न्यूटन नहीं है किसी फिल्म की कॉपी

डायरेक्टर की शानदार फिल्म 'न्यूटन' हाल ही प्रदर्शित हुई हैं और दर्शकों का दिल जीत रही है। द्वारा अभिनीत इस फिल्म को भारत की ओर से ऑस्कर में भेजने का निर्णय भी ले लिया गया है, लेकिन रिलीज़ के दो दिन बाद ही यह खबर फैल गई कि 'न्यूटन' एक ईरानियन फिल्म की कॉपी है।

इसे लेकर इंडस्ट्री में काफी बवाल भी मचा। 2001 में आई 'सीक्रेट बैलेट' का निर्देशन बाबाक पियानी ने किया था और इस फिल्म को भी काफी तारीफें मिली थी। के डायरेक्टर अमित मसुरकर ने जवाब दिया कि जब वो पहले दिन 'न्यूटन' की शूटिंग कर रहे थे तो उन्हें किसी ने बताया था कि इसी तरह की कहानी पर एक फिल्म ईरान में भी बनाई जा चुकी है। उन्होंने 'सीक्रेट बैलेट' को टुकड़ों में देखा और उन्हें लगा कि उनकी फिल्म की कहानी काफी अलग है। सीक्रेट बैलेट में एक रोमांटिक ट्रैक भी है जबकि न्यूटन में ऐसा नहीं दिखाया गया है।

फिल्म की नकल करने की खबर इसलिए फैली थी क्योंकि दोनों ही फिल्में चुनावी प्रक्रिया के आधार पर है और दोनों ही डार्क कॉमेडी फिल्म है। लेकिन असल में दोनों फिल्मों की विषय वस्तु और कहानी काफी अलग है। दरअसल 'सीक्रेट बैलेट' की कहानी 'न्यूटन' की तरह ही मिलती जुलती है जहां एक ईमानदार महिला एक दूर दराज के छोटे से आइलैंड में चुनाव कराना चाहती है। न्यूटन में राजकुमार राव का साथ असिस्टेंट कमांडेंट आत्मा सिंह देता है और 'सीक्रेट बैलेट' में महिला का साथ एक सैनिक देता है। लेकिन इसके आगे की कहानी और ट्रीटमेंट काफी अलग है।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :