाता है। इसमें कोन्कोक्शन नामक केमिकल पाया जाता है जो बेहद खतरनाक है।
 
6 काली मिर्च - चाइना से निर्यात होने वाली काली मिर्च एक तरह की काली मिट्टी से बनी होती है, जिसे काली मिर्च की तरह आकार और प्रकार देकर तैयार किया जाता है। 
 
यह भी पढ़ें : पेट की सूजन तो नहीं? जानें इन 5 कैंसर के बारे में
 
7 - आपको जानकर आश्चर्य होगा कि चाइना से बड़ी मात्रा में नकली हरे मटर का उत्पादन और निर्यात किया जाता है, जो स्नोपीस, सोयाबीन आदि से बनाई जाती है, जिस पर सोडियम मेटाबाईसल्फेट नामक केमिकल युक्त हरे रंग में रंगा जाता है, ताकि रंग के साथ-साथ मटर भी लंबे समय तक सुरक्षित रहे। यह रंग कैंसर पैदा करने में काफी हद तक प्रभावी है। इस तरह के मटर उबालने पर भी नर्म नहीं होते।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :