मैं सूर्यदेव के श्रेष्ठ रूप का स्मरण करता हूं, पढ़ें विलक्षण प्राचीन प्रार्थना


भगवान सूर्य देव की पवित्र आराधना पौराणिक काल से होती आई है। हम लाए हैं सूर्यदेव की अति प्राचीन प्रार्थना खास आपके लिए....
प्रातः स्मरामि खलु तत्सवितुर्वरेण्यं
रूपं हि मंडलमृचोऽथ तनुर्यजूंषि।

सामानि यस्य किरणाः प्रभवादिहेतुं
ब्रह्माहरात्मकमलक्ष्यमचिन्त्यरूपम्‌॥

प्रातर्नमामि तरणिं तनुवाङ्मनोभि-
र्ब्रह्मेन्द्रपूर्वकसुरैर्नुतमर्चितं च।
वृष्टिप्रमोचनविनिग्रहहेतुभूतं
त्रैलोक्यपालनपरं त्रिगुणात्मकं च॥

प्रातर्भजामि सवितारमन्तशक्तिं
तं सर्वलोककलनात्मककालमूर्तिं
गोकण्ठबंधनविमचोनमादिदेवम्‌॥

श्लोकत्रयमिदं भानोः प्रातः प्रातः पठेत्‌ तु यः।
स सर्वव्याधिनिर्मुक्तः परं सुखमवाप्नुयात्‌॥
हिन्दी में भावार्थ : 'मैं सूर्य भगवान के उस श्रेष्ठ रूप का प्रातः समय स्मरण करता हूं, जिसका मंडल ऋग्वेद है, तनु यजुर्वेद है और किरणें सामवेद हैं तथा जो ब्रह्मा का दिन है, जगत की उत्पत्ति, रक्षा और नाश का कारण है तथा अलक्ष्य और अचिंत्यस्वरूप है।

मैं प्रातः समय शरीर, वाणी और मन के द्वारा ब्रह्मा, इन्द्र आदि देवताओं से स्तुत और पूजित, वृष्टि के कारण एवं अवृष्टि के हेतु, तीनों लोकों के पालन में तत्पर और सत्व आदि त्रिगुण रूप धारण करने वाले तरणि (सूर्य भगवान) को नमस्कार करता हूं।
जो पापों के समूह तथा शत्रुजनित भय एवं रोगों का नाश करनेवाले हैं, सबसे उत्कृष्ट हैं, संपूर्ण लोकों के समय की गणना के निमित्त भूतकाल स्वरूप हैं और गौओं के कण्ठबंधन छुड़ाने वाले हैं, उन अनंत शक्ति आदिदेव सविता (सूर्य भगवान) का मैं प्रातःकाल भजन-कीर्तन करता हूं।' जो मनुष्य प्रतिदिन प्रातःकाल सूर्य के स्मरणरूप इन तीनों श्लोकों का पाठ करता है, वह सब रोगों से मुक्त होकर परम सुख प्राप्त कर सकता है।


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

हर भगवान के वाहन के पीछे छुपा है कोई राज

हर भगवान के वाहन के पीछे छुपा है कोई राज
सारे देवी-देवता पशुओं पर ही सवार हैं। क्यों हर भगवान के साथ कोई पशु जुड़ा हुआ है? आपको ...

क्यों जलाते हैं पूजा में दीपक... जानिए राज

क्यों जलाते हैं पूजा में दीपक... जानिए राज
बिना दीपक पूजा की कल्पना संभव ही नहीं है। लेकिन दीपक क्यों जलाते हैं उसका शास्त्र सम्मत ...

अगर आपको आ रहे हैं यह सपने तो समझो बजने वाली है शहनाई

अगर आपको आ रहे हैं यह सपने तो समझो बजने वाली है शहनाई
शादी के सपने हर युवा मन देखता है। लेकिन कुछ सपने गहरी नींद में आकर संकेत देते हैं शादी ...

पुरुषोत्तम मास की दान सामग्री, जा‍नें तिथिनुसार क्या दान ...

पुरुषोत्तम मास की दान सामग्री, जा‍नें तिथिनुसार क्या दान करें...
पुरुषोत्तम मास में श्रीहरि विष्णु पूजन के साथ तिथि अनुसार दान करने से मानव को कई गुणा ...

वर्ष 2018 में आनेवाले रवि-पुष्य व गुरु-पुष्य के शुभ संयोग ...

वर्ष 2018 में आनेवाले रवि-पुष्य व गुरु-पुष्य के शुभ संयोग जानिए
पुष्य नक्षत्र जब गुरुवार एवं रविवार के दिन होता है तब इसे गुरु-पुष्य एवं रवि-पुष्य संयोग ...

क्या सच में ग्रहों की चाल प्रभावित करती है हमारे जीवन को, ...

क्या सच में ग्रहों की चाल प्रभावित करती है हमारे जीवन को, जानिए कैसे
सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड 360 अंशों में विभाजित है। इसमें 12 राशियों में से प्रत्येक राशि के 30 ...

25 मई से बनेगा अनिष्टकारी अंगारक योग, बढ़ेंगी प्राकृतिक ...

25 मई से बनेगा अनिष्टकारी अंगारक योग, बढ़ेंगी प्राकृतिक आपदाएं और दुर्घटनाएं...
25 मई से एक योग बनने वाला है जिसमें न सिर्फ कुछ राशियों के जातकों का अमंगल होगा अपितु कई ...

22 मई 2018 का राशिफल और उपाय...

22 मई 2018 का राशिफल और उपाय...
पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। बेरोजगारी दूर होगी। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। ...

22 मई 2018 : आपका जन्मदिन

22 मई 2018 : आपका जन्मदिन
दिनांक 22 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 4 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति जिद्दी, कुशाग्र ...

22 मई 2018 के शुभ मुहूर्त

22 मई 2018 के शुभ मुहूर्त
शुभ विक्रम संवत- 2075, अयन- उत्तरायन, मास- ज्येष्ठ, पक्ष- शुक्ल, हिजरी सन्- 1439, मु. ...